Live News »

स्मृति वन में एक बार फिर पैंथर आने से दहशत का माहौल, वन विभाग की टीम कर रही मॉनिटरिंग

स्मृति वन में एक बार फिर पैंथर आने से दहशत का माहौल, वन विभाग की टीम कर रही मॉनिटरिंग

जयपुर: राजधानी जयपुर के स्मृति वन में एक बार फिर से पैंथर आने से दहशत का माहौल बन हुआ है. बीती रात फिर कुलिश स्मृति वन में पैंथर का मूवमेंट नजर आया, जो कि वहां पर लगे ट्रेप कैमरे में कैद हो गया. पैंथर देखने के बाद वन विभाग ने 4 नवम्बर से स्मृति वन में लोगों की आवाजाही पर भी रोक लगा रखी है. आमजन की सुरक्षा को देखते हुए स्मृति वन के गेट बंद हैं. इससे पहले पैंथर ने एक नीलगाय और स्वान का भी शिकार किया था. जिसका शव स्मृति वन में बरामद हुआ. इसके बाद वन विभाग ने 6 ट्रैप कैमरे और 3 पिंजरे लगा रखे है.

वन विभाग की टीमें लगातार पैंथर को पकड़ने का प्रयास कर रही: 
आगरा रोड वेटरनरी कॉलेज के वहां पर भी एक पिंजरा लगाया गया है और कैमरा ट्रैप लगाए हैं. वन विभाग की टीमें लगातार पैंथर को पकड़ने का प्रयास कर रही है. जब तक पैंथर पकड़ में नहीं आ जाता तब तक आमजन की सुरक्षा के लिए स्मृति वन में लोगों का प्रवेश बंद रखा जाएगा. आए दिन पैंथर भोजन पानी की तलाश में जंगलों से बाहर निकलकर आबादी क्षेत्रों की तरफ रुख कर रहे हैं. बता दें कि डेढ़ माह पहले भी स्मृति वन में पैंथर नजर आया था. जिसके बाद स्मृति वन के गेट बंद कर दिए गए थे. काफी दिनों बाद पैंथर को रेस्क्यू करने के बाद ही स्मृति वन आमजन के लिए खोला गया था, वही स्थिति वापस बन गई है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

VIDEO: रोडवेज में मितव्ययता बरतने के लिए सीएमडी नवीन जैन ने जारी किया सर्कुलर

जयपुर: कोरोना और लॉक डाउन के कारण राजस्थान रोडवेज की हालत इन दिनों बहुत खराब है. बसों का संचालन शुरू होने के बाद भी रोडवेज की वित्तीय स्तिथि नहीं सुधर पा रही है. मुश्किल समय को देखते हुए अब रोडवेज सीएमडी नवीन जैन ने रोडवेज में मितव्ययता बरतने के लिए एक सर्कुलर जारी किया है. 

VIDEO: हाउसिंग बोर्ड ने धमाकेदार परफॉर्मेंस से अपना ही विश्व रिकॉर्ड तोड़ा, 12 दिन में ही 1213 आवासों की नीलामी   

रोडवेज में आर्थिक संकट गहरा गया: 
कोरोना और लॉक डाउन के कारण राजस्थान रोडवेज का संचालन 3 महीने से अधिक समय तक बंद रहने से रोडवेज में आर्थिक संकट गहरा गया है. हालात ऐसे है कर्मचारियों को वेतन भत्ते देने में भी रोडवेज को जोर आ रहा है. रिटायर्ड हो चुके कार्मिकों का भुगतान भी समय पर करना संभव नहीं हो पा रहा है. इसे देखते हुए रोडवेज सीएमडी ने तमाम ख़र्चों पर पाबंदी लगाने का सर्कुलर जारी किया है. रोडवेज सीएमडी ने सर्कुलर में निर्देश दिए हैं कि रोडवेज में अनावश्यक खर्चों पर हर हाल में पाबंदी लगाई जाए. 

देखिए क्या रहेंगी रोडवेज में पाबंदियां: 

1. भोजन सत्कार, अल्पहारों, मनोरंजन और सेमीनार के आयोजन पर पूर्णरूप से बंद रहेगा, साधारण रूप से ही कार्य होंगे. 

2. रोडवेज के अधिकारी—स्टाफ कार पर नकेल कसते हुए रोडवेज बसों में सफर करने के निर्देश जारी किए. कार्य क्षेत्र के बाहर यात्रा करने पर जहां तक संभव हो बस से ही यात्रा करे. 

3. रोडवेज कार्यालय व आवास पर निर्धारित मापदंडों से अधिक टेलिफोन—एसटीडी का उपयोग नहीं करने के निर्देश. 

4. रोडवेज के कार्यालयों में अधिकारी व कर्मचारी बिजली खर्च पर भी अंकुश करे. कार्यालय, इकाई पर निर्धारित समय से पूर्व, लंच के समय और कार्यालय समय पश्चात अनावश्यक बिजली का उपयोग नहीं हो. कार्यालय खाली रहने पर बिजली उपकरणों के स्वीच बंद रखे. 

5. निगम का वाहन डीजल औसत में बस एवं मार्ग की दैनिक रूप से मोनेटरिंग कि जाए. रोडवेज चालकों को प्रोत्साहन और अनुशासनात्मक कार्रवाई निश्चत करे. 

6. सडक दुर्घटनाओं में दोषी पाए जाने पर चालकों के विरूद्ध तुरंत कार्रवाई कर एक महीने इनका निस्तारण किया जाए. 

7. रोडवेज वाहनों के रख रखाव की जांच के बाद ही वाहन की ग्रुप प्रभारी लॉगशीट पर हस्ताक्षर के बाद ही वाहन मार्ग पर भेजी जाए. इसके बाद भी वाहन संचालन पर ब्रेक डाउन होते है तो ग्रुप प्रभारी की जिम्मेदारी होगी. 

8. कार्यशाला से वाहन समय अवधि पर निकलना ताकि रूटों पर पडने वाले स्टैंडों पर यात्रियों को समय पर बसें मिल सके ताकि यात्रीभार 100 प्रतिशत किया जाए. 

9. कम आय देने वाले मार्गो की समीक्षा कर कैसे आय बढाई जा सके. 

10. अधिक किलोमीटर संचालन के अंतर्गत समान्तर संचालन को रोका जाए. 

11. सरप्लस स्टाफ की सूचना मुख्यालय पर दी जाए ताकि अन्य जगहों पर तैनाती की जाए. 

12. कर्मचारी के बकाया भुगतान के रिकॉर्ड की जांच कर ही जारी किया जाए. 

13. एमएसीटी केसो पर विधि विभाग अलग से दिशा निर्देश जारी कर लोक अदालतों का आयोजन कर खर्चो को कम किया जाए. 

14. कोरोना काल में वाहनों का संचालन कम होने से रोडवेज के विभिन्न डिपो कार्यशालाओं के बाहरी कार्यो को बंद करे. विभागाध्यक्ष की अनुमति पर कार्य करे. 

बंगला खाली करने के नोटिस के बाद लखनऊ शिफ्ट होंगी प्रियंका गांधी, हो चुकी व्यवस्था !  

पहले से घाटे में चल रही रोडवेज की परेशानियों को कोरोना ने और बढ़ा दिया है. कोरोना की गाइडलाइंसन के कारण सीमित सवारियां ही लेने के निर्देश भी रोडवेज पर भारी पड़ रहे हैं. बसों के संचालन के बाद भी रोडवेज की आर्थिक स्तिथि ठीक होती नहीं दिख रही है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए शिवेंद्र परमार की रिपोर्ट

VIDEO: हाउसिंग बोर्ड ने धमाकेदार परफॉर्मेंस से अपना ही विश्व रिकॉर्ड तोड़ा, 12 दिन में ही 1213 आवासों की नीलामी

जयपुर: कोरोना काल जैसे बड़े संकट में भी हाउसिंग बोर्ड ने अपनी धमाकेदार परफॉर्मेंस से अपना ही विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया है. बोर्ड ने किश्तों में आवास योजना से नया कीर्तिमान बनाते हुए महज 12 दिन में ही 1213 आवासों की नीलामी की है. 

सहकारी बैंकों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के परिवीक्षा वेतन में की वृद्धि

आवासों के ई ऑक्शन का अपना ही विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया: 
रियल एस्टेट मार्केट के किंग हाउसिंग बोर्ड ने अपनी धमाकेदार परफॉर्मेंस से कम अवधि में आवासों के ई ऑक्शन का अपना ही विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया है. बोर्ड ने सितंबर महीने में चलाई ई ऑक्शन योजना से महज 35 दिनों में 1010 मकानों की नीलामी कर विश्व रिकॉर्ड स्थापित किया था. वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने बोर्ड के इस रिकॉर्ड को मान्यता दी थी. 

यह योजना बोर्ड के इतिहास की सबसे सफल:
अब बोर्ड ने अपने ही उस विश्व रिकॉर्ड को तोड़ दिया है और यह कमाल हुआ है बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा की सटीक प्लानिंग के बाद लांच हुई किश्तों में आवास योजना से. लांच होने से पहले ही प्रदेश भर में चर्चित हो चुकी यह योजना बोर्ड के इतिहास की सबसे सफल और लोकप्रिय योजना मानी जा रही है. मकान की कीमत का 10 फीसदी दीजिए और गृह प्रवेश कीजिए के ध्येय वाक्य से लांच हुई इस योजना से बोर्ड ने सिर्फ 12 दिन में ही 1213 आवासों की नीलामी कर अपना ही बनाया हुआ विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया है. 1213 आवासों की नीलामी से हाउसिंग बोर्ड ने 12 दिन में ही 178 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त किया है. 

बोर्ड का यह प्रदर्शन किसी जादू से कम नहीं:
कोरोना काल मे जब हर तरह के बाजार की हालत खराब है तब बोर्ड का यह प्रदर्शन किसी जादू से कम नहीं है. इस योजना के अभी तक के 4 बुधवारों में बोर्ड को बहुत भारी रेस्पॉन्स मिला है. कमिश्नर पवन अरोड़ा की तरफ से ग्राहकों को सहूलियत देने के लिए प्रयासों से भी इस योजना में लोगों का रुझान बढ़ा है. कमिश्नर पवन अरोड़ा ने इस बड़ी कामयाबी का श्रेय टीम वर्क को देते हुए कहा है कि ग्राहक बोर्ड के लिए भगवान की तरह है. आने वाले दिनों में भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और UDH मंत्री शांति धारीवाल के हर किसी को आवास उपलब्ध कराने के मिशन को सफल बनाने के लिए बोर्ड ऐसे ही काम करता रहेगा. 

योजना के माध्यम से आवास लेने की लोगों में होड़: 
किश्तों में आवास योजना की बात करें तो ऐसा लगता है कि प्रदेशभर में इस योजना के माध्यम से आवास लेने की लोगों में होड़ लग गई है. आकर्षक लोकेशनों पर सभी मूलभूत सुविधाओं के साथ 50 फीसदी तक की छूट पर 13 वर्ष की आसान मासिक किश्तों में आवास मिलना किसी के लिए भी एक सपने से कम नहीं है. 

किश्तों में आवास योजना से अब तक ऐसे हुई नीलामियां: 
- पहले बुधवार को 381 सम्पत्तियां बिकीं, जिससे 58 करोड 22 लाख रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ. 
- दूसरे बुधवार को 320 सम्पत्तियां बिकीं, जिससे 45 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ.
- तीसरे बुधवार को 257 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मंडल को 34 करोड़ रूपये का राजस्व मिला.
- इस बुधवार को 255 सम्पत्तियां बिकीं और मंडल ने 41 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त किया. 

बंगला खाली करने के नोटिस के बाद लखनऊ शिफ्ट होंगी प्रियंका गांधी, हो चुकी व्यवस्था !  

हाउसिंग बोर्ड की किश्तों में आवास योजना में सिर्फ जयपुर या अन्य बड़े शहरों में ही नहीं बल्कि छोटे कस्बों में भी अच्छी संख्या में मकानों की नीलामी हो रही है. कोरोना काल मे भी आवासों की नीलामी से अपना ही विश्व रिकॉर्ड तोड़कर नया विश्व रिकॉर्ड स्थापित कर बोर्ड ने रियल एस्टेट जगत में अपनी बादशाहत लंबे समय तक कायम रखने के संकेत दे दिए हैं.

...फर्स्ट इंडिया के लिए शिवेंद्र परमार की रिपोर्ट

VIDEO: RCA चुनाव के आठ महीने बाद हुआ नए दफ्तर का उद्घाटन

जयपुर: राजस्थान क्रिकेट संघ के चुनाव के आठ महीने बाद आज संघ के नए दफ्तर का उद्घाटन हुआ. आरसीए एकेडमी में बने इस दफ्तर का आरसीए अध्यक्ष वैभव गहलोत ने अपनी बेटी काश्विनी से उद्घाटन करवाया गया. हवन व पूजा के बाद शुरू हुए दफ्तर से ही अब प्रदेश की क्रिकेट संचालित होगी. 

ऋण पर्यवेक्षक के 300 रिक्त पदों पर शीघ्र होंगी भर्ती- सहकारिता मंत्री  

पुराने दफ्तर को माना जाता है अपशकुनी:  
पिछले साल अक्टूबर में हुए rca चुनाव के बाद पदाधिकारी पुराने दफ्तर में इसलिए नहीं बैठे क्योकि इस दफ्तर को अपशकुनी माना जाता है. उस दफ्तर में बैठने के बाद हमेशा पदाधिकारियों में विवाद होता रहा है. ऐसे में RCA अध्यक्ष ने नए दफ्तर बनाने फैसला किया. ऐसे में rca एकेडमी की तीसरी मंजिल पर नया दफ्तर बनाया गया. पहले तय हुआ था कि BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली इसका उद्घाटन करेंगे लेकिन कोरोना संकट के कारण संभव नहीं हो पाया. आज फिर rca के दफ्तर का उद्घाटन कर दिया गया. नव निर्मित कार्यालय के उद्घाटन के दौरान आरसीए अध्यक्ष वैभव गहलोत, सचिव महेन्द्र शर्मा, उपाध्यक्ष अमीन पठान,संयुक्त सचिव महेन्द्र नाहर, कोषाध्यक्ष केके निमावत, कार्यकारिणी सदस्य देवाराम चौधरी, मंत्री लालचंद कटारिया, विधायक बलजीत यादव,कांग्रेस नेता धर्मेन्द्र राठौड़ और बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल सहित जिला क्रिकेट संघों के सभी सचिव भी मौजूद रहे. नए दफ्तर में आने से पहले वैभव ने विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के निवास पर जाकर उनका आशीर्वाद लिया. 

- आरसीए के नए कार्यालय का हुआ उद्घाटन
- वैभव गहलोत ने बेटी काश्विनी से करवाया उद्घाटन
- उद्घाटन से पहले सीपी जोशी का आशीर्वाद लिया वैभव ने
- आरसीए कार्यकारिणी के पदाधिकारी रहे मौजूद
- सभी पदाधिकारियों के लिए बने अलग अलग चैम्बर
- मंत्री लालचंद कटारिया,कांग्रेस नेता धर्मेन्द्र राठौड़ भी रहे मौजूद

नये कार्यालय के उद्घाटन के बाद आरसीए अध्यक्ष वैभव गहलोत ने ने कहा कि कोरोना के चलते तीन महीने से कार्यालय का उद्घाटन रुका हुआ था, लेकिन अब उद्घाटन हो गया है साथ ही अब सभी पदाधिकारी नियमित रूप से कार्यालय आएंगे. रुके हुए खेलों को बढ़ाने के साथ ही नये स्टेडियम को लेकर की जा रही तैयारियों को भी अब गति देने की शुरूआत की जाएगी. तीन जुलाई को संघ की कार्यकारिणी मीटिंग भी होगी, जिसमे चयन समिति पर भी फैसला होगा. 

अनोखी शादी में वर-वधु ने सात फेरे लेने के बाद लिया आठवां फेरा, पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश 

वैभव ने करीब 5 घंटे तक पदाधिकारियों के साथ समय बिताया:
आरसीए उपाध्यक्ष अमीन पठान ने भी विधिवत रूप से आज अपने कार्यालय में पदभार संभाल लिया. पठान ने कहा कि फिर से समय आ गया है की राजस्थान के क्रिकेट को आगे बढ़ाया जाए, पूरी कार्यकारिणी मिलकर अब सिर्फ खेलों के विकास पर ही काम करेगी,,," नए दफ्तर में बैठने के बाद वैभव ने करीब 5 घंटे तक पदाधिकारियों के साथ समय बिताया. अब उन्होंने स्टेडियम के ड्रीम प्रोजेक्ट को पूरा करने का बीड़ा उठाया है.  

चाय में नशीला पदार्थ पिलाकर युवती से दुष्कर्म, अश्लील वीडियो बनाने का भी आरोप

चाय में नशीला पदार्थ पिलाकर युवती से दुष्कर्म, अश्लील वीडियो बनाने का भी आरोप

जयपुर: शहर के बगरू थाना इलाके में चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर युवती के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है. बगरू थानाप्रभारी बृजभूषण अग्रवाल ने बताया कि एक युवती की ओर से दुष्कर्म की शिकायत दी गयी है. शिकायत में पीड़िता ने बताया कि उसके साथ में मार्केटिंग का काम करने वाले विकास शर्मा ने उसे काम के बहाने एक फाइल लेकर के ओमेक्स सिटी स्थित फ्लेट में बुलाया. 

ऋण पर्यवेक्षक के 300 रिक्त पदों पर शीघ्र होंगी भर्ती- सहकारिता मंत्री 

नशीला पदार्थ पिलाकर किया दुष्कर्म: 
इस दौरान आरोपी विकास शर्मा ने उसे चाय में नशीला पदार्थ पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और अश्लील वीडियो बना लिये.  घटना के बाद आरोपी ने युवती को अश्लील वीडियो दिखाकर ब्लैकमेल किया और उससे रुपये भी एंठ लिये.  पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर युवती का मेडिकल करवाया है. बगरू पुलिस मामले की जांच करते हुए आरोपी विकास की तलाश कर रही है. 

अनोखी शादी में वर-वधु ने सात फेरे लेने के बाद लिया आठवां फेरा, पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश 

ऋण पर्यवेक्षक के 300 रिक्त पदों पर शीघ्र होंगी भर्ती- सहकारिता मंत्री

ऋण पर्यवेक्षक के 300 रिक्त पदों पर शीघ्र होंगी भर्ती- सहकारिता मंत्री

जयपुर: सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा कि ऋण पर्यवेक्षकों के रिक्त पदों पर राजस्थान सहकार भर्ती बोर्ड के माध्यम से भर्ती प्रक्रिया पूरी की जाए. इससे करीब 300 पदों पर नियुक्ति होगी जिससे बैंकों की कार्य प्रणाली में और गति आएगी. उन्होंने कहा कि केन्द्रीय सहकारी बैंकों के ऋण पर्यवेक्षकों के रिक्त पदों की सूची मंगवाकर भर्ती प्रक्रिया को शीघ्र संम्पन्न करें. 

अनोखी शादी में वर-वधु ने सात फेरे लेने के बाद लिया आठवां फेरा, पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश 

धारा-55 की जांच के लिए निश्चित समय तय किया जाए:
आंजना बुधवार को शासन सचिवालय के मंत्रालय भवन में सहकारिता विभाग से जुड़े अधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि कई प्रकरणों में धारा- 55 में होने वाली जांच तथा जांच परिणाम वर्षो से लंबित है इससे अपेक्षित कार्यवाही नही हो पाती है उन्होंने कहा कि सहकारिता अधिनियम की धारा-55 में होने वाली जांच के लिए एक निश्चित समय तय किया जाए और यदि किसी कारणवश जांच में देरी हो रही है तो कारणों सहित सक्षम अधिकारी से अवधि बढ़ाने की अनुमति ली जाए. 

तालाब में डूबने से 3 बच्चों की मौत, भैंसों को निकालते समय हुआ हादसा 

नए किसानों को भी फसली ऋण का वितरण किया जाए:
सहकारिता मंत्री ने कहा कि और नए किसानों को भी फसली ऋण का वितरण किया जाए ताकि उन्हें शून्य प्रतिशत पर फसली ऋण का लाभ मिल सके. उन्होंने निर्देश दिए कि समर्थन मूल्य पर आगामी खरीद में भारत सरकार द्वारा दिए गए खरीद लक्ष्य के अनुरूप ही किसानों के पंजीयन किये जाए. उन्होंने निर्देश दिए कि उपज रहन ऋण में प्रभावी मॉनिटंरिग करें. सहकारिता मंत्री ने निर्देश दिए कि व्यवस्थापकों के कैडर की प्रक्रिया को शीघ्रता से संम्पन्न करें.  

सहकारी बैंकों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के परिवीक्षा वेतन में की वृद्धि

सहकारी बैंकों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के परिवीक्षा वेतन में की वृद्धि

जयपुर: सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने बताया कि सहकारी बैंकों की सीधी भर्ती से नियुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों तथा अनुकम्पा से नियुक्त कर्मचारियों को परिवीक्षा अवधि में देय नियत पारिश्रमिक में दुगुने तक की वृद्धि की गई है. उन्होंने बताया कि इस वृद्धि से 4 संवर्ग वरिष्ठ प्रबंधक, प्रबंधक, बैंकिग सहायक एवं चुतर्थ श्रेणी कर्मचारियों को लाभ मिलेगा. संशोधित नियत वेतन 1 जुलाई, 2020 से लागू होगा.

अजमेर के गुरुजी की रासलीला आयी सामने, परीक्षा देने गई नाबालिग छात्रा को घर ले जाकर की अश्लील हरकत 

आंजना ने बताया कि इस निर्णय से राजस्थान राज्य सहकारी बैंक लि. (अपेक्स बैंक) तथा जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक लि. में नियुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को लाभ मिलेगा. साथ ही ऐसे अधिकारी एवं कर्मचारी जिनका परिवीक्षा काल पूरा नहीं हुआ है वो भी इस दायरे में आएंगे. रजिस्ट्रार सहकारिता नरेश पाल गंगवार ने बताया कि परिवीक्षा के दौरान चुतर्थ श्रेणी कर्मचारी का वेतन प्रतिमाह 4850 से बढ़ाकर 10640 रूपये, बैंकिग सहायक का वेतन 8910 से बढ़ाकर 11950, प्रबंधक का वेतन 14660 से बढ़ाकर 23860 तथा वरिष्ठ प्रबंधक का वेतन 22180 से बढ़ाकर 30680 रूपये किया गया है. इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए है. 

VIDEO: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दी चिकित्सा जगत को बड़ी सौगात, 108 भवनों का किया शिलान्यास 

VIDEO: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दी चिकित्सा जगत को बड़ी सौगात, 108 भवनों का किया शिलान्यास

जयपुर: डॉक्टर्स डे के अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज प्रदेश में 108 चिकित्सा संस्थानों के भवनों का शिलान्यास किया. लोकार्पण कार्यक्रम वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए किया गया. इस दौरान सीएम गहलोत ने कहा कि कोरोना के कारण 108 भवनों का शिलान्यास वीसी के माध्यम से करना पड़ा है. कोरोना के कारण जीवन जीने की आदतें भी बदली है. सीएम ने कहा कि लॉकडाउन खोलने के बावजूद रेस्टोरेंट और होटल खाली पड़े हैं. 

कोरोनिल विवाद पर बाबा रामदेव की सफाई, कहा- हमने क्लीनिकल ट्रायल नियमों का पालन किया 

कोरोना के दौर में लोगों की सोच बदल गई: 
सीएम गहलोत ने चिकित्सा जगत को बड़ी सौगात देते हुए कहा कि प्लेग से लाखों लोग मार गए. कोरोना के दौर में लोगों की सोच बदल गई. आजीविका के बगैर जीवन नहीं बचा सकते. ऐसे में रोजाना कमाने वाले मजदूरों पर संकट है. मुख्यमंत्री ने एक बार फिर भीलवड़ा मॉडल के बारे में बात करते हुए कहा कि इसकी देश-दुनिया में तारीफ हो रही है. कई राज्य नाम बदलकर हमारा मॉडल अपना रहे है. लेकिन हमें आगे भी कोरोना की गाइडलाइन का पालन करना होगा. चिकित्सा संस्थानों के भवनों के लोकार्पण-शिलान्यास कार्यक्रम में चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा, चिकित्सा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग, CS डीबी गुप्ता और ACS मेडिकल रोहित कुमार सिंह भी मौजूद रहे.  

यहां-यहां हुआ चिकित्सा संस्थानों के भवनों का लोकार्पण-शिलान्यास कार्यक्रम: 

- सर्वाधिक 20 भवनों का शिलान्यास किया जाएगा जोधपुर जिले में
- इसके अलावा अजमेर में तीन भवनों का लोकार्पण, एक शिलान्यास
- भीलवाड़ा में 9 लोकार्पण, एक भवन का किया जाएगा शिलान्यास
- अलवर में 2 भवनों का लोकार्पण, एक शिलान्यास, दौसा में 3 लोकार्पण
- चित्तौड़गढ़ में 5भवनों का लोकार्पण, जयपुर प्रथम में 1 लोकार्पण-2 शिलान्यास
- जालोर में 2, बाड़मेर में 6 भवनों का लोकार्पण, पाली में 7 भवनों का लोकार्पण
- जैसलमेर में एक, जयपुर द्वितीय में 5, नागौर में 9, बूंदी में 2, सवाईमाधोपुर में 2
- सीकर में 5, झुंझुनूं में 4, कोटा में 3, झालावाड़ में एक भवन का लोकार्पण
- इसके अलावा बीकानेर में 1 लोकार्पण, 2 शिलान्यास, टोंक में 2 भवनों का शिलान्यास
- श्रीगंगानगर में एक,भरतपुर में दो, डूंगरपुर में दो भवनों का किया जाएगा शिलान्यास

Doctor's Day Special: वॉरियर की भूमिका में धरती के भगवान ! 

Doctor's Day Special: वॉरियर की भूमिका में धरती के भगवान !

जयपुर: डॉक्टर्स और मरीज के बीच अटूट रिश्ता है. आए दिन डाक्टरों की हड़ताल और मारपीट की घटनाओं के चलते पिछले कुछ समय से भले ही इस सोच में बदलाव आ रहा हो, लेकिन कोरोना काल में चिकित्सकों का नया रूप सामने आया है. धरती का भगवान कहे जाने वाले चिकित्सक अब कोरोना वॉरियर की भूमिका में है. हो भी क्यों नहीं. दुनियाभर में जिस बीमारी का खौफ, उससे हमारे चिकित्सक न सिर्फ लड़ाई लड़ रहे हैं, बल्कि राजस्थान में काफी हद तक इस जानलेवा वायरस को हराने में कामयाब भी हुए है. डॉक्टर्स डे के मौके पर सूबे के सबसे बड़े एसएमएस अस्पताल के उन्हीं पर्दे के पीछे के वॉरियर्स से खास बातचीत की हमारे संवाददाता विकास शर्मा ने...

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सीआरपीएफ के काफीले पर आतंकी हमला, एक जवान शहीद, एक नागरिक की भी मौत 

1....डॉ सुधीर भण्डारी, प्राचार्य एसएमएस मेडिकल कॉलेज : कोरोना महामारी में एक मेडिकल लीडर की भूमिका में रहे....टीम वर्क के रूप में पहले एसएमएस में बेहतरीन व्यवस्थाएं की....पहली बार "हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन" समेत अन्य अलग-अलग दवाओं का कॉम्बेनेशन बनाकर कोरोना मरीजों पर ट्रायल की और काफी हद तक मरीज उससे ठीक भी हुए.....इसके अलावा न सिर्फ चिकित्सकीय क्षेत्र बल्कि रिसर्च में भी विशेष फोकस रखा....ताकि दूसरी जगहों पर भी कोरोना मरीजों उपचार मिल सके

2. डॉ अजीत सिंह, अति अधीक्षक एसएमएस अस्पताल : कोरोना और मौसमी बीमारियों के नोडल ऑफिसर, कोरोना से जुड़े मामलों की माइक्रो मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी

3. डॉ विशाल गुप्ता : प्रदेश के सबसे बड़े डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल आरयूएचएस के नोडल अधिकारी, एसएमएस और आरयूएचएस के बीच कॉर्डिनेशन की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी

4. डॉ मनीष शर्मा :  कोरोना रोकथाम के लिए गठित टॉस्क फोर्स के सदस्य, इसके साथ ही रेपिड रेस्पोस टीम के भी सदस्य....जे के लोन अस्पताल में कोरोना पीडित बच्चों के ट्रिटमेंट में महत्ती भूमिका

5. डॉ राजेन्द्र कराडिया : कोरोना सैम्पल के कलेक्शन से लेकर ट्रॉसपोटेशन का महत्वपूर्ण जिम्मा....लैब और आईपीडी के बीच कॉर्डिनेशन की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी

6. डॉ रीमा मीणा : कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए आईसीयू की व्यवस्था का जिम्मा, इसके साथ ही क्रिटिकल केयर मरीजों की मॉनिटरिंग का जिम्मा,

7. डॉ गोविन्द : मेडिसिन डिपार्टमेंट के रेजीडेंट, कोरोना महामारी के दौरान 24x7 ड्यूटी, हर परिस्थिति में वार्ड में मरीजों के बीच डटे रहे

डॉक्टर्स डे आज:
- बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री डा विधानचन्द्र राय की याद में मनाया जाता है डाक्टर्स डे
- राय एक सफल चिकित्सक थे, जिन्होंने अपना जीवन दूसरों की सेवा में बिताया
- लोगों की सेवा और देश के विकास की चाह उन्हें राजनीति में ले आई
- जनमानस में उनकी सेवाओं का ही प्रभाव रहा कि 1961 में राय को मिला भारत रत्न

Devshayani Ekadashi 2020 : चार माह योगनिद्रा में रहेंगे भगवान विष्णु, भूलकर भी ना करें ये काम 

Open Covid-19