Live News »

पुलिस ने स्मैक तस्करी में एक महिला सहित चार को किया गिरफ्तार

पुलिस ने स्मैक तस्करी में एक महिला सहित चार को किया गिरफ्तार

जयपुर: प्रदेश में ड्रग्स की तस्करी बढ़ती जा रही है. अब तो महिलाएं भी तस्करी में शामिल हो रही है. शिवदासपुरा पुलिस ने स्मैक की तस्करी कर रहे 4 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमे एक महिला तस्कर शामिल है. तस्करों से करीब 10 ग्राम स्मैक बरामद की गयी है जिसकी कीमत करीब साढ़े 5 लाख रुपये बतायी जा रही है. 

विधानसभा में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के क्लेम राशि को लेकर जमकर हुआ हंगामा 

शक नहीं होने के लिए महिला को रखते थे साथ:
शिवदासपुरा पुलिस ने बताया कि तस्कर पुलिस से बचने के लिए तस्करी के नये नये तरीके अपना रहे हैं. पुलिस को तस्करों पर शक ना हो इसके लिए महिला को साथ में लेकर महंगी गाड़ियों में तस्करी करते है. पुलिस को सूचना मिली थी कि टोंक रोड़ के जरिये स्मैक जयपुर में लायी जा रही है. जिस पर पुलिस ने शिवदासपुरा टोल के पास नाकाबंदी कर सफारी कार को रोका जिसकी तलाशी ली गयी तो महिला मधु नरुका के पास 10 ग्राम स्मेक मिली. 

VIDEO: मंत्री प्रताप सिंह का बड़ा बयान, सीएम और मंत्री की इच्छा के बिना एसीबी कोई कार्रवाई नहीं करती 

जयपुर में मादक पदार्थों को रोकथाम के लिए अभियान जारी:
पुलिस ने महिला के साथ 3 अन्य तस्कर दीपक चौधरी, भगवान सहाय व निक्की मीणा को गिरफ्तार किया है. शिवदासपुरा पुलिस का कहना है ऑपरेशन क्लीन स्वीप के जरिये जयपुर में मादक पदार्थों को रोकथाम के लिए अभियान जारी है जिसके तहत शिवदासपुरा पुलिस ने इस साल की ये पांचवी कार्रवाई की है. गिरफ्तार तस्करों से पुलिस की पूछताछ जारी है.

और पढ़ें

Most Related Stories

मुख्यमंत्री गहलोत का बड़ा फैसला, बिजली और पानी के 2 माह के बिल किए स्थगित 

जयपुर: प्रदेश की गहलोत सरकार कोरोना वायरस को लेकर गंभीर है. इसलिए हर रोज सीएमआर में बैठकों का दौर जारी है. गुरुवार को भी सीएमआर में बैठक हुई. बैठक में चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, बीडी कल्ला और लालचंद कटारिया मौजूद रहे. इस बैठक में प्रदेश की गहलोत सरकार ने बडा फैसला​ लिया है. गहलोत सरकार ने कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से त्रस्त आजमन को बडी राहत दी है. गहलोत सरकार ने बिजली और पानी के 2 माह के बिल स्थगित किए है. 

भाजपा ने उठाई मांग, आम आदमी की स्थिति ठीक नहीं, 3 महिने के बिजली और पानी के बिल हो माफ

कई महत्वपूर्ण निर्णय किए:
सीएम गहलोत ने ट्वीट करके बताया कि औद्योगिक प्रतिष्ठानों, किसानों एवं घरेलू उपभोक्ताओं के विद्युत एवं पानी के बिलों का भुगतान स्थगित करने, कृषि गतिविधियों के लिए किसानों को सहायता प्रदान करने जैसे कई फैसले लेकर प्रदेशवासियों को बड़ी राहत दी है.कोरोना महामारी के कारण आए संकट से किसानों, उद्योगों एवं आमजन को संबल प्रदान करने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय किए हैं.

प्रतापगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किए 3 इनामी शूटर, हत्या के आरोप में चल रहे थे फरार

5 प्रतिशत छूट दी जाएगी:
कोरोना संकट की वजह से घरेलू उपभोक्ताओं को विद्युत बिलों के भुगतान में आ रही परेशानी को देखते हुए राज्य सरकार ने 150 यूनिट प्रतिमाह तक उपभोग करने वाले उपभोक्ताओं के मार्च एवं अप्रेल माह के बिलों का भुगतान स्थगित करने का निर्णय किया है. कृषि एवं घरेलू श्रेणियों के सभी उपभोक्ता 31 मई, 2020 तक बिलों का भुगतान करेंगें तो उन्हें आगामी बिल में भुगतान की गई राशि की 5 प्रतिशत छूट दी जाएगी.

उपभोक्ता जून माह में कर सकेंगे भुगतान:
सभी श्रेणियों के उपभोक्ताओं को यह राहत देने के लिए राज्य सरकार करीब 650 करोड़ रूपए डिस्कॉम्स को उपलब्ध करवाएगी.राज्य के समस्त आम उपभोक्ताओं को पेयजल बिलों के भुगतान से राहत प्रदान करते हुए मार्च माह एवं अप्रेल माह के बिलों का भुगतान स्थगित किया गया है. इनका भुगतान उपभोक्ता जून माह में कर सकेंगे. इस निर्णय से करीब 100 करोड़ रूपए का राजस्व संग्रहण स्थगित होगा.

भाजपा ने उठाई मांग, आम आदमी की स्थिति ठीक नहीं, 3 महिने के बिजली और पानी के बिल हो माफ

भाजपा ने उठाई मांग, आम आदमी की स्थिति ठीक नहीं, 3 महिने के बिजली और पानी के बिल हो माफ

जयपुर: भारतीय जनता पार्टी ने मांग की है कि 3 दिनों से राजस्थान में जो तब्लीगी तबका आया है, उस वजह से संक्रमण फैला है ऐसे में धार्मिक स्थलों पर जहां भी इन्हें आश्रय मिला हुआ है. उनकी जांच की जानी चाहिए. गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया और उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने सचिवालय में मुख्य सचिव देवेंद्र भूषण गुप्ता और पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र सिंह यादव से मुलाकात कर विभिन्न सुझाव दिए. साथ ही आश्वासन दिया की कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में भारतीय जनता पार्टी पूरी तरह से सरकार के साथ खड़ी हुई है.

प्रतापगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किए 3 इनामी शूटर, हत्या के आरोप में चल रहे थे फरार

कोई भी व्यक्ति भूखा ना सोए:
प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि बदलते हालात में पंथ ,मजहब और अन्य चीजों से ऊपर उठकर मानवता और भारतीयता के नाते सभी एक हैं. किसी भी व्यक्ति के साथ खिलवाड़ ना हो चिकित्सा कर्मी और पुलिसकर्मी शिद्दत से काम कर रहे हैं उन पर हमले भी नहीं होने चाहिए सरकार मजबूत तरीके से ऐसे मामलों को डील करें. फिलहाल राशन की भारी किल्लत है कोई भी व्यक्ति भूखा ना सोए सरकार सुनिश्चित करें कि प्रत्येक व्यक्ति को राशन समय पर मिले.

पानी और बिजली के बिल हो माफ:
दूसरी तरफ राजेंद्र राठौड़ का कहना है कि किसान की फसल खेत में पक कर तैयार हो चुकी है. सरकार आवश्यक व्यवस्था करें कि किसान की फसल का न्यूनतम मूल्य पर खरीद ऑनलाईन शुरू हो. भाजपा की मांग है कि इन विषम परिस्थितियों में आम आदमी की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं बिजली और पानी के बिलों को 3 महीने के लिए माफ किया जाए. 

श्री खोले के हनुमान मंदिर में रामनवमी उत्सव सम्पन्न, दशमी को होगी हवन-पूजा

बीपीएल की सभी सुविधाएं दिए जाने की मांग:
राठौड़ ने 6000 पाक विस्थापित परिवारों को भी त्वरित रूप से बीपीएल की सभी सुविधाएं दिए जाने की मांग की है. भाजपा का कहना है कि हवा महल, किशनपोल और आदर्श नगर विधानसभा क्षेत्र में कुछ लोगों को जानबूझकर भोजन सामग्री से वंचित किया जा रहा है. ऐसे समय में सभी को सहायता देना सरकार का फर्ज है. इस तरीके से विभिन्न मांगों के अलावा भाजपा ने सरकार को अपनी तरफ से हर तरीके के सहयोग का भी आश्वासन दिया है.

श्री खोले के हनुमान मंदिर में रामनवमी उत्सव सम्पन्न, दशमी को होगी हवन-पूजा

श्री खोले के हनुमान मंदिर में रामनवमी उत्सव सम्पन्न, दशमी को होगी हवन-पूजा

जयपुर: श्री नरवर आश्रम सेवा समिति श्री खोले के हनुमान जी मंदिर परिसर में बने श्रीराम मंदिर में गुरूवार को रामनवमी मनाई गई. इसके साथ ही अखण्ड वाल्मिकी रामचरितमानस के पाठ भी सम्पन्न हुए. दशमी के अवसर पर वैदिक मंत्रोच्चार पूर्णाहुति के साथ हवन किया जाएगा. 

भगवान श्रीराम का अभिषेक:
इससे पहले गुरूवार को रामनवमी के अवसर पर सुबह 6 बजे 101 जड़ी-बूटी, विभिन्न तीर्थों से लाए गए जल, पंचामृत तथा दुग्ध से भगवान श्रीराम का अभिषेक किया गया.इसके बाद सुबह 7 बजे हनुमान जी महाराज का दुग्धाभिषेक एवं रूद्री के पाठ का आयोजन किया गया.

भरतपुर में कोरोना पॉजिटिव मिलने पर प्रशासन में मचा हड़कंप, जुरहरी में कर्फ्यू के आदेश

56 भोग की झांकी सजाई गई:
श्री न र व र आश्रम सेवा समिति के महामंत्री बृजमोहन शर्मा ने बताया कि भगवान श्रीराम और हनुमान जी का अभिषेक के बाद सुबह 10 बजे षोडशोपचार पूजा कर श्री सियारामजी को सपरिवार नई पोशाक धारण करवाई और सियाराम मंदिर में 56 भोग की झांकी सजाई गई. जिसके बाद मंदिर पंडितों की ओर से भगवान श्रीराम की आरती की गई. महामंत्री ने बताया कि दशमी को सायंकाल 4 बजे मंत्रोच्चारण के साथ हवन किया जाएगा.

कोरोना महामारी को लेकर राज्यपाल की सक्रियता, प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना को लेकर सीएम से जाने हालात

कोरोना महामारी को लेकर राज्यपाल की सक्रियता, प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना को लेकर सीएम से जाने हालात

जयपुर: राज्यपाल कलराज मिश्र कोरोना महामारी को लेकर लगातार सक्रिय हैं और वे प्रदेशभर के हालात पर नजर बनाए हुए हैं. आज उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से फोन पर बातचीत की और प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना के हालात को लेकर जानकारी ली. राज्यपाल ने विभिन्न धर्मों के मंहत, मौलाना, फादर और गुरूओं से भी आग्रह किया है कि वे कोरोना महामारी से बचाव के लिए की जाने वाली मेडीकल जांचों में बिना किसी धार्मिक आधार पर सहयोग करें. 

Rajasthan Corona Update: पिछले 24 घंटे में सामने आए 25 नए पॉजिटिव केस, 133 हुई मरीजों की संख्या 

मरकज से आये लोग डरें नहीं सहयोग करें:
राज्यपाल ने मरकज से आये व्यक्तियों से आग्रह किया है कि वे डरें नहीं. स्वास्थ्यकर्मी, प्रशासन और पुलिस का सहयोग करें. देश में लगभग 171 व्यक्ति इस बीमारी से ठीक हो गये हैं. राज्यपाल ने पीएम केयर्स कोष में राज्यपाल राहत कोष से 20 लाख रुपए की राशि दी है. इससे पहले वे मुख्यमंत्री सहायता कोष में भी राजभवन के कर्मचारियों के वेतन सहित 25 लाख 75 हजार रुपए की राशि दे चुके हैं. राज्यपाल कलराज मिश्र ने आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी फोन पर बातचीत की. उत्तरप्रदेश के 400 मजदूर जो राज्य में कारखानों में कार्यरत हैं, उनके भोजन व चिकित्सा की व्यवस्था के लिए जिला कलक्टरों को निर्देश दिए. 

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 328 नए मामले, 12 लोगों की मौत- स्वास्थ्य मंत्रालय 

Rajasthan Corona Update: पिछले 24 घंटे में सामने आए 25 नए पॉजिटिव केस, 133 हुई मरीजों की संख्या

जयपुर: प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 25 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं. इनमें जयपुर में 7, जोधपुर में 2, अलवर में 1, उदयपुर में 1 और तबलीगी जमात के 14 लोग पॉजिटिव मिले है. तबलीगी जमात के लोगों में धौलपुर में 1, भरतपुर में 1, चूरू में 7, टोंक में 4 और झुंझुनूं में 1 पॉजिटिव मिला है. जयपुर में मिले सातों पॉजिटिव रामगंज इलाके में सामने आए हैं. ऐसे में अब राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ 133 पर पहुंच गया है. 

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 328 नए मामले, 12 लोगों की मौत- स्वास्थ्य मंत्रालय 

उदयपुर में पहला कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आया:
वहीं जोधपुर में मिली दूसरा पॉजिटिव 27 वर्षीय महिला बताई जा रही है. यह महिला नागोरी गेट इलाके में रहती है. इसके अलावा उदयपुर में पहला कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आया है. यहां एक 14 साल का बच्चा कोरोना पॉजिटिव बताया जा रहा है. यह बच्चा मल्लातलाई इलाके का निवासी बताया जा रहा है. जानकारी मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम भी मौके पर पहुंच गई है. 

कोरोना वायरस से प्रदेश में तीसरी मौत: 
इससे पहले आज अलवर के पॉजिटिव मरीज की जयपुर में मौत हो गई. मरीज ने SMS अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में दम तोड़ा है. बता दें कि अलवर निवासी 85 वर्षीय सोहनलाल काफी गंभीर हालत में SMS अस्पताल आया था. प्रदेश में यह तीसरा मरीज ऐसा है जिसकी कोरोना पॉजिटिव होने के बाद मौत हुई है. मरीज की कल ही कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी. ACS मेडिकल रोहित कुमार सिंह ने मौत की पुष्टि की है. लेकिन मौत का कारण पुरानी गंभीर बीमारी को बताया है. उन्होंने बताया कि मृतक सोहनलाल हार्ट डिसीज, ब्रेन हेमरेज, निमोनिया से जूझ रहा था. 

15 अप्रैल से शुरू हो सकता है फ्लाइट्स का संचालन, लॉकडाउन के बाद घटा हवाई किराया 

देश में अब तक 50 लोग कोरोना वायरस के चलते अपनी जान गंवा चुके: 
देश में भी कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. आज स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश में अब तक 50 लोग कोरोना वायरस के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं जबकि 151 लोग ठीक भी हुए हैं. वहीं पिछले 24 घंटे में 328 नए केस सामने आए हैं. देश में कोरोना के अब तक 1965 केस हैं. पिछले 24 घंटे में 12 लोगों की मौत हुई है. इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने बताया कि देशभर में तलबीगी जमात से जुड़े 400 लोग कोरोना से संक्रमित हैं. वहीं 1804 लोगों को क्वारनटीन किया गया है. 


 

15 अप्रैल से शुरू हो सकता है फ्लाइट्स का संचालन, लॉकडाउन के बाद घटा हवाई किराया

15 अप्रैल से शुरू हो सकता है फ्लाइट्स का संचालन, लॉकडाउन के बाद घटा हवाई किराया

जयपुर: 21 दिन के लॉकडाउन के बीच अच्छी खबर आई है. हवाई सेवाओं का संचालन 15 अप्रैल से शुरू हो सकता है. एयरलाइंस ने फ्लाइट्स के लिए टिकट बुकिंग शुरू कर दी है. 15 अप्रैल से एयरलाइंस देश के सभी शहरों में आने-जाने के लिए फ्लाइट्स में टिकट बुक कर रही हैं. हालांकि कोरोना वायरस के डर से कम लोग ही हवाई यात्रा करेंगे, यही कारण है कि फ्लाइट्स में टिकट की दरें काफी कम हो गई हैं. 

VIDEO- Coronavirus Updates: राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ बढ़कर पहुंचा 131 पर, देशभर में 2100 से अधिक लोग चपेट में 

पुणे, बेंगलूरु और हैदराबाद के हवाई किराए में भी काफी कमी आई:
जयपुर से मुम्बई आने-जाने के लिए करीब 3700 रुपए किराया लग रहा है, जो आम दिनों की तुलना में काफी कम है. इसी तरह अहमदाबाद का किराया 3200 रुपए के आस-पास रह गया है. पुणे, बेंगलूरु और हैदराबाद के हवाई किराए में भी काफी कमी आई है. जयपुर से दिल्ली और कोलकाता का किराया भी काफी कम लग रहा है. हालांकि अभी पूरी तरह से नहीं कहा जा सकता कि 15 अप्रैल से फ्लाइट्स का आवागमन शुरू हो जाएगा, क्योंकि लॉकडाउन की अवधि बढ़ने पर फ्लाइट संचालन शुरू होने में भी देरी हो सकती है. 

VIDEO: चीन के सबसे बड़े कोरोना वायरस एक्सपर्ट का दावा, अगले 4 हफ्तों में सबकुछ सामान्य हो जाएगा 

15 अप्रैल के लिए इतना है हवाई किराया:
- जयपुर से मुम्बई का किराया हुआ 3740 रुपए
- जयपुर से बेंगलूरु का किराया हुआ 5210 रुपए
- जयपुर से पुणे का किराया हुआ 3740 रुपए
- जयपुर से अहमदाबाद का किराया 3214 रुपए
- जयपुर से हैदराबाद के लिए 4580 रुपए लग रहा किराया
- जयपुर से कोलकाता के लिए किराया 5210 रुपए
...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट
 

VIDEO- Coronavirus Updates: राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ बढ़कर पहुंचा 131 पर, देशभर में 2100 से अधिक लोग चपेट में

जयपुर: प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है. आज धौलपुर और भरतपुर में एक-एक पॉजिटिव मरीज सामने आया है. दोनों ही मरीज दिल्ली की तबलीगी जमात से राजस्थान लौटे हैं. प्रदेश में आज 11 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं. ऐसे में अब प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ 131 पहुंच गया है. भरतपुर जिले के मेवात इलाके में छिपकर बैठे लगभग 80 जमातियों को भरतपुर में बनाए गए आइसोलेशन वार्डो में रखा गया था जिसमें से कल जमातियों के सैंपल जांच के लिए जयपुर भिजवाए थे जिनमें से जुरहरी गांव के रहने वाले फारुख की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. कोरोना पॉजिटिव मरीज फारुख मेव को भरतपुर से जयपुर अस्पताल के लिए भेज दिया गया है.

अंतरराष्ट्रीय सीमा पर नहीं है कोई लॉकडाउन, पूरा देश घरों में कैद पर सरहद की रक्षा में दिन-रात डटे जवान 

संक्रमित मरीज मिलने के बाद जिला प्रशासन अलर्ट मोड़ पर:
वहीं धौलपुर जिले में कोरोना पॉजिटिव का पहला संक्रमित मरीज मिलने के बाद जिला प्रशासन और पुलिस भी लॉकडाउन की सख्ती से पालना कराने को लेकर अलर्ट मोड़ पर आ गयी है. कोरोना के पॉजिटिव मरीज की सूचना आग की तरह शहर भर में फैल गयी जिसके बाद पुलिस ने भी मोर्चा संभालते हुए सड़कों पर बेबजह घूम रहे लोगों पर सख्ती बरती और हलके बल का प्रयोग करते हुए मुख्य बाजारों में गश्त भी किया.

कोरोना वायरस से प्रदेश में तीसरी मौत: 
इससे पहले आज अलवर के पॉजिटिव मरीज की जयपुर में मौत हो गई. मरीज ने SMS अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में दम तोड़ा है. बता दें कि अलवर निवासी 85 वर्षीय सोहनलाल काफी गंभीर हालत में SMS अस्पताल आया था. प्रदेश में यह तीसरा मरीज ऐसा है जिसकी कोरोना पॉजिटिव होने के बाद मौत हुई है. मरीज की कल ही कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी. ACS मेडिकल रोहित कुमार सिंह ने मौत की पुष्टि की है. लेकिन मौत का कारण पुरानी गंभीर बीमारी को बताया है. उन्होंने बताया कि मृतक सोहनलाल हार्ट डिसीज, ब्रेन हेमरेज, निमोनिया से जूझ रहा था.  

बुधवार रात चूरू में 7 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये: 
इससे पहले बुधवार रात चूरू में 7 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये है. चूरू के सभी पॉजि​टिव दिल्ली में तबलीगी जमात में शरीक होकर लौटे थे. 7 कोरोना पॉजिटिव सामने आने के बाद कर्फ्यू चूरू और सरदारशहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है. चूरू शहर के 3 और सरदारशहर के 4 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे. अकेले रामगंज इलाके में 7 नए पॉजिटिव केस सामने आया. 

VIDEO: चीन के सबसे बड़े कोरोना वायरस एक्सपर्ट का दावा, अगले 4 हफ्तों में सबकुछ सामान्य हो जाएगा 

भारत में 2100 से अधिक लोग कोरोना वायरस की चपेट में:
वहीं देश में कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 50 हो गया है. इस समय भारत में 2100 से अधिक लोग कोरोना वायरस की चपेट में हैं. हालांकि 171 लोग इस महामारी के प्रकोप से उबरकर ठीक हो चुके हैं. देश में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के मरीजों की तादाद महाराष्ट्र में है और यहां 338 मरीज कोविड-19 महामारी की जद में आ चुके हैं. 


 

लॉक डाउन के बीच फीकी रही नए वित्त वर्ष की शुरुआत, राजस्व लक्ष्य रहे अधूरे

लॉक डाउन के बीच फीकी रही नए वित्त वर्ष की शुरुआत, राजस्व लक्ष्य रहे अधूरे

जयपुर: कोरोना संकट के दौर में प्रदेश में लॉक डाउन के चलते वित्त वर्ष 2020-21 की फीकी शुरुआत हुई. सरकारी खजाने को उम्मीद रहती है कि वित्त वर्ष अंतिम महीने मार्च में मोटी रकम प्राप्त होगी लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ और बुरी स्थिति तब हो गई जब लॉक डाउन के चलते वित्त वर्ष की शुरुआत भी फीकी रही. ऐसे में अब राज्य सरकार के सामने चुनौती रहेगी कि वे किस तरह से नए वित्त वर्ष में योजनाओं का वित्तपोषण कर पाएगी. 

 Coronavirus Updates:. पूरे विश्व में अब तक 47 हजार से ज्यादा लोगों की मौत, 9 लाख 35 हजार से ज्यादा संक्रमित  

- लॉक डाउन के बीच नए वित्त वर्ष की शुरुआत
- पुराने राजस्व लक्ष्य रहे अधूरे, नए प्राप्त करने के लिए भी जुटना होगा
- लेकिन अभी 14 अप्रैल तक है लॉक डाउन
- ऐसे में टैक्स हैड वाले विभागों के लिए चुनौती भरा रहेगा नया वर्ष
- आबकारी, खान, परिवहन सहित कई विभाग जुड़े हैं सीधे राजस्व अर्जन से
- प्रदेश में खनन बंद, होटल, resto-bar बंद, शराब दुकानें बंद
- ऐसे में लॉक डाउन अवधि में प्रभावित रहेगा राजस्व अर्जन का कार्य

राजस्व लक्ष्य अर्जित करने को लेकर सरकार भले ही गंभीर दिखी लेकिन जिस तरह वित्त वर्ष के अंतिम माह में कोरोना का कहर टूटा उससे राज्य सरकार की उम्मीद है भी धराशाई हो गई. सरकार को उम्मीद थी कि कर राजस्व से जुड़े महकमें सरकारी खजाने को संबल प्रदान करेंगे लेकिन हुआ ठीक उल्टा कोरोना के चलते वित्त वर्ष का अंतिम महीना सूखा निकला और नए वित्त वर्ष की शुरुआत भी बिल्कुल फीकी रही. मोटे तौर पर अभी टैक्स हेड वाले महकमें इस बात का गुणा भाग करने में लगे हैं कि 31 मार्च को समाप्त हुए वित्त वर्ष 2019-29 में राजस्व अर्जन की स्थिति क्या रही..? इधर वित्त विभाग के अफसरों की माने तो बीते वित्त वर्ष में सरकार की उम्मीदों के विरुद्ध 70 से 75 फ़ीसदी ही राजस्व लक्ष्य अर्जित हो पाए हैं.

सरकारी खजाने में उम्मीद के मुताबिक धन नहीं पहुंचा: 
इसका सीधा मतलब है कि सरकारी खजाने में उम्मीद के मुताबिक धन नहीं पहुंचा और बीते वित्त वर्ष में सरकार को कर राजस्व में करीब 10,000 करोड रुपए का नुकसान उठाना पड़ा. दरअसल वित्त वर्ष के अंतिम महीने यानी मार्च में परिवहन विभाग जहां एडवांस टैक्स का कलेक्शन करता है वहीं आबकारी विभाग भी नया बंदोबस्त करता है. खान विभाग भी नए ठेकों के लिए एडवांस राशि का कलेक्शन करता है जिससे सरकारी खजाने में शतप्रतिशत से कहीं ज्यादा राजस्व पहुंच जाता है. परंतु इस बार कोरोना वायरस के कहर के सामने सब मटिया मेट हो गया. आबकारी विभाग जहां लक्ष्य से 2000 करोड़ रुपए पीछे रहा वही खान विभाग भी करीब 800 करोड रुपए अर्जित नहीं कर पाया. यही नहीं परिवहन विभाग, पंजीयन एवं मुद्रांक, विद्युत व अन्य कर राजस्व से जुड़े महकमें भी राजस्व लक्षणों से पिछड़ गए. अब सरकार के सामने मुश्किल इस बात की है कि नए वित्त वर्ष में जनता से जुड़ी हुई योजनाओं का किस तरह से वित्त पोषण किया जाएगा. पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य के बजट में जो घोषणाएं की थी वह कैसे पोषित हो पाएंगी. राज्य सरकार की वार्षिक योजना की बात करें तो उसके लिए धनराशि कहां से आएगी. ऐसे सैकड़ों सवाल हैं जो चुनौती के रूप में राज्य सरकार के सामने खड़े हैं.

VIDEO- Rajasthan Corona Update: कोरोना वायरस से जुड़ी आज की सबसे बड़ी खबर, अलवर के पॉजिटिव मरीज की जयपुर में हुई मौत 

कोरोनावायरस ने सबसे ज्यादा पर्यटन और खनन कमर तोड़ दी: 
अब खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अपने वित्त की टीम से यह उम्मीद है कि वह कोरोना संकट के बीच इस तरह का फार्मूला लेकर आएंगे जिससे सरकारी खजाने को भी संभल मिलेगा और आमजन से जुड़ी योजनाएं भी वित्त पोषित हो पाएंगी. कोरोनावायरस संकट में ऐसा नहीं है कि सिर्फ सरकारी राजस्व में कमी की हो बल्कि प्रदेश और देश के अंदर विभिन्न सेक्टर में जो रोजगार था उसकी भी कमर तोड़ दी है. राजस्थान की अर्थव्यवस्था पर्यटन और खनन पर काफी हद तक आधारित है और कोरोनावायरस ने सबसे ज्यादा कमर इन 2 सेक्टर की ही थोड़ी है. पर्यटन सेक्टर की बात करें तो प्रदेश के तमाम पर्यटन स्थल, स्मारक, संग्रहालय बंद पड़े हैं. इसके नतीजे में ट्रैवल ट्रेड से जुड़े टैक्सी ड्राइवर, गाइड, जिप्सी संचालक, होटल, मोटल कैफे, रेस्टोरेंट सब कुछ बंद पड़ा है. छोटे-छोटे होकर और वेंडर जो हस्तशिल्प और अन्य सामग्री को बेचकर अपनी रोजी-रोटी चलाते थे वह भी बेरोजगार हो गए हैं. ऐसे में चुनौती सिर्फ यही नहीं है कि सरकारी योजनाओं का वित्तपोषण कैसे होगा वरन चुनौती इस बात की भी है कि कोरोनावायरस देर सवेर दूर हो जाएगा लेकिन इससे पस्त हुए प्रदेश के रोजगार धंधों को किस तरह से उठाया जाएगा. यह बड़ी चुनौती होगी. अब देखना है कि सूबे की सरकार कोरोना संकट से निपटने और इसके बाद के हालात की चुनौती से निपटने के लिए किस तरह खुद को तैयार करती है.  

Open Covid-19