पपीते का ज्यादा सेवन पहुंचा सकता है 'नुकसान'

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/07/23 06:35

नई दिल्ली। पपीता सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। यह एक लो कैलोरी फल है। पपीता पेट, हृदय और लीवर के रोगों और आंतों की कमजोरी को दूर करने में मददगार होता है। लेकिन इसका ज्यादा सेवन हमें परेशानी में डाल सकता है। 

गौरतलब है कि पपीते में विटामिन सी, विटामिन ए, पोटेशियम, कैल्शियम और आयरन भरपूर मात्रा में होते हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट कैरोटीनोइड जैसे कि बीटा-कैरोटीन का एक अच्छा स्रोत है। बीटा-कैरोटीन हमारी नजर की रक्षा करता है। इसके अलावा पपीते के पत्तों को डेंगू बुखार में भी काफी प्रभावी होते हैं। इसी के साथ साथ इस ऑलराउंडर फ्रूट के कुछ महत्वपूर्ण दुष्प्रभाव भी हैं। 

पपीते में काफी ज्यादा मात्रा में फाइबर पाया जाता है। यह कब्‍ज होने पर आपको फायदा दे सकता है। लेकिन इसका ज्यादा सेवन पेट खराब भी कर सकता है। पपीता ब्‍लड शूगर के लेवल को कम कर सकता है, जो डायबिटीज रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है। इसलिए मधुमेह के रोगियों को डॉक्टर पपीता नहीं खाने की सलाह देते हैं। पपीते में पपेन नाम का तत्व पाया जाता है जिससे एलर्जी होने की संभावना होती है। इसके अधिक मात्रा में सेवन से सूजन, चक्कर आना, सिरदर्द, चकत्ते और खुजली जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं। अत्यधिक मात्रा में पपीते का सेवन अस्थमा, कंजेशन और जोर जोर से सांस लेना जैसी विभिन्न श्वसन संबंधी विकार पैदा कर सकता है। 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in