Live News »

चूरू के सरदारशहर में दर्दनाक हादसा, झोपड़े में आग लगने से 4 बच्चे जिंदा जले

चूरू के सरदारशहर में दर्दनाक हादसा, झोपड़े में आग लगने से 4 बच्चे जिंदा जले

सरदारशहर(चूरू): जिले के सरदारशहर में एक दर्दनाक हादसा होने से सनसनी फैल गई. सरदारशहर की ढाणी कालेरा के एक झोपड़े में आग लगने से 4 बच्चे जिंदा जल गए. ये चारों बच्चे एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं. 

50 हजार का इनामी नकल माफिया गिरफ्तार, कई परीक्षाओं में आरोपी अपने साथियों के साथ कर चुका धांधली 

हादसे के बाद गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है. हालांकि आग किन कारणों से लगी है इसका अभी तक खुलासा नहीं हुआ है. इधर, हादसे की खबर मिलते ही मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ इक्कठा हो गई. 

VIDEO: 'कोरोना' वायरस को लेकर राजस्थान हाईकोर्ट का फैसला, 31 मार्च तक HC और सेशन कोर्ट में सिर्फ अर्जेंट केसेज की ही होगी सुनवाई 

और पढ़ें

Most Related Stories

महिला डॉक्टर ने मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की व्हाट्सएप ग्रुप में कही बात, तीन नामजद के खिलाफ मामला दर्ज

महिला डॉक्टर ने मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की व्हाट्सएप ग्रुप में कही बात, तीन नामजद के खिलाफ मामला दर्ज

सरदारशहर(चूरू): डॉक्टर को धरती का भगवान कहा जाता है और कहा भी जाना चाहिए  क्योंकि एक मरते हुए व्यक्ति को डॉक्टर ही बचा सकता है, लेकिन  सरदारशहर की एक महिला डॉक्टर द्वारा व्हाट्सएप ग्रुप में मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की बात सामने आई है और यह स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर अब जमकर वायरल हो रहे हैं. सोशल मीडिया पर वायरल हुई चैट मामले में सरदारशहर पुलिस ने कड़ा एक्शन लिया है. पुलिस ने महिला डॉक्टर भगवती सहित तीन नामजद के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 97 नये केस आए सामने, अलवर में एकबार फिर कोरोना विस्फोट

मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की व्हाट्सएप ग्रुप में बात कही: 
महिला डॉक्टर तारानगर तहसील के बुचावास गांव में राजकीय स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत है जबकि इनके पति सरदारशहर के ताल मैदान स्थित निजी हॉस्पिटल में डॉक्टर है  जानकारी के अनुसार सरदारशहर की एक महिला डॉक्टर ने मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की व्हाट्सएप ग्रुप में बात कही थी BARDIA RISE नाम के वॉट्सऐप ग्रुप की आपत्तिजनक चैट वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर बवाल मच गया. कथित ग्रुप की चैट्स पर हिंदू-मुस्लिम को लेकर भी कई तरह की भड़काऊ बातें हैं इस मामले में राजस्थान मुस्लिम परिषद के जिला अध्यक्ष मकबूल खान ने पुलिस को मामले से अवगत करवाया था, जिसके बाद  सरदारशहर पुलिस ने कड़ा रुख अपनाया है. थाना अधिकारी महेंद्र दत्त शर्मा ने बताया कि व्हाट्सएप ग्रुप में चैट करने वाली महिला डॉ सहित तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है. 

मैसेज में लिखा- मुस्लिम पेशेंट को देखना ही बंद करवा दो:
ये कथित चैट BARDIA RISE नाम के वॉट्सऐप ग्रुप की हैं. इनमें एक में लिखा है. कल से मैं मुस्लिम पेशेंट का एक्स-रे नहीं करूंगा. ये मेरी शपथ है. इसी शख्स ने एक और मैसेज में लिखा- मुस्लिम पेशेंट को देखना ही बंद करवा दो. कथित ग्रुप की चैट्स पर हिंदू-मुस्लिम को लेकर भी कई तरह की भड़काऊ बातें हैं. एक मैसेज में लिखा है कि सरदारशहर में केवल मुस्लिम कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. एक में लिखा है कि अगर हिंदू पॉजिटिव होते हैं, मुस्लिम डॉक्टर होता तो हिंदुओं को कभी नहीं देखते. मैं नहीं देखूंगी मुस्लिम ओपीडी. बोल देना मैडम हैं ही नहीं यहां. 

ढाई लाख के पार पहुंचे देश में कोरोना के केस, पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा नए मामले आए 

मेसेजेस के लिए माफी मांगी:
हालांकि चैट वायरल होने के बाद सरदारशहर के श्रीचंद बराडिया रोग निदान केंद्र के डॉक्टर सुनील चौधरी ने खुद की और स्टाफ की तरफ से फेसबुक पोस्ट के जरिए इन मेसेजेस के लिए माफी मांगी है. उन्होंने कहा कि अस्पताल के स्टाफ का मकसद किसी धार्मिक समुदाय की भावनाओं को आहत करना नहीं था. एक समुदाय का इलाज ना करने का इरादा था. लेकिन फिर भी बुरा लगा इसके लिए मैं और मेरा पूरा हॉस्पिटल स्टाफ आप सबसे क्षमाप्रार्थी हैं. आपको विश्वास दिलाते हैं कि भविष्य में हमारे हॉस्पिटल की तरफ से किसी प्रकार की शिकायत का आपको मौका नहीं मिलेगा. वहीं अब सोशल मीडिया पर भी डॉ और हॉस्पिटल पर कार्रवाई की मांग उठ रही है सोशल मीडिया पर भी मामले ने तूल पकड़ रखा है. 

रेप पीड़िता के पिता ने बेटी द्वारा चार लोगों पर दर्ज करवाए मामले को बताया झूठा और षड्यंत्रकारी

रेप पीड़िता के पिता ने बेटी द्वारा चार लोगों पर दर्ज करवाए मामले को बताया झूठा और षड्यंत्रकारी

सरदारशहर(चूरू): भानीपुरा थाने में दर्ज चार जनों के खिलाफ दुष्कर्म के मामले में जैतसीसर निवासी पड़िता के पिता एवं परिवार के सदस्यों ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपकर मामले को झूठा करार देते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की है. उन्होंने लिखा कि पुत्री की शादी 18 जून 2017 को राजासर चोडिया में की गई थी. जिसका 15 मार्च 2020 को सामाजिक पंचायती से तलाक हो गया. 

सरकार की उम्मीदों पर खरा उतरा शराब की दुकान खोलने का निर्णय, राजस्थान में करीब 1000 करोड़ रुपए की शराब बिकी 

रिश्ते में भाणजा रखता था बुरी नजर: 
इसके बाद पुत्री की शादी मोदूनगर कर दी गई. विवाह के पश्चात उसकी पुत्री अपने ससूराल मोदूनगर रहने लगी. इस दौरान पाण्डुसर निवासी उसके रिश्ते के भाणजा अशोक कुमार उसकी पुत्री पर बुरी नजर रखने लगा. इस पर अशोक को समझाइस की गई कि यह सामाजिक एवं पारिवारिक रूप से निदंनीय कर्म है. लेकिन अशोक कुमार  उसकी पुत्री को बहला फुसलाकर उसके पति के घर से भगाकर ले गया. जबकि पूर्व सरपंच श्यामलाल शर्मा व अन्य के खिलाफ दर्ज किया गया दुष्कर्म का मामला झूठा है. यह सब अशोक की ओर से किया गया है. 

VIDEO: Sodium Hypochlorite छिड़काव में Kota ने Jaipur को छोड़ा पीछे 

राजनीतिक द्वेषता बताया कारण:
इसके साथ एफआईआर में आरोप लगाया गया कि 15 मार्च 2020 को वह उसके परिवार के सदस्य के साथ पुत्री को संगम होटल ले गए थे. यह सरासर गलत है. इस प्रकरण में पूर्व सरपंच श्यामलाल शर्मा को कोई लेना देना नहीं है. उसे बदनाम करने के लिए राजनीतिक द्वेषता से फंसाया जा रहा है. इस मामले की जांच निष्पक्ष उच्च अधिकारी से करवाई जाए. ताकि कोई झूठे मामले में न फंसे. ज्ञापन में पिता दौलाराम, परिवार के मनसाराम, मांगीलाल आदि ने हस्ताक्षर किए. 

14 वर्षीय बालक ने अपने घर में फांसी का फंदा लगाकर की आत्महत्या

14 वर्षीय बालक ने अपने घर में फांसी का फंदा लगाकर की आत्महत्या

सरदारशहर(चूरू): सरदारशहर के गांव रामसीसर में 14 वर्षीय बालक ने अपने घर में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस सूत्रों के अनुसार संदीप ने अपने घर में ही कमरे को बंद कर पंखे से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. 

यूथ कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष चुनाव के लिए चल रहा मतदान, 4 लाख से अधिक यूथ कार्यकर्ता डालेंगे वोट 

संदीप मानसिक परेशान रहने लगा था: 
संदीप के पिता ने कुछ महीनों पहले कीटनाशक पीकर आत्महत्या की थी जिसके कुछ समय बाद संदीप के जीजा ने भी कीटनाशक पीकर ही आत्महत्या की थी दोनों घटनाओं के बाद संदीप मानसिक परेशान रहने लगा था. जिसके बाद संदीप ने अपने घर में ही फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. 

28 मार्च को जयपुर आएंगे संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत, राष्ट्रीय सेवा संगम 2020 कार्यक्रम में रहेंगे मौजूद 

पुलिस ने शुरू की जांच:
सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया जिसके बाद बालक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया. पुलिस ने परिजनों की रिपोर्ट पर मर्द दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है. 


 

प्रेमी युगल ने जहरीला पदार्थ पीकर की जीवन लीला समाप्त

प्रेमी युगल ने जहरीला पदार्थ पीकर की जीवन लीला समाप्त

सरदारशहर(चूरू): कस्बे में प्रेमी युगल ने जहरीला पदार्थ खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली. जानकारी के अनुसार सरदारशहर तहसील के गांव घडसीसर के युवक व गांव की युवती के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था. दोनों शादीशुदा है और दोनों के बच्चे भी है. वहीं दोनों ने गांव के ही खेत में जाकर जहरीला पदार्थ पीकर जीवन लीला समाप्त कर ली.

बाइक रैली के साथ शहीद अजीत सिंह की पार्थिव देह पहुंची उनके पैतृक गांव, क्षेत्र में दौड़ी शोक की लहर 

सूचना मिलते ही मौके पर ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा हो गई:
पास से गुजर रहे युवक ने जब अचेत अवस्था में युवक-युवती को देखा तो युवक के होश उड़ गए. उसके बाद युवक ने तुरंत सरदारशहर पुलिस को इसकी सूचना दी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है. वहीं सूचना मिलते ही मौके पर ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा हो गई. 

भूमि विकास बैंकों में किसानों के ऋण आवेदन की प्रक्रिया को शीघ्र ही किया जायेगा ऑनलाइन

4 साल के बच्चे को जिंदा जमीन में दफनाने के मामले में आया नया मोड़, यह था पूरा मामला

4 साल के बच्चे को जिंदा जमीन में दफनाने के मामले में आया नया मोड़, यह था पूरा मामला

सरदारशहर(चूरू): कस्बे में 9 फरवरी को हुई जिंदा बच्चे को जमीन में दफना देने की वारदात के बाद अब एक नया मोड़ आया है. परिजनों के अनुसार बच्चे ने घटना को बयां करते हुए बताया कि एक अज्ञात व्यक्ति उसे उठाकर पास ही के खेल मैदान की झाड़ियों में ले गया और उसके साथ मारपीट की और चाकू से गले पर वार कर दिया. बच्चा रोया तो आरोपी ने बच्चे के मुंह और आंख में मिट्टी भर दी और बच्चे को जिंदा जमीन में दफना दिया. 

VIDEO: पिता ही निकला बेटे का हत्यारा, फिर बनाई अपहरण की झूठी कहानी 

यह था पूरा मामला: 
9 फरवरी की दोपहर 4 वर्षीय बच्चे को राजकीय अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बच्चा बेहोशी की हालत में आधा जमीन में गड़ा हुआ मिला. सूचना पर थानाधिकारी पहले तो राजकीय अस्पताल पहुंचे और बाद में घटनास्थल का जायजा लिया. बच्चे की गंभीर हालत को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद उसे चूरू रेफर कर दिया गया. चूरू के अस्पताल में पिछले 2 दिनों से बच्चे का इलाज चल रहा था. पिता की रिपोर्ट पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ पुलिस थाने में 4 वर्षीय मासूम को जान से मारने की कोशिश करने का मामला दर्ज हुआ है. 

बहू ने लगाया ससुर पर खेत में ले जाकर दुष्कर्म करने का आरोप 

धारधार हथियार से हमला कर चोट पहुंचाई:
जानकारी के अनुसार वार्ड 14 निवासी जितेन्द्रसिंह राजपूत ने मामला दर्ज कराया कि 9 फरवरी को दोपहर 1 बजे वह अपने घर की छत्त पर सो रहा था. इस दौरान एक अज्ञात व्यक्ति आया और बाखल में खेल रहे उसके चार वर्षीय पुत्र अभिषेक को उठाकर ले गया और हम कुछ समझ पाते इससे पहले अज्ञात व्यक्ति ने बच्चे को स्कूल के मैदान में ले जाकर धारधार हथियार से हमला कर चोट पहुंचाई और मरा हुआ समझकर मिट्टी में दबा दिया. इस दौरान मौहल्ले के मुकेश मेघवाल व महेश मेघवाल मौके पर पहुंचे तो अज्ञात व्यक्ति भाग गया. वे मौके पर गए तो बच्चे का आधा शरीर जमीन में दबा हुआ था. बच्चे को बाहर निकाल कर कस्बे के राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया. इस प्रकार अज्ञात व्यक्ति ने उसके बच्चे को जानबुझकर जान से मारने की नियत से घर से उठाकर ले गया तथा धारदार हथियार से गले पर हमला कर दिया. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की. 

10 वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म के आरोपी को फांसी देने की मांग

10 वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म के आरोपी को फांसी देने की मांग

सरदारशहर(चूरू): सोमवार रात्रि को हुए सादुलपुर के ढाणी स्वामी में 10 वर्षीय मासूम के साथ दरिंदगी की घटना को अंजाम देने वाले अकरम काजी को फांसी की सजा दिए जाने की मांग को लेकर आज सर्व समाज के लोगों ने उपखंड कार्यालय के आगे प्रदर्शन कर राष्ट्रपति के नाम उपखंड अधिकारी को ज्ञापन दिया. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कहा कि बलात्कार जैसे संगीन मामलों में आरोपी को जल्द से जल्द फांसी की सजा मिलने चाहिए ताकि इस प्रकार के अपराधों पर लगाम लगाई जा सके.

दुकान पर सामान लेने गई थी मासूम:
गौरतलब है कि सोमवार रात्रि को 10 वर्षीय मासूम सामान लाने के लिए दुकान पर गई थी इसी दौरान दरिंदे अकरम ने मासूम को पकड़कर सुनसान जगह ले जाकर पहले तो दुष्कर्म किया फिर उसे जान से मारने की नियत से मारपीट कर ईट पत्थरों के नीचे दबा दिया जिससे मासूम गंभीर रूप से घायल हो गयी. मासूम की चीख सुनकर आसपास के लोगों ने मासूम को तुरंत अस्पताल पहुंचाया जहां पर मासूम की हालत गंभीर होने के बाद मासूम को चूरू रेफर कर दिया गया.

दुष्कर्म का आरोपी पुलिस को धोखा देकर फरार:
मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपी अकरम काजी को गिरफ्तार कर लिया. लेकिन अकरम काजी ने पानी पीने के बहाने से पुलिस को गच्चा देकर पुलिस थाने से फरार हो गए. जिसके बाद पुलिस की काफी आलोचना भी हुई लेकिन पुलिस की कड़ी मशक्कत के बाद आरोपी को मंगलवार रात्रि 10 बजे फिर  से अरोपी अकरम काजी के पड़ोसी के घर से गिरफ्तार कर लिया. पूरे मामले में जिले भर में अब प्रदर्शन हो रहे हैं और आरोपी को फांसी की सजा दिए जाने की मांग की जा रही है. इसी के तहत आज पूरा सादुलपुर भी बंद है. 

सुविधाओं का अभाव भी नहीं रोक पाया सेना में जाने का जज्बा, युवाओं ने चंदा इकट्ठा कर बनाया रेस ट्रैक

सुविधाओं का अभाव भी नहीं रोक पाया सेना में जाने का जज्बा, युवाओं ने चंदा इकट्ठा कर बनाया रेस ट्रैक

चूरू: देश की रक्षा के लिए हर हाल में सेना में जाने के जज्बे को सुविधाओं का अभाव भी नहीं रोक पाया. सरदारशहर तहसील में लगातार सेना में युवाओं का चयन तेजी से हो रहा है और पिछली सेना भर्ती में सरदारशहर के एक साथ 50 युवा भारतीय सेना में चयनित हुए थे. यह जज्बा दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. मगर यहां पर सेना की तैयारी के लिए किसी प्रकार की कोई सुविधाएं सार्वजनिक स्तर पर नहीं होने के कारण प्राइवेट सेना भर्ती एकेडमी की तैयारी कराने वाली कोचिंगों में जाकर युवाओं को अपनी जेब कटवाने पड़ रही है. मगर यहां का युवा कब हारने वाला था.

ट्रैक तैयार करके प्राइवेट एकेडमी को ठेंगा दिखा दिया: 
यहां के युवाओं ने अपने निजी स्तर पर तमाम व्यवस्थाएं माकूल करने की सोची और एसबीडी राजकीय महाविद्यालय के पीछे के खेल मैदान में एक भव्य और विशाल 400 मीटर का दौड़ने का ट्रैक तैयार करवाने के साथ विभिन्न प्रकार के सेना में शारीरिक दक्षता के पैमानों के उपकरण भी यहां पर लगाए गए हैं. यहां विभिन्न प्रकार के व्यायाम, लंबी कूद, ऊंची कूद जैसी सुविधाएं माकूल की गई है. इसी के साथ यहां पर अनेक प्रकार की और व्यवस्था करने के साथ 30 लाख रूपए सरदारशहर तहसील के युवाओं ने जोड़कर एक प्राइवेट एकेडमी से बहुत ज्यादा अच्छा ट्रैक तैयार करके प्राइवेट एकेडमी को ठेंगा दिखा दिया है. इस ट्रैक पर रोजाना सैकड़ों युवा सुबह-शाम दौड़ की तैयारी करते हुए नजर आ रहे हैं.  

यहां के युवा मेहनत के साथ-साथ संसाधन जुटाने में भी पीछे नहीं:
मैं देश नहीं झुकने दूंगा की भावना के साथ युवा यहां पर दौड़ रहे हैं. तेरा एक लाल शहीद हुआ तो क्या हुआ सौ लाल तेरे रखवाले हैं इस प्रकार से देश की सरहद की रक्षा के लिए यहां के युवा मेहनत के साथ-साथ संसाधन जुटाने में भी पीछे नहीं रहे हैं. इन युवाओं का नेतृत्व कॉलेज के पूर्व अध्यक्ष के हंसराज सिद्ध द्वारा किया गया और सिद्ध ने युवाओं की टीम के दम पर यह सब कर दिखाया. निश्चित रूप से आने वाले समय में सैंकड़ों ही नहीं हजारों युवा सेना में जाकर देश की रक्षा इसी जज्बे से करेंगे. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए चुरू से संजय प्रजापत की रिपोर्ट
 

सात माह से रोमानिया में फंसे सुजानगढ़ के तीन युवक वतन लौटे

सात माह से रोमानिया में फंसे सुजानगढ़ के तीन युवक वतन लौटे

सरदारशहर(चूरू): एजेंट की ठगी का शिकार होकर रोमानिया में सात महीनों से फंसे सुजानगढ़ के तीन युवक आखिरकार वतन लौट आए. स्थानीय प्रशासन, सांसद व विदेश मंत्रालय के प्रयासों से यह संभव हो सका. इस बीच फर्स्ट इंडिया ने भी इस मामले को प्रमुखता से उठाया. मामले की गूंज दिल्ली तक पहुंची तो कार्रवाई हुई. शुक्रवार शाम वे दिल्ली एयरपोर्ट पहुंच गए. आज सुबह सबसे पहले युवक सरदार शहर पहुंचे और सांसद राहुल कसवा को धन्यवाद दिया. इस दौरान तीनों का माला पहनाकर स्वागत किया गया. 

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आया प्रशासन: 
युवक पंकज, रामेंद्र व विकास सैनी को एजेंट विनोद गहलोत ने प्रति व्यक्ति साढ़े 11 लाख रुपए लेकर रोमानिया भेजा था. वहां पहुंचने के बाद उन्हें अजरबैजान देश भेज दिया. यहां एजेंटों ने उन्हें एक माह हॉस्टल में रखा. तीनों युवकों को इसके बाद सर्बिया भेजा गया. जहां पर 5 महीने रखा गया. युवकों का सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद स्थानीय प्रशासन हरकत में आया और आज युवकों की वतन वापसी संभव हो सकी है.