सुमेरपुर, पाली VIDEO: विधायक जोराराम की पुलिसकर्मी को धमकी, कहा - औकात में रहो, ये सुमेरपुर हैं, मालूम पड़ा...

VIDEO: विधायक जोराराम की पुलिसकर्मी को धमकी, कहा - औकात में रहो, ये सुमेरपुर हैं, मालूम पड़ा...

सुमेरपुर(पाली): औकात में रहो, ये सुमेरपुर (Sumerpur) हैं, मालूम पड़ा. 5 मिनिट लेट हो जाएगा तो ऊपर से कोई पहाड़ नही टूट जाएगा. ये कहना हैं सुमेरपुर विधायक जोराराम कुमावत (Joraram Kumawat) का. दरअसल, कोरोना (Corona) की दूसरी लहर के बाद राज्य सरकार (State Government) द्वारा जारी गाइडलाइन (Corona Guideline) की पालना में शाम 5 बजे पूरी तरह से बाजार बंद करवाने के निर्देशों की पालना में सुमेरपुर थाना पुलिस (Police) के जवान भी शहर में दुकानें बंद करवाने की कवायद में जुटे हुए थे. तभी एक दुकानदार अपनी राजनैतिक एप्रोच को लेकर पुलिसकर्मियों से उलझ गया. देखते ही देखते सुमेरपुर विधायक जोराराम कुमावत भी वहां पहुंच गए और पुलिसकर्मी से धमकी (Threat) भरे लहजे में कहने लगे "औकात में रहो, ये सुमेरपुर हैं". यानी विधायक जी ड्यूटी निभा रहे पुलिसकर्मियों को उनकी औकात बता रहे हैं. 

विधायक की इस धमकी को सुनकर पुलिसकर्मी विधायक जी के सामने अपनी सफाई देते दिखाई दे रहा हैं. पुलिसकर्मी कह रहा हैं सरकार के नियमों के अनुसार दुकानें बंद करवाई जा रही हैं. पर विधायक पुलिसकर्मी की बातें कहां सुनने वाले थे. विधायक जी ने और ज्यादा सख्त होते हुए कहा कि मैं भी सरकार में हूँ. कोई 5 मिनिट देरी से दुकान बंद करेगा तो कोई पहाड़ टूट पड़ेगा क्या? यानी विधायक जी की नज़र में सरकारी नियम कायदे कोई मायने नही रखते. उनके रिश्तेदारों को जब मर्जी होगी दुकान खोलेंगे और जब मर्जी होगी दुकान बंद करेंगे. पर यदि इसको लेकर पुलिस ने उन्हें नियम कायदे बताने की कोशिश की तो विधायक जी सरे आम पुलिसकर्मियों को धमकाने में नही हिचकिचाएंगे. सुमेरपुर से भाजपा के विधायक जोराराम कुमावत जब पुलिसकर्मियों को धमका रहे थे. तभी वहां मौजूद किसी व्यक्ति ने इस पूरी घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया.

जोराराम कुमावत ने नियम कायदों का खुलेआम उलंघन किया:
सुमेरपुर से भाजपा विधायक जोराराम कुमावत ने नियम कायदों का खुलेआम उलंघन किया. जो इस वायरल वीडियो में भी साफ नजर आ रहा हैं. विधायक ने अपने चेहरे पर मास्क लगाने की भी जरूरत नहीं समझी. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा होता है कि कोरोना का संक्रमण क्या पद और प्रतिष्ठा देखकर व्यक्ति को अपनी चपेट में लेता हैं, जो विधायक बिना मास्क के बाजार में घूम रहे हैं? खुद की जान तो जोखिम में डाल ही रहे हैं, साथ ही साथ आमजन की जान को भी खतरे में डालने का काम विधायक जी कर रहे हैं. विधायक को समझना चाहिए कि सरकारी नियमों की पालना करना जितना आम जनता के लिए जरूरी हैं उतना ही जरूरी विधायक जी के लिए भी हैं.

...सुमेरपुर से 1st इंडिया न्यूज के लिए नारायण डाबी की रिपोर्ट
 

और पढ़ें