Live News »

पुंछ में पाक ने की भारी गोलाबारी, बीएसएफ इंस्पेक्टर शहीद, एक बच्ची की मौत

पुंछ में पाक ने की भारी गोलाबारी, बीएसएफ इंस्पेक्टर शहीद, एक बच्ची की मौत

श्रीनगर। पाकिस्तान ने आज फिर जम्मू-कश्मीर में पुंछ जिले के मनकोट और कृष्णाघाटी सेक्टरों में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। पाक गोलीबारी का भारतीय सुरक्षा बलों ने मुंहतोड़ जवाब दिया। गोलीबारी में बीएसएफ का एक इंस्पेक्टर शहीद हो गया जबकि पांच जवान घायल हुए हैं। वहीं पुंछ के जिला विकास आयुक्त (डीडीसी) राहुल यादव के अनुसार पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन में 5 साल की बच्ची की मौत हो गई। 

दरअसल आज पाक सेना ने सैन्य चौकियों और रिहायशी इलाकों पर गोलाबारी की। तनाव बढ़ने की आशंका के मद्देनजर इस इलाके में स्कूलों को बंद करने का आदेश दे दिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तान सेना ने सुबह लगभग 7.45 बजे पुंछ के शाहपुर-केरनी, मनकोट और कृष्णा घाटी सेक्टर में भारी गोलाबारी की। पाकिस्तानी सेना ने सैन्य चौकियों के अलावा रिहायशी इलाकों पर मोर्टार दागे। इस गोलाबारी  से कुछ मकानों को भी नुकसान पहुंचा है। शाहपुर केरनी सेक्टर में एक व्यक्ति के घायल होने की भी खबर है। उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

और पढ़ें

Most Related Stories

Cyclone Nisarga: कमजोर पड़ा तूफान निसर्ग, बड़ा खतरा टला

Cyclone Nisarga: कमजोर पड़ा तूफान निसर्ग, बड़ा खतरा टला

मुंबई: चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से गुजरने के बाद कमजोर पड़ गया है. तूफान अब उत्तर महाराष्ट्र तथा गुजरात की ओर बढ़ गया है. मौसम विभाग के अनुसार इस समय तूफान की तीव्रता भी कुछ कम हुई है. ऐसे में तूफान का मुंबई के लिए खतरा लगभग खत्म हो चुका है. वहीं मुंबई के ज्यादातर इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश जारी रहेगी. इस दौरान निसर्ग के चलते मुंबई, रत्नागिरी, रायगड, नवी मुंबई में जमकर तेज हवाएं चलीं और जोरदार बारिश हुई. सड़कों पर जगह-जगह पेड़ों के गिरने के दृश्य नजर आ रहे हैं. 

देशी नस्ल के गौवंश की डेयरी स्थापना के लिए मिलेगा 90 प्रतिशत तक ऋण, चुकाने पर 30 प्रतिशत सब्सिडी 

मुंबई में जनजीवन अस्तव्यस्त: 
तूफान निसर्ग की वजह से मुंबई में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. तूफान का सबसे ज्यादा असर रायगड में देखा जा रहा है और यहां भारी तबाही हुई है. बारिश के साथ तूफानी हवाओं ने पूरे शहर में जगह-जगह पेड़ों को गिरा दिया. वहीं रत्नागिरी में तूफानी हवाओं की चपेट में आकर एक छोटा जहाज रास्ता भटक गया, हालांकि बाद में इसे रेस्क्यू कर लिया गया.

Coronavirus Vaccine: रूस ने किया कोरोना वैक्सीन तैयार करने का दावा, सैनिकों पर हो रहा है ट्रायल 

एनडीआरएफ की 20 टीमें तैनात की गईं:
चक्रवात से निपटने के लिए एनडीआरएफ की 20 टीमें तैनात की गईं. इसमें मुंबई में 8 टीमें, रायगढ़ में 5 टीमें, पालघर में 2 टीमें, थाने में 2 टीमें, रत्नागिरी में 2 टीमें और सिंधूदुर्ग में 1 टीम की तैनाती है. वहीं, कुछ टीमों को स्टैंडबाई पर रखा गया था. बता दें कि दो हफ्ते में देश को दूसरे समुद्री तूफान का सामना करना पड़ रहा है. पहले अम्फान ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में तबाही मचाई थी.

चीन में हड़कंप मचाने वाले Remove China Apps और Mitron app को गूगल प्‍लेस्‍टोर ने हटाया

चीन में हड़कंप मचाने वाले Remove China Apps और Mitron app को गूगल प्‍लेस्‍टोर ने हटाया

नई दिल्ली: पिछले कुछ दिनों से काफी पॉप्युलर हो रहे Remove China Apps और Mitron app को गूगल प्ले स्टोर ने हटा दिया है. चीनी एप को हटाने के लिए विकसित किए गए 'रिमूव चाइना एप' को व्‍यापक समर्थन मिला और रिकॉर्ड 50 लाख से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया. इस ऐप के जरिए आप अपने स्मार्टफोन में मौजूद सभी चीनी ऐप्स को डिलीट कर पाते थे. 

देशी नस्ल के गौवंश की डेयरी स्थापना के लिए मिलेगा 90 प्रतिशत तक ऋण, चुकाने पर 30 प्रतिशत सब्सिडी 

यह एक दिन में दूसरा पॉप्युलर ऐप: 
जिन यूजर्स के फोन में यह ऐप पहले से डाउनलोडेड है, उनके फोन में यह काम करता रहेगा. यह एक दिन में दूसरा पॉप्युलर ऐप है जिसे गूगल ने रिमूव किया. इससे पहले मंगलवार को ही प्ले स्टोर से टिकटॉक की तरह ही काम करने वाले Mitron ऐप को भी हटाया गया है. मिट्रोन ऐप चीनी ऐप टिक टोके का विकल्प था. दोनों ऐप भारत में हाल ही में बहुत लोकप्रिय हो रहे थे.

Coronavirus Vaccine: रूस ने किया कोरोना वैक्सीन तैयार करने का दावा, सैनिकों पर हो रहा है ट्रायल 

जयपुर की कंपनी OneTouchAppLabs ने डिवेलप किया:
रिमूव चाइना ऐप को जयपुर की कंपनी OneTouchAppLabs ने डिवेलप किया था. गूगल के रिमूव करने पर कंपनी 'वन टच एपलैब' ने ट्वीट कर कहा है कि एप को प्‍लेस्‍टोर से हटा दिया गया है. हालांकि ऐसा क्‍यों किया गया है कंपनी ने भी कुछ नहीं बताया है. हालांकि गूगल प्‍ले स्‍टोर की ओर से अभी इस बात की पुष्टि नहीं की गई है कि इस एप को क्‍यों हटाया गया है या यह भविष्‍य में गूगल प्‍ले स्‍टोर पर उपलब्‍ध होगा या नहीं. 


 

Cyclone Nisarga: महाराष्ट्र से टकराया चक्रवाती तूफान निसर्ग, 129 साल बाद इतना भयानक तूफान

Cyclone Nisarga: महाराष्ट्र से टकराया चक्रवाती तूफान निसर्ग, 129 साल बाद इतना भयानक तूफान

मुंबई: चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ महाराष्ट्र से टकरा गया है. लैंडफाल की प्रक्रिया शुरू हो गई है जो अगले तीन घंटे तक चलेगी.  मुंबई के ब्राद्रा-वर्ली सी लिंक वाले इलाके में भारी बारिश शुरू हो गई है. इसी के चलते सी लिंक पर वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है. कई जगह पेड़ गिरने के साथ मकानों की खतें उड़ गई हैं. 100 से 110 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं के चलते परेशानी बढ़ना शुरू हो गई है. मौसम विभाग की माने तो ये तूफान करीब 3 घंटे महाराष्ट्र में रहेगा. 

 UP: 69 हजार सहायक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पर हाईकोर्ट ने लगाई अंतरिम रोक 

महाराष्ट्र में 129 साल बाद इतना भयानक तूफान आया: 
मौसम विभाग के अनुसार महाराष्ट्र में 129 साल बाद इतना भयानक तूफान आया है. मुंबई के नवी मुंबई इलाके में तेज हवाओं ने काफी नुकसान पहुंचाया है. निसर्ग का सबसे ज्यादा असर रत्नागिरी और अलीबाग में देखने को मिल रहा है. हवाओं के चलते ऐसे लग रहा है कि जैसे पेड़ उखड़ कर उड़ जाएंगे. सुरक्षा एजेंसिया अलर्ट मोड पर हैं. 

Unlock-1.0: आज से सड़कों पर दिखेंगी राजस्थान रोडवेज की बसें, 200 मार्गों पर संचालन शुरू 

लोगों के लिए 35 स्कूलों में रहने की व्यवस्था: 
भयानक तूफान के चलते महाराष्ट्र सरकार ने तटीय इलाकों के रहने वाले लोगों के लिए 35 स्कूलों में रहने की व्यवस्था की है. एनडीआरएफ समेत तमाम सुरक्षा एजंसियां अलर्ट मोड पर हैं. एनडीआरएफ समेत तमाम सुरक्षा एजंसियां एलक्ट मोड पर हैं. हेलीकॉप्टर सर्विस को भी तैयार रहने के लिए बोला गया है.
 

Cyclone Nisarga: तेजी से विकराल रूप ले रहा चक्रवात निसर्ग, राजस्थान में भी 3 दिन भारी बारिश की चेतावनी

Cyclone Nisarga: तेजी से विकराल रूप ले रहा चक्रवात निसर्ग, राजस्थान में भी 3 दिन भारी बारिश की चेतावनी

नई दिल्ली: चक्रवाती तूफान निसर्ग के चलते महाराष्ट्र के लिए आज का दिन बेहद भारी है. मौसम विभाग के मुताबिक निसर्ग चक्रवाती तूफान अभी मुंबई से करीब 150 किलोमीटर दूर है. आज यह महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तट को पार कर जाएगा. लेकिन इस तूफान के आने से पहले लगातार बारिश हो रही है. समंदर में तूफान के समय 6 फीट ऊंची लहरें उठ सकती हैं. 

कोरोना के बाद पहली बार 8 जुलाई को खेला जायेगा अंतरराष्ट्रीय मैच, वेस्टइंडीज और इंग्लैंड होंगे आमने-सामने

हवा की गति 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी: 
चक्रवाती तूफान उत्तरी महाराष्ट्र और हरिहरेश्वर और दमन के बीच अलीबाग के पास दक्षिण गुजरात के तट को आज दोपहर बाद पार करेगा और हवा की गति 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी. हालांकि मुंबई निसर्ग की मुसीबत से निपटने के लिए तैयार है. 80 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

NDRF ने 40 टीमों को तैनात किया:
चक्रवाती तूफान निसर्ग से निपटने के लिए NDRF ने राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में 40 टीमों को तैनात किया है और अतिरिक्त टीमों को भी एयरलिफ्ट किया गया है. साइक्लोन निसर्ग की वजह से महाराष्ट्र में एनडीआरएफ की 20 टीमों को तैनात किया गया. मुंबई में आठ टीमें, रायगढ़ में पांच टीमें, पालघर में दो, ठाणे में दो, रत्नागिरी में दो और सिंधुदुर्ग में एक टीम को तैनात किया गया है.

राहत टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया:
नौसेना और वायु सेना के जहाजों और विमानों के साथ सेना और नौसेना की बचाव और राहत टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है. तटरक्षक बल के जहाज पहले से ही समुद्र में मछुआरों को बचाने में लगे हुए हैं. मुंबई पुलिस ने चक्रवात के मद्देनजर लोगों को तटों पर जाने से रोकने के लिये शहर में धारा 144 लगा दी है.

फिर बढ़ गई शराब की कीमतें, 5 से 30 रुपए तक कीमतों में बढ़ोतरी

राजस्थान में भी दिखाई देगा असर: 
मौसम विभाग के अनुसार तूफान निसर्ग का असर राजस्थान और मध्य प्रदेश में भी दिखाई देगा. जिसके चलते 3 जून से 5 जून के बीच दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश और दक्षिण-पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश होने की आशंका है. इस दौरान तेज हवाएं चलने की संभावना जताई जा रही है. वहीं, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के चलते बारिश का दौर जारी रहने का अनुमान है. 

कोरोना संकट के बीच असम में भूस्खलन, 20 लोगों की मौत की खबर

कोरोना संकट के बीच असम में भूस्खलन, 20 लोगों की मौत की खबर

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच असम राज्य के कई इलाकों में भूस्खलन हुआ है. इन घटनाओं में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई है. ज्यादातर मृतक दक्षिणी असम के तीन अलग-अलग जिलों में तीन अलग-अलग परिवारों से हैं. घटनाएं दक्षिणी असम के बराक घाटी क्षेत्र में हुईं.

बारिश की वजह से होते हैं भूस्खलन:
इस क्षेत्र में गत कुछ दिनों से तेज बारिश हो रही हैं. कछार जिले में सात, हैलाकांडी जिले में सात और करीमगंज जिले में 6 लोगों की मौत हुई है. हालांकि कई अन्य घायल हैं. फिलहाल बचाव दलों को घटनास्थल वाली जगहों पर भेज दिया गया है. आपको बता दें कि इन इलाकों में बारिश के कारण हर साल भूस्खलन की घटनाएं होती रही है. 

सीएम केजरीवाल ने लॉन्च किया कोरोना ऐप, खाली बेड और वेंटिलेटर की मिलेगी जानकारी 

Cyclone Nisarga: कोरोना संकट के साथ लगातार प्रकृति का प्रकोप भी जारी, विकराल रूप ले सकता है निसर्ग चक्रवात

Cyclone Nisarga: कोरोना संकट के साथ लगातार प्रकृति का प्रकोप भी जारी,  विकराल रूप ले सकता है निसर्ग चक्रवात

नई दिल्ली: कोरोना संकट के साथ लगातार प्रकृति का प्रकोप भी जारी है. बंगाल और उड़ीसा में अम्फान के कहर के बाद अब पश्चिमी तटीय इलाकों में चक्रवात निसर्ग दस्तक दे सकता है. चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' गुजरात के तट पर 3 जून को दस्तक दे सकता है. इसके मद्देनजर महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा, दमन-दीव और दादरा नगर हवेली में अलर्ट जारी किया गया है. साथ ही आधा दर्जन से अधिक जिलों में नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स (NDRF) की 10 टीमें तैनात की गई हैं. निसर्ग के खतरे से निपटने के लिए कुल NDRF 23 टीमों को तैनात किया गया है.

VIDEO: लॉक डाउन के बाद और अनलॉक 1.0 की संभावनाओं को लेकर First India पर बोले सीएस डीबी गुप्ता  

बुधवार तक तटीय इलाकों में दस्तक देने का अनुमान: 
अभी चक्रवाती हवाएं मुंबई के तटीय इलाकों से 550 किमी और गुजरात के सूरत के दक्षिण-पश्चिमी दक्षिण इलाकों से 800 किमी दूर है. इन हवाओं के बुधवार तक तटीय इलाकों में दस्तक देने का अनुमान है. तीन जून तक महाराष्ट्र के उत्तरी इलाके और गुजरात के दक्षिण इलाकों में दस्तक देने का अनुमान है. 

हवा की गति 105 से 115 किमी प्रति घंटा होने का अनुमान:
चक्रवात निसर्ग के गंभीर चक्रवाती तूफान का रूप लेने के बाद हवा की गति 105 से 115 किमी प्रति घंटा हो सकती है. वहीं, कल यानी 3 जून को हवा की रफ्तार 125 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच सकती है. मौसम विभाग के मुताबिक, 'इससे दक्षिणी गुजरात क्षेत्र में 3 और 4 जून को भारी बारिश होगी.

पुलिसवाले ने ही की पुलिसवाले से ठगी, खुद का वीडियो बनाकर किया सोशल मीडिया पर वायरल 

अम्फान के मुकाबले थोड़ा कमजोर: 
हालांकि चक्रवात निसर्ग, चक्रवात अम्फान के मुकाबले थोड़ा कमजोर हो सकता है. अरब सागर में चल रही तेज हवाएं चार किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से उत्तर की ओर चल रही हैं और मुंबई से 550 किमी दूर है. चक्रवात निसर्ग से महाराष्ट्र के रायगढ़ में हरिहरेश्वर और दमन में तीन जून को भूस्खलन हो सकता है. 


 

सीएम केजरीवाल ने लॉन्च किया कोरोना ऐप, खाली बेड और वेंटिलेटर की मिलेगी जानकारी 

सीएम केजरीवाल ने लॉन्च किया कोरोना ऐप, खाली बेड और वेंटिलेटर की मिलेगी जानकारी 

नई दिल्ली: दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को एक बार फिर से लोगों से चिंता नहीं करने की अपील की. सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोविड19 मरीजों की चिकित्सा के बारे में चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. केजरीवाल सरकार ने बढते कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए पर्याप्त इंतजाम कर लिए हैं, घबराने की आवश्यकता नहीं है. अगर आपके परिवार का कोई सदस्य पॉजिटीव पाया जाता है, तो उन्हें आवश्यक चिकित्सा सेवाएं मिलेंगी.

दिल्ली में बढ़ रहे हैं महामारी के मामले:
सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में महामारी के मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन हमने इतना इंतजाम किया हुआ है कि अगर आपके घर में कोई बीमार होता है तो उसके लिए बेड, ऑक्सीजन और आईसीयू का इंतजाम किया गया है. आज हमारे पास 60731 बेड हैं, दिल्ली के अस्पतालों में लगभग 2600 मरीज हैं, करीब 4100 बेड खाली पड़े हैं.

Cyclone Nisarga: कोरोना संकट के साथ लगातार प्रकृति का प्रकोप भी जारी, विकराल रूप ले सकता है निसर्ग चक्रवात

Delhi Corona नाम से एप लॉन्च:
कोरोना संकट को देखते हुए दिल्ली सरकार ने Delhi Corona नाम से एप लॉन्च किया है. इसे गूगल प्ले से डाउनलोड किया जा सकता है. एप जिन्हें डाउनलोड नहीं करना वह लोड वेबपेज delhifightscorona/beds पर जानकारी ले सकते हैं. इसके अलावा 1031 पर फोन करके SMS के जरिए खाली बेड्स की लिस्ट मांगी जा सकती है.  

मिलेगी खाली बेड की जानकारी:
एप लॉन्च करते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लोगों के सामने समस्या है कि उन्हें पता नहीं है कि किस अस्पताल में बेड खाली हैं. इस परेशानी को दूर करने के लिए हम एप जारी कर रहे हैं. ये एप आपको जानकारी उपलब्ध कराएगा कि दिल्ली के किस निजी या सरकारी अस्पताल में बेड कितने खाली हैं. यह सब जानकारी आपको इस एप ​पर मिलेगी.

निर्जला एकादशी पर बाबा श्याम का विशेष श्रृंगार, भक्तों के लिए पट रहे बंद 

CII: पीएम मोदी ने कहा- मैं आपके साथ, आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी

CII: पीएम मोदी ने कहा- मैं आपके साथ, आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के सालाना कार्यक्रम को संबोधित किया. पीएम मोदी का संबोधन ऐसे समय पर हुआ जब लॉकडाउन की पाबंदियों में ढील के साथ ही कंपनियां परिचालन शुरू करने लगी हैं और कारखाने खुलने लगे हैं. इस दौरान पीएम ने कारोबारियों को भरोसा दिया कि वो उनके साथ हैं, आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कोरोना मौतों का दोहरा शतक ! पिछले 12 घंटे में 2 मौतें, 171 नए पॉजिटिव आए सामने 

मुझे भारत की क्षमता और आपदा प्रबंधन पर भरोसा:  
पीएम ने कहा कि मुझे भारत की क्षमता और आपदा प्रबंधन पर भरोसा है. मुझे भारत के प्रतिभा और प्रौद्योगिकी पर भरोसा है. मुझे भारत के नवाचार और बुद्धि पर भरोसा है. मुझे भारत के किसान, एमएसएमई, उद्यमी पर भरोसा है. कोरोना महामारी को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना ने हमारी गति जितनी भी धीमी की हो, लेकिन आज देश की सबसे बड़ी सच्चाई यही है कि भारत, लॉकडाउन को पीछे छोड़कर अनलॉक फेज 1 की तरफ बढ़ चुका है. इसमें अर्थव्यवस्था का बहुत बड़ा हिस्सा खुल चुका है.

CII हर सेक्टर को लेकर एक रिसर्च तैयार करे और प्लान मुझे दे:
PM ने कहा कि आज से तीन महीने पहले देश में एक भी PPE किट नहीं बनती थी, लेकिन आज रोज तीन लाख किट बन रही हैं. आत्मनिर्भर भारत से जुड़ी हर जरूरत का ध्यान सरकार रखेगी. PM ने कहा कि CII हर सेक्टर को लेकर एक रिसर्च तैयार करे और प्लान मुझे दे.

आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए 5 चीजें बहुत जरूरी:
पीएम ने कहा कि भारत को फिर से उछाल विकास के पथ पर लाने के लिए, आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए 5 चीजें बहुत जरूरी हैं. इंटेंट, इंक्लूजन, इन्वेस्टमेंट, इन्फ्रास्ट्रक्चर और इनोवेशन. हाल में जो बोल्ड फैसले लिए गए हैं, उसमें भी आपको इन सभी की झलक मिल जाएगी.

युवाओं के लिए भी नए अवसर खुलेंगे:
सरकार जिस दिशा में बढ़ रही है, उसके साथ हमारा खनन क्षेत्र हो, ऊर्जा क्षेत्र हो, या अनुसंधान और प्रौद्योगिकी हो, हर क्षेत्र में उद्योग को भी अवसर मिलेंगे, और युवाओं के लिए भी नए अवसर खुलेंगे.

VIDEO: लॉक डाउन के बाद और अनलॉक 1.0 की संभावनाओं को लेकर First India पर बोले सीएस डीबी गुप्ता  

74 करोड़ लोगों के घर तक राशन पहुंचाया गया:
पीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 74 करोड़ लोगों के घर तक राशन पहुंचाया गया, प्रवासी श्रमिकों के लिए मुफ्त राशन दिया जा रहा है. अबतक गरीब परिवारों को 53 हजार करोड़ रुपये उनके खाते में दी जा चुकी है.
 

Open Covid-19