जयपुर पेगासस जासूसी कांड: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के इस्तीफे और मामले की न्यायिक जांच की मांग को लेकर राजस्थान कांग्रेस ने किया धरना प्रदर्शन

पेगासस जासूसी कांड: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के इस्तीफे और मामले की न्यायिक जांच की मांग को लेकर राजस्थान कांग्रेस ने किया धरना प्रदर्शन

जयपुर: पेगासस जासूसी कांड को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के इस्तीफे और मामले की न्यायिक जांच की मांग करते हुए प्रदेश कांग्रेस ने गुरुवार को यहां राजभवन का सांकेतिक घेराव करते हुए धरना प्रदर्शन किया. धरने में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित बड़ी संख्या में मंत्री, विधायक एवं कार्यकर्ता शामिल हुए.

डोटासरा ने केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी ने सत्ता में आने से पहले जो वादे किए थे, उनमें से वे एक पर भी खरे नहीं उतरे. उन्होंने इस जासूसी कांड को संविधान में प्रदत्त निजता के अधिकार का उल्लंघन बताया और गृहमंत्री शाह के इस्तीफे तथा मामले की न्यायिक जांच की मांग दोहराई.

केंद्र सरकार ने सबके ऊपर जासूसी बैठा दी:
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने सबके ऊपर जासूसी बैठा दी, किसी को नहीं बख्शा गया. संविधान में अधिकार दिया गया है कि निजता का हनन नहीं होना चाहिए. कंपनी केवल सरकार को ही वह सॉफ्टवेयर बेचती है. इसके साथ ही डोटासरा ने कहा कि लोग जब देश को आजाद करवाने में लगे थे तब आरएसएस के लोग मुखबिरी कर रहे थे. 

राजभवन पर घेराव के समय पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया:
वहीं राजभवन पर घेराव के समय पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया. एनएसयूआई और यूथ कांग्रेस कार्यकर्ता बेरीकेड पर चढ़ गए थे. इस दौरान पुलिस ने उन्होंने सिविल लाइंस फाटक को पार करने से रोका. इस दौरान रेलमपेल, धक्का मुक्की में सोशल डिस्टेंस की भी धज्जियां उड़ती दिखी. इसके साथ ही पीसीसी सचिव जसवंत गुर्जर का मोबाइल खो गया. 

और पढ़ें