Live News »

सरकारी अस्पताल में चिकित्सकों की कमी को लेकर मरीजों ने किया जमकर हंगामा

सरकारी अस्पताल में चिकित्सकों की कमी को लेकर मरीजों ने किया जमकर हंगामा

मकराना(नागौर): राजस्थान सरकार की अनदेखी के कारण मकराना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर मात्र दो चिकित्सक ही कार्यरत है. जबकि इस मकराना शहर की आबादी लगभग दो लाख के करीब है और यह एक मार्बल उद्योग से जुड़ा हुआ बड़ा शहर है. आज सुबह चिकित्सक योगेन्द्र कछुआ व रजत शर्मा अपने चेंबर में मरीजों के स्वास्थ्य की जांच कर रहे थे. इस दौरान भीड़ अनियंत्रित हुई. जिसको देखते हुए उन्होंने ओपीडी काउंटर बंद करवा दिया. ताकि भीड़ नियंत्रण में होने के बाद फिर से ओपीडी काउंटर शुरू करवाया जाए. इतने में घंटों से अपने नंबर के आने का इंतजार कर रही महिला एवं पुरुष मरीजों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया और स्थानीय जनप्रतिनिधियों व चिकित्सा विभाग को कोसते हुए खरी खोटी सुनाई.

मरीजों को उठानी पड़ रही परेशानी: 
वहीं मरीजों ने आरोप लगाते हुए कहा कि इतना विशाल बड़ा भवन होने के बाद भी यह अस्पताल राजनीतिक भेंट चढ़ा हुआ है. जिसकी वजह से यहां चिकित्सक के नहीं लग पा रहे हैं और गरीब मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. करीब 1 घंटे तक के महिलाओं ने हंगामा किया. जिसके बाद मकराना पुलिस के एएसआई श्रवण कुमार मय पुलिस जाब्ते के मौके पर पहुंचे. जिन्होंने आक्रोशित महिला व पुरुष मरीजों को समझाइश करते हुए ओपीडी काउंटर को फिर से शुरू करवाया. तब जाकर कोई मामला शांत हुआ. 

और पढ़ें

Most Related Stories

दो युवकों की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या, नामजद मामला दर्ज

दो युवकों की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या, नामजद मामला दर्ज

नागौर: जिले के मकराना उपखंड के गच्छीपुरा थाना अंतर्गत ग्राम कल्याणपुरा व रानीगांव के मध्य बीती रात दो युवकों की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. जिसको लेकर गच्छीपुरा थाने में नामजद हत्या का मामला दर्ज हुआ है. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डीडवाना नितेश कुमार आर्य ने बताया कि बीती रात कल्याणपुरा व रानीगांव के मध्य दो युवकों की हत्या हो जाने का मामला सामने आया था, जिस पर जिला पुलिस अधीक्षक डॉ विकास पाठक सहित पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे. जिन्होंने शव को बरामद कर राजकीय चिकित्सालय गच्छीपुरा की मोर्चरी में रखवाया था.

संदिग्ध परिस्थितियों में हुई महिला की मौत, ससुर पर रेप का आरोप लगाते हुए कराया था मामला दर्ज 

मृतकों व नामजद आरोपियों द्वारा की जा रही थी शराब पार्टी: 
पुलिस के अनुसार मृतकों व नामजद आरोपियों द्वारा बीती रात एक ढाबे पर शराब पार्टी की जा रही थी. जहां से मृतक के राजूराम मेघवाल व मुकेश नायक ढाबे से पैदल ही रवाना हो गए थे. शराब पार्टी के दौरान आरोपियों व मृतकों के मध्य आपसी विवाद हुआ था. जिसके बाद पैदल जा रहे दोनों मृतकों पर आरोपियों ने लाठियों व धारदार हथियारों से हमला कर दिया. इस दौरान दोनों युवकों की मौके पर ही मौत हो गई. फिलहाल पुलिस ने नामजद आधा दर्जन आरोपियों को हिरासत में ले लिया है और आरोपियों से पूछताछ की जा रही है. पुलिस शीघ्र ही मामले का खुलासा कर पाएगी. हालांकि दोनों शवों का पोस्टमार्टम हो चुका है, परिजनों द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की जा रही है. 

डकैत जगन गुर्जर के परिजनों ने जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, जेल में भूख हड़ताल करने का लगाया आरोप 

विवाहिता के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद लगाई फांसी, अधमरा छोड़ भागे आरोपी

विवाहिता के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद लगाई फांसी, अधमरा छोड़ भागे आरोपी

मकराना(नागौर): मकराना उपखंड के गच्छीपुरा थाना क्षेत्र के ग्राम गिंगालिया में एक विवाहिता के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद फांसी लगाने का मामला सामने आया है. पीड़िता के गले में गहरी चोट आई, पीड़िता ने परिजनों के साथ पुलिस मे रिपोर्ट दी है.

Rajasthan Corona Update: प्रदेश में कोरोना की चपेट में आने से 5वीं मौत, पॉजिटिव केस का आंकड़ा हुआ 210 

ननदोई ने किया जबरदस्ती दुष्कर्म:
जानकारी के मुताबिक बडू निवासी एक विवाहिता हाल निवासी गिगालिया ने रिपोर्ट पेश कर बताया कि 4 महीने पूर्व उसका विवाह हुआ था. विवाह के डेढ़ महीने बाद जब वह पीहर लौटी तो कुछ दिन रुकने के बाद उसका पति उसे 28 फरवरी 2020 को जोधपुर ले गया. जोधपुर जाने के बाद उसका पति उसके साथ शराब पीकर मारपीट करने लगा. कुछ दिनों पूर्व जब उसके पति किसी काम से बाहर गए हुए थे, तब उसके ननदोई सेठुराम ने जबरदस्ती उसके साथ बलात्कार किया. ननदोई ने उसका मुंह कपड़े से बांधकर बलात्कार किया. 

पीएम मोदी की अपील पर देशवासी आज रात जलाएंगे एक दीया, कोरोना के अंधकार से मिलेगा छुटकारा

शराब पीकर बारी बारी से किया दुष्कर्म:
21 मार्च 2020 को उसके पति ने कोरोनावायरस के डर  से विवाहिता को गांव छोड़ दिया. पति उसी दिन मेड़ता रोड तक ट्रेन से आए तथा उसके बाद मेड़ता से पैदल गांव गिंगालिया के लिए रवाना हो गए. उसी  समय उसके पति के परिचित जीतू जो गच्छीपुरा क्षेत्र का निवासी है वो भी आ गया. रास्ते में अंधेरा होने पर विवाहिता के पति और अन्य दो व्यक्तियों ने शराब पीकर उसके साथ में बारी-बारी से बलात्कार किया. विवाहिता ने बताया गांव आते समय ही उसके दूसरे नणदोई गड्डी निवासी मोतीराम मेघवाल ने माणवा गांव की नाड़ी में पति के साथ मिलकर रस्सी से उसका गला दबाया जिससे वह बेहोश हो गई. विवाहिता को मरा समझ कर सब वहां से भाग गये. सूचना पर विवाहिता के परिजनों ने उसे संभाला और उसका उपचार करवाया. स्वस्थ होने के बाद में पीड़िता ने पुलिस थाने में रिपोर्ट दी. पुलिस ने देर रात मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

डीडवाना से मकराना शादी में आए बारातियों पर फायरिंग, एक की मौत

डीडवाना से मकराना शादी में आए बारातियों पर फायरिंग, एक की मौत

मकराना(नागौर): मकराना शहर में मंगलवार रात्रि को एक सनसनीखेज घटना में बाइक पर सवार दो युवकों ने डीडवाना से मकराना आए छह बारातियों पर फायरिंग कर दी. घटना के समय पांच जने कार में सवार थे जबकि एक युवक पानी की बोतल खरीदने कार से बाहर निकला था. फायरिंग में कार से बाहर मौजूद बाराती की मौके पर ही मौत हो गई जबकि कार में सवार एक युवक घायल हो गया. ताबड़तोड़ फायरिंग की घटना देखकर मौके पर अफरातफरी मच गई. इस बीच आरोपी वहां से फरार हो गए. इत्तला मिलने पर थानाधिकारी जितेन्द्र सिंह चारण तुरंत मौके पर पहुंच गए एवं घायल व मृतक को सरकारी अस्पताल पहुंचाया. इत्तला मिलने पर उपखण्ड अधिकारी सैयद शीराज अली जैदी, बीसीएमओ डॉ. नरेन्द्र चौधरी अस्पताल पहुंच गए.

इटली से भारत आए 15 नागरिक कोरोना वायरस पॉजिटीव पाए गए, ईरान ने रिहा किए 54 हजार कैदी 

सभी छह जने स्विफ्ट कार से वापस डीडवाना जा रहे थे:
मामले के अनुसार शहर के इकबालपुरा इलाके में उमर समनीगर व अयूब समनीगर दोनों के एक-एक पुत्री की शादी थी जिसके लिए उमर के डीडवाना से एवं अयूब के बिदासर से बारात आई. डीडवाना से दूल्हे इमरान पुत्र रमजान समनीगर की बारात में उसके रिश्तेदार नवाब अली पुत्र इब्राहीम, फिरोज पुत्र मोहम्मद हुसैन, मो. असलम पुत्र मो. हुसैन, युसूफ पुत्र मो. हुसैन, फिरोज पुत्र रज्जाक व अबरार पुत्र इकरार भी आए थे. दिनभर शादी में मशगूल रहने के बाद में सभी छह जने स्विफ्ट कार से वापस डीडवाना जा रहे थे. कार को अबरार चला रहा था जबकि नवाब उसके साथ आगे की सीट पर बैठा था. बाकी के चार जने पीछे बैठे थे. रास्ते में रात्रि करीब 8:15 बजे वे पानी की बोतल खरीदने के लिए लगनशाह अस्पताल के पास रूके. इनमें फिरोज पुत्र मो. हुसैन कार से बाहर निकला. तभी पास में ही बाइक पर सवार दो युवकों में से एक ने पिस्तौल से फायरिंग कर दी. फिरोज के सिर में गोली लगी एवं वह अचेत होकर नीचे गिर गया जबकि कार में आगे की तरफ बैठे नवाब अली के गोली लगी.

धौलपुर में एक बार फिर चम्बल के बीहड़ों में डकैतों का मूवमेंट! खाद्य मंत्री रमेश मीना व विधायक मलिंगा को धमकी 

चालक अबरार व पीछे बैठे युवकों ने नीचे झुककर अपनी जान बचाई:
चालक अबरार व पीछे बैठे युवकों ने नीचे झुककर अपनी जान बचाई. पांच-छह राउण्ड फायर करने के बाद आरोपी बाइक स्टार्ट कर मौके से फरार हो गए. घटना देख रहे लोग भयभीत हो गए एवं वहां पर अफरातफरी का माहौल बन गया. प्रत्यक्षदर्शियों ने तुरंत पुलिस को सूचित किया जिस पर थानाधिकारी जितेन्द्र सिंह चारण मौके पर पहुंचे एवं फिरोज व नवाब को सरकारी अस्पताल पहुंचाया. अस्पताल में चिकित्सकों ने फिरोज को मृत घोषित कर दिया जबकि नबाब की गंभीरावस्था को देखते हुए उसे जयपुर रैफर कर दिया. 

मकराना में आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, मतदाता पर्ची के पीछे प्रत्याशी के नाम सहित चुनाव चिन्ह है छपे हुए मिले

मकराना में आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, मतदाता पर्ची के पीछे प्रत्याशी के नाम सहित चुनाव चिन्ह है छपे हुए मिले

मकराना(नागौर): मकराना में आज नगर परिषद के निकाय चुनाव को लेकर राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय मकराना के वार्ड संख्या 37 के मतदान केंद्र पर एक प्रत्याशी ने आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया है. जानकारी के अनुसार मतदाता पर्ची के पीछे सत्ताधारी पार्टी के प्रत्याशी के नाम सहित चुनाव चिन्ह छपे हुए मिले. इस मामले को लेकर निर्दलीय प्रत्याशी नौशाद अली ने सहायक रिटर्निंग अधिकारी दिनेश शर्मा को मामले से अवगत करवाया. जिस पर सहायक रिटर्निंग अधिकारियों ने मामले की जांच करते हुए उक्त पोलिंग पार्टी व मतदान केंद्र पर लगे कर्मचारियों को ऐसी पर्चियों को मतदान केंद्र में प्रवेश से नहीं करने के सख्त निर्देश दिए. 

प्रशासन से उचित कार्रवाई की मांग की: 
साथ ही मामले की जांच करवाने की बात भी कही. उधर निर्दलीय प्रत्याशी नौशाद अली ने सत्ताधारी पार्टी पर खुलेआम सत्ता का दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए आचार संहिता के उल्लंघन की बात कही है और प्रशासन से उचित कार्रवाई की मांग की है. वहीं एक मतदाता चांद मोहम्मद ने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी के कार्यकर्ता हमारे घर यहीं पर्ची देने आए थे. उसी पर्ची को लेकर हम मतदान करने के लिए मतदान के अंदर तक पहुंचे हैं. जिसके पीछे कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी का नाम व चुनाव चिन्ह अंकित है. 

मकराना में एटीएम लूट का हुआ प्रयास, अज्ञात आरोपियों ने तोड़े ताले

मकराना में एटीएम लूट का हुआ प्रयास, अज्ञात आरोपियों ने तोड़े ताले

मकराना(नागौर): मकराना शहर के अब्दुल सराय क्षेत्र में स्थिति बैंक ऑफ बड़ौदा के एटीएम के अज्ञात आरोपियों  ने ताले तोड़ते हुए लूट का प्रयास किया. जानकारी के अनुसार एटीएम कक्षा का सेफ्टी के पहले दरवाजे के ताले तोड़े गये. इसके बाद बैक रूम व पेटियां टूटी हुई मिली. सूचना पर बैंक ऑफ बड़ौदा के अधिकारी व एजेंसी के प्रतिनिधि मौके पर पहुंचे. वहीं मकराना पुलिस भी मौके पर पहुंची. बैंक के अधिकारियों व एजेंसी प्रतिनिधियों ने केस का मिलान किया, जिसमें केस सही पाया गया और किसके साथ किसी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं की गई. जबकि एटीएम में 11 लाख रूपये केस के रूप में रखे हुए थे. वहीं पुलिस ने घटनास्थल का बारीकी से मौका मुआयना करते हुए आरोपियों की तलाश शुरू कर दी. 

बैंक अधिकारियों ने किया केस का मिलान: 
बैंक अधिकारी सत्यवीर सिंह मीणा ने बताया कि एटीएम का पहला दरवाजा, बैकरूम तथा पेटियां टूटी हुई मिली. केस में कोई भी कमी नहीं पाई गई. एजेंसी के साथ मिलकर केस का मिलान किया जा चुका है.  एजेंसी प्रतिनिधि रामदेव ने बताया कि एटीएम में शुक्रवार को 11 लाख रुपये डाले गए थे. आज सुबह सूचना मिली कि एटीएम के ताले तोड़े गए हैं जिस पर बैंक के अधिकारियों के साथ एजेंसी के प्रतिनिधि भी मौके पर पहुंचे. जिन्होंने केस का मिलान किया है. केस में किसी प्रकार की आरोपियों ने छेड़छाड़ नहीं की है.

मकराना में एटीएम लूट का हुआ प्रयास, अज्ञात आरोपियों ने तोड़े ताले

मकराना में एटीएम लूट का हुआ प्रयास, अज्ञात आरोपियों ने तोड़े ताले

मकराना(नागौर): मकराना शहर के अब्दुल सराय क्षेत्र में स्थिति बैंक ऑफ बड़ौदा के एटीएम के अज्ञात आरोपियों  ने ताले तोड़ते हुए लूट का प्रयास किया. जानकारी के अनुसार एटीएम कक्षा का सेफ्टी के पहले दरवाजे के ताले तोड़े गये. इसके बाद बैक रूम व पेटियां टूटी हुई मिली. सूचना पर बैंक ऑफ बड़ौदा के अधिकारी व एजेंसी के प्रतिनिधि मौके पर पहुंचे. वहीं मकराना पुलिस भी मौके पर पहुंची. बैंक के अधिकारियों व एजेंसी प्रतिनिधियों ने केस का मिलान किया, जिसमें केस सही पाया गया और किसके साथ किसी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं की गई. जबकि एटीएम में 11 लाख रूपये केस के रूप में रखे हुए थे. वहीं पुलिस ने घटनास्थल का बारीकी से मौका मुआयना करते हुए आरोपियों की तलाश शुरू कर दी. 

बैंक अधिकारियों ने किया केस का मिलान: 
बैंक अधिकारी सत्यवीर सिंह मीणा ने बताया कि एटीएम का पहला दरवाजा, बैकरूम तथा पेटियां टूटी हुई मिली. केस में कोई भी कमी नहीं पाई गई. एजेंसी के साथ मिलकर केस का मिलान किया जा चुका है.  एजेंसी प्रतिनिधि रामदेव ने बताया कि एटीएम में शुक्रवार को 11 लाख रुपये डाले गए थे. आज सुबह सूचना मिली कि एटीएम के ताले तोड़े गए हैं जिस पर बैंक के अधिकारियों के साथ एजेंसी के प्रतिनिधि भी मौके पर पहुंचे. जिन्होंने केस का मिलान किया है. केस में किसी प्रकार की आरोपियों ने छेड़छाड़ नहीं की है.

मानव तस्करी गिरोह का भंडाफोड़, महिला सहित तीन आरोपी गिरफ्तार

मानव तस्करी गिरोह का भंडाफोड़, महिला सहित तीन आरोपी गिरफ्तार

मकराना(नागौर): मकराना उपखंड के गच्छीपुरा थाना पुलिस और मानव तस्करी विरोधी एवं गुमशुदा प्रकोष्ठ ने मानव तस्करी के एक सनसनीखेज मामले का खुलासा किया है. पुलिस ने इस मामले में आरोपी जस्साराम जाट और गीगाराम जाट के अलावा पंजाब के कोटकपुरा से मंजीत कौर को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि मंजीत कौर अंतरराज्यीय मानव तस्करी गिरोह से जुड़ी हुई है. जो पंजाब, हरियाणा व अन्य राज्यों से गरीब तबके की लड़कियों को काम-धंधा दिलाने के नाम पर फंसाती है और उन्हें बेच देती है. उसका गच्छीपुरा थाने के हिस्ट्रीशीटर गीगाराम से लंबे समय से संपर्क है. पुलिस का यह भी कहना है कि इस गिरोह से जुड़े अन्य लोगों को भी नामजद कर गिरफ्तार किया जाएगा. 

मजदूरी का बहाना करके बेच दिया: 
जानकारी के मुताबिक, पंजाब की एक महिला ने नागौर वृत्ताधिकारी तेजपालसिंह के समक्ष परिवाद पेश कर बताया था कि उसकी नाबालिग लड़की को पंजाब से मंजीत कौर ने मजदूरी का बहाना करके नागौर के हुडिया निवासी गीगाराम को बेच दिया. जिसने उसे बंदी बनाया हुआ है. इस पर मानव तस्करी विरोधी एवं गुमशुदा प्रकोष्ठ के प्रभारी बंशीलाल को मामले की जांच सौंपी गई. 

तीनों लड़कियों को बंधक बनाकर रखा गया: 
पुलिस टीम ने किशोरपुरा से लड़की को दस्तयाब किया. उसने पुलिस को बताया कि एक महीने पहले उसे और दो अन्य लड़कियों को मंजीत कौर, सतनाम सिंह और राजू गंगानगर में मजदूरी करवाने की बात कहकर लाए थे. वे उन तीनों को नागौर के हुडिया गांव लेकर आ गए. जहां गीगाराम के घर पर तीनों लड़कियों को बंधक बनाकर रखा गया. मौका पाकर दो लड़कियां वहां से भाग निकली. जबकि पीड़िता की आरोपियों ने 1.70 लाख रुपए लेकर हुडिया गांव के ही जस्साराम से जबरदस्ती शादी करवा दी. जस्साराम ने 20-25 दिन तक उससे दुष्कर्म करता रहा. 

मेडिकल करवाकर 164 के बयान दर्ज करवाए: 
पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस ने गच्छीपुरा थाने में मामला दर्ज करवाया और मेडिकल करवाकर 164 के बयान दर्ज करवाए. जिला बाल कल्याण समिति के आदेश पर पीड़िता को अजमेर नारी निकेतन भेजा गया है. 

Open Covid-19