Live News »

पाक क्रिकेटर मियांदाद ने भारत को बताया असुरक्षित, बोले-विदेशी टीमों के दौरे पर लगे रोक

पाक क्रिकेटर मियांदाद ने भारत को बताया असुरक्षित, बोले-विदेशी टीमों के दौरे पर लगे रोक

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ देशभर में बवाल जारी है. वहीं पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने भी इसको लेकर टिप्पणियां सामने आ रही है. पाकिस्तान टीम के पूर्व खिलाड़ी जावेद मियांदाद ने भारत को लेकर आग उगली है. मियांदाद ने भारत को असुरक्षित बताते हुए कहा कि आईसीसी को दूसरी टीम को भारत का दौरा करने से रोकना चाहिए. 

सीएए विरोध प्रदर्शन के कारण बताया असुरक्षित:
हमेशा विवादों में रहने वाले पूर्व पाकिस्तानी कप्तान जावेद मियांदाद ने पाक पैशन से बात करते हुए कहा है कि मैंने आइसीसी को मैसेज भेजा है कि कृप्या हर एक देश को भारत में खेलने के लिए रोक देना चाहिए. अब हम देखते हैं कि आइसीसी क्या करता है और वे अब दुनिया को क्या बताते हैं. बता दें कि भारत में जगह-जगह नागरिकता संशोधन कानून के तहत हो रहे विरोध प्रदर्शन के कारण जावेद मियांदाद ने भारत को असुरक्षित बताया है. मियांदाद ने कहा कि पाकिस्तान नहीं बल्कि भारत असुरक्षित है. यहां पर्यटक असुरक्षित हैं. इंसान होने के नाते हमें इसके खिलाफ खड़ा होना चाहिए और इसका विरोध करना चाहिए. पूरी दुनिया देख रही है कि भारत में क्या हो रहा है. मैं पाकिस्तान की ओर से बात कर रहा हूं और मेरा मानना है कि भारत के साथ सभी तरह के खेल सम्बंध खत्म कर दिए जाने चाहिए. 

कनेरिया ने लगाया भेदभाव का आरोप:
इससे पहले पूर्व पाकिस्तानी स्पिनर दानिश कनेरिया ने टीम के खिलाड़ी पर भेदभाव किए जाने का आरोप लगाया था. जिस पर मियांदाद ने पलटवार करते हुए कहा था कि अगर पाकिस्तान का अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के साथ भेदभावपूर्ण रवैया होता तो दानिश कनेरिया देश के लिए नहीं खेल पाते. मियांदाद ने कहा कि पाकिस्तान ने उसे इतना कुछ दिया और वह 10 साल तक टेस्ट क्रिकेट खेला. अगर धर्म कोई मुद्दा होता तो क्या यह संभव हो पाता? पाकिस्तान क्रिकेट में हमने कभी धर्म को लेकर पक्षपातपूर्ण रवैया नहीं अपनाया. वहीं शोएब अख्तर ने भी कहा था कि कुछ पाकिस्तानी क्रिकेटर कनेरिया के साथ इसलिए भोजन नहीं करते थे क्योंकि वह हिंदू है. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in