किसान ऋण माफी की घोषणा में देरी से पायलट चिंतित

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/19 02:51

जयपुर। सोमवार को तीन राज्यों में कांग्रेसी मुख्यमंत्रियों के शपथ लेते ही मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में किसानों का कर्जा माफ कर घोषणा पत्र में किए अपने वादे को पूरा कर दिया। लेकिन राजस्थान के किसान को अभी तक कर्ज माफी का इंतजार है। राज्य के उप मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट भी हो रही इस देरी से चिंतित है । आज सुबह पत्रकारों के सामने पायलट ने अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ पहले ही घोषणा हो चुकी है ऐसे में राजस्थान को घोषणा में देरी नही करनी चाहिए। 

बता दें कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री की कमान संभालते ही कमलनाथ ने अपने वादे को पूरा करते हुए किसानों की कर्जमाफी की फाइल पर दस्तखत कर दिए । वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बनते ही भूपेश बघेल ने भी दो घंटे में ही किसानों की कर्ज माफी की फाइल पर दस्‍तखत कर दिए। अगर राजस्थान की बात करें तो मंत्रिमंडल बनने के बाद किसान कर्ज माफी की राह खुलने की संभावना लगाई जा रही है । 

हालांकि, गहलोत के शपथ लेते ही प्रशासन कर्जमाफी को लेकर हरकत में आ गया। सीएस डीबी गुप्ता ने भी कर्जमाफी को लेकर अधिकारियों के साथ चर्चा की है। सरकार ने भी बैंकों के किसानों पर बकाया कर्ज के आंकड़े मांगे है। ऐसा बताया जा रहा है कि अफसरों के पास सिर्फ पांच करोड़ रूपए तक की वित्तीय मंजूरी का अधिकार है। आगे की फायल वित्त मंत्री के पास जाती है । ऐसे में सरकार को बजट में एडिशनल स्वीकृति लेनी होगी, जिसकी मंजूरी कैबिनेट ही देगी।

गौरतलब है कि कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया और इसे अपने जन घोषणा पत्र में भी शामिल किया था। इसमें सरकार गठन होने के 10 दिन के भीतर कर्ज माफी की बात कही गई थी। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in