VIDEO: 4 जिलों में पंचायत और जिला परिषद चुनाव, कांग्रेस के दिग्गजों की साख दांव पर, देखिए ये खास रिपोर्ट

VIDEO: 4 जिलों में पंचायत और जिला परिषद चुनाव, कांग्रेस के दिग्गजों की साख दांव पर, देखिए ये खास रिपोर्ट

जयपुर: पंचायत चुनावों में कांग्रेस के दिग्गजों की साख दांव पर है. उप चुनावों में कुशल रणनीतिकार के रूप में चर्चित हो चुके खनिज मंत्री प्रमोद जैन भाया के सामने पंचायत चुनाव है चुनौती. प्रदेश के 4 जिलों करौली, बारां, कोटा और श्रीगंगानगर जिले में हो रहे पंचायत और जिला परिषद चुनाव में सत्तारूढ़ कांग्रेस के 10 विधायकों समेत 3 कैबिनेट मंत्रियों की साख दांव पर लगी हुई है. इन कैबिनेट मंत्रियों में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल और पंचायत राज मंत्री रमेश मीणा शामिल है.

कांग्रेस के कुछ दिग्गजों के सामने फिर चुनौती है अबकि बार सामना है पंचायत के चुनावों से.कोटा जिले के प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया, करौली जिले के प्रभारी मंत्री अशोक चांदना और भरतपुर के प्रभारी मंत्री महेश जोशी की साख भी दांव पर लगी हुई है. वहीं इन जिलों में संगठन की जिम्मेदारी संभाल रहे पीसीसी नेताओं की भी साख दांव पर हैं, इनमें कोटा जिले संगठन प्रभारी जी आर खटाणा, बारां के जिला संगठन प्रभारी राजेंद्र यादव, करौली के जिला प्रभारी ललित यादव और गंगानगर के प्रभारी जियाउर रहमान के साथ ही कोटा संभाग प्रभारी राजेंद्र चौधरी, भरतपुर संभाग प्रभारी जितेंद्र सिंह, बीकानेर संभाग प्रभारी नसीम अख्तर की साख भी दांव पर लगी हुई है.

इन विधायकों की प्रतिष्ठा का सवाल:
हिंडौन सिटी- भरोसी लाल जाटव
टोडाभीम - पीआर मीणा
करौली-लाखन मीणा
सपोटरा-रमेश मीणा
बारां-अटरू- पानाचंद मेघवाल
किशनगंज- निर्मला सहरिया
अंता.- प्रमोद जैन भाया
पीपल्दा- रामनारायण मीणा
सांगोद- भरतसिंह
कोटा उत्तर- शांति धारीवाल
सादुलशहर- जगदीश जांगिड़
गंगानगर- राजकुमार गौड़ ( निर्दलीय)
करनपुर---गुरमीत सिंह कुन्नर

4 जिलों में हो रहे पंचायत चुनाव इसलिए भी अहम है चूंकि 29 जिलों में पंचायत और जिला परिषद के चुनाव हो चुके हैं और अब केवल 4 जिले ही बचे हैं जहां पर चुनाव हो रहे हैं. ऐसे में अब 2 साल के बाद होने वाले विधानसभा चुनाव तक कोई स्थानीय निकायों और पंचायतों के चुनाव नहीं होंगे. ऐसे में कांग्रेस पार्टी चाहेगी कि 4 जिले में हो रहे पंचायत चुनाव में जीत दर्ज करके 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों का आगाज करे. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें