Live News »

चाकसू में पायल हत्याकांड का खुलासा, पेन चोरी को लेकर शुरू हुई पूरी कहानी

चाकसू में पायल हत्याकांड का खुलासा, पेन चोरी को लेकर शुरू हुई पूरी कहानी

जयपुर: जयपुर कमिश्नरेट की चाकसू थाना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए 11 दिसंबर को हुई 12वर्षीय बालिका की हत्या मामले का पर्दाफाश कर दिया. पुलिस ने हत्या के आरोप में मृतका की सहेली को निरूद्व कर लिया वही उसके माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया. दरअसल पूरी कहानी एक पेन की चोरी को लेकर हुई थी. 

मामूली बात को लेकर सहेली ने की हत्या: 
क्या आप क्या आप सोच सकते हैं कि पेन चोरी जैसी मामूली बात को लेकर एक सहेली अपनी दूसरी सहेली की हत्या कर देगी. जी हां कुछ ऐसा ही कुछ खुलासा हुआ है चाकसू थाना इलाके में 12 वर्षीय बालिका की हत्या मामले में. दरअसल 12 वर्षीय बालिका अपने घर से 11 दिसंबर को लापता हो गई थी और 12 दिसंबर की सुबह इलाके के एक जंगल की झाड़ियों में उसका रक्तरंजित शव मिला था. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू की. हालांकि शुरुआती दौर में पुलिस को लग रहा था की बालिका के साथ पहले दुष्कर्म किया गया है और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई है...और इसी सोच के चलते ग्रामीण वासियों में भी इस घटना को लेकर काफी आक्रोश था. लेकिन जैसे ही पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आई पुलिस अधिकारी समझ गए कि बालिका के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ बल्कि उसकी किसी कारणवश हत्या की गई है. जांच को आगे बढ़ाते हुए पुलिस ने घटनास्थल के आसपास के सभी मकानों को चेक करना शुरू किया और एक मकान में बालिका के कान की एक बाली मिल गई और मामले का पूरा खुलासा हो गया. 

लोहे की रॉड से किया ताबड़तोड़ हमला:
बालिका के हत्या मामले का पर्दाफाश करते हुए अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अशोक कुमार गुप्ता ने बताया कि जांच करते हुए जब पुलिस उस मकान में पहुंची जहां पर मृतका के कान की बाली मिली थी तो सारा मामला साफ हो गया. दरअसल मृतका  के साथ उसी की कक्षा में एक अन्य लड़की भी पढ़ती थी जिससे उस दिन पेन चोरी की बात को कहासुनी हुई थी. वहां से तो दोनों सहेलियां अपने अपने घर चले गई. लेकिन शाम को पायल एक बार फिर अपने घर से निकल कर दूसरी बालिका को उलाहना देने उसके घर पहुंच गई उस समय घर पर और कोई मौजूद नहीं था जिस कारण पहले तो दोनों बालिकाओं में हाथापाई हुई और बाद में दूसरी लड़की ने लोहे की रॉड लेकर पायल के सिर पर और पसलियों पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया जिससे कि पायल की मौके पर ही मौत हो गई. घटना के बाद घबराई बालिका ने मृतका के शव को एक कमरे में छुपा दिया. लेकिन जब शाम को आरोपी लडकी की मां वापिस लौटी तो उसने अपनी माता को सारी कहानी बता दी. सारी बात सुनने के बाद मां ने अपनी बेटी को बचाने के लिए मृतका के शव को एक बोरे में डालकर घर के पास बने एक तालाब में डाल दिया और वापिस अपने घर आ गए. जब रात को लडकी का पिता घर आया तो दोनो ने इस पूरी घटना के बारे में बताया. तब जाकर पिता ने मृतका के शव को तालाब से निकालकर गांव के पास है जंगल में डाल दिया. 

आरोपी बालिका को निरूद्व कर माता-पिता को किया गिरफ्तार:
बहरहाल पुलिस ने इस सनसनीखेज मामले का पुरानी पुलिसिंग का उपयोग करते हुए पर्दाफाश कर दिया और आरोपी बालिका को निरूद्व करते हुए उसके माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया. हालांकि मामले का पर्दाफाश हो चुका है लेकिन इस घटना ने यह तो उजागर कर दिया कि आजकल के विद्यार्थियों में समझने और सहन करने की कितनी क्षमता है ऐसे में पुलिस के आला अधिकारियों ने लोगों से अपील की है कि वह इस भागदौड़ भरी जिंदगी में कुछ समय अपने बच्चों के साथ भी बिताए. जिससे कि वे अपने बच्चों की मन की भावना को समझ सके और इस प्रकार की घटना को रोका जा सके.

...फर्स्ट इंडिया न्यूज़ के लिए सत्यनारायण शर्मा की रिर्पोट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in