अब बनेंगे संसदीय सचिव, मुख्यमंत्री गहलोत कर रहे नामों पर विचार

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/02/03 08:37

जयपुर। राजस्थान की कांग्रेस सरकार में संसदीय सचिवों के गठन पर मुहर लगने वाली है। 11 या 12 फरवरी को नये संसदीय सचिव बनाये जा सकते है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 4 से 5 संसदीय सचिव बनाने का निर्णय ले सकते है। 

लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस की गहलोत सरकार को जातीय और क्षेत्रीय संदेश देने की महत्ती आवश्यकता है। इसी कड़ी में नये संसदीय सचिव बनाये जाएंगे। राजस्थान में 80 के दशक से ही संसदीय सचिव बनाने की परम्परा शुरु हुई थी। इसके बाद से ही प्रत्येक सरकार में संसदीय सचिव बनाये जा रहे है। पिछली गहलोत सरकार में बहुमत को बैलेंस करने के लिये बीएसपी के विधायकों को संसदीय सचिव बनाया गया था। गहलोत अपनी मौजूदा सरकार को सियासी धार देने के लिये फरवरी के दूसरे हफ्ते में यह प्रयोग कर सकते है। कुछ नामों पर प्रमुखता से विचार हो रहा। हालांकि अभी यह तय है कि पहली बार बने विधायकों में से ही संसदीय सचिव बनाये जाएंगे, हालांकि कुछ चेहरे सैकंड टाइमर भी हो सकते है। 

यह बन सकते है संसदीय सचिव
-मुस्लिम कोटे से रामगढ़ से हाल ही मैं चुनाव जीती साफिया जुबेर खान को पद मिल सकता है।
-अन्य मुस्लिम चेहरों में फतेहपुर विधायक हाकम अली,जयपुर के विधायकों अमीन कागजी, रफीक खान के नाम की चर्चा है।
-सहरिया वर्ग से किशनगंज विधायक निर्मला सहरिया के नाम की चर्चा है।
-आदिवासी बैल्ट से प्रतापगढ़ विधायक रामलाल मीना और डूंगरपुर विधायक गणेश घूघरा के नाम की चर्चा।
-पचपदरा विधायक मदन प्रजापत का नाम भी चर्चा में
-चूरु के राजगढ़ से विधायक कृष्णा पूनिया का नम्बर लग सकता है
-जयपुर से बगरु विधायक गंगा देवी और जमवारामगढ़ विधायक गोपाल मीना के नाम की चर्चा

संसदीय सचिव गठन प्रक्रिया में महिला सशक्तीकरण की परिभाषा देखने को मिल सकती है। अभी तक गहलोत मंत्रीपरिषद में एक ही महिला को स्थान मिला है। लिहाजा संसदीय सचिव पॉलिटिक्स के जरिये युवा और महिला कार्ड को साधा जाएगा। साथ ही क्षेत्रीय स्तर पर सियासी प्रतिनिधित्व की जो कमी है उसे दूर करने के प्रयास होंगे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इसके जरिये सोशल इंजीनियरिंग को साधने का काम करेंगे। माना जा रहा कवायद से पहले कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट के साथ अशोक गहलोत की रणनीतिक और अंतिम चर्चा होगी। 
 फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

लोकसभा चुनाव को लेकर क्या है चौमूं की जनता का मूड

भारत ने दिखाई ताकत, वायुसेना का युद्धाभ्यास
पुलवामा हमले के बाद सहमा पाकिस्तान, LoC पर मची खलबली
आज की चर्चा प्रियंका गाँधी पर | Good Luck Tips
लंदन में लगे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे
2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर क्या है बूंदी की जनता का मूड | Janta Ka Mood
सवर्दलीय बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लिया प्रण !
पाकिस्तान प्रेम नवजोत सिंह सिद्धू को पड़ा भारी, कपिल के शो से हुए बाहर
loading...
">
loading...