मरीजों को नहीं मिल रहा दंत चिकित्सकों से पर्याप्त उपचार

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/06/02 10:57

चिड़ावा। अस्पताल में भामाशाहों ने पैसे लगा कर चिड़ावा अस्पताल का कायाकल्प किया ताकि मरीजों को इसका फायदा मिल सके। लेकिन इतना सब कुछ होते हुए भी यहां एक मर्ज ऐसा रह गया जिसका अब तक इलाज नहीं हो पा रहा है। चिकित्सा महकमे के जिले के आला अफसरों के आदेश भी यहां के प्रशसन के आगे बौने साबित हो रहे है। 

चिड़ावा का राजकीय अस्पताल इन दिनों फिर विवादों में है। इस बार मामला दंत चिकित्सा सेवा से जुड़ा है। जी हां अस्पताल में कहने को तो दांतों के मर्ज का इलाज करने के लिए 2 चिकित्सक प्रेरणा शर्मा और तरुण शर्मा को लगा रखा है। लेकिन मशीन और उपकरण होने के बावजूद उपयोग नहीं कर पाने से इनका पूरा फायदा मरीजों को नहीं मिल पा रहा। आपको बता दे की डेंटल चेयर अस्पताल में एक साल पहले आ गयी थी जो अब तक धूल फांक रही है। वही पिछले माह दंत चिकित्सा के उपकरण भी आ गए लेकिन 26 नंबर कमरे में लगा दिए गए जो आज तक इस्तेमाल नहीं हुआ। डॉक्टर तरुण शर्मा ने बताया की 26 नंबर कमरा इतना छोटा है की उसमे ना तो मरीज बैठ सकते है और ना ही चिकित्सक ठीक से उपचार कर सकते है।

चिकित्सको की परेशानी को देखते हुए झुंझुनूं सीएमएचओ ने आदेश जारी कर 26 नंबर कमरे की जगह 5 नंबर कमरे में शिफ्ट करने के आदेश दिए लेकिन अस्पताल प्रभारी सुमित्रा ओला आदेशों की धज्जियां उड़ा रही है। इस सम्बन्ध में दोनों दंत चिकित्सको ने आवंटित रूम के लिए कई बार अस्पताल प्रभारी को पत्र लिखा लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। फिलहाल ये मामला अधर झूल में है। सीएमएचओ सहित अन्य आला अधिकारियों के आदेश के बावजूद स्थानीय प्रशासन आदेशों की पालना नहीं कर रहा और मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं में रोड़ा अटका रखा है। 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

संबंधित ख़बरे

Most Related Stories

Stories You May be Interested in