पुलिस ने विद्युत कर्मचारी को बेरहमी से पीटा, टूटी पसलियां

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/08/22 01:55

सीकर। चौकी में बिजली चोरी की सप्लाई ठीक नहीं की तो पुलिस वालों ने विद्युत कर्मचारियों को जमकर पीटा और इसके बाद तबीयत खराब हुई तो दर्द का इंजेक्शन लगवा कर वापस जीएसएस में पटक कर आ गए। तबीयत ज्यादा खराब होने पर ठेकेदार के आदमियों ने कल्याण अस्पताल में लाकर कर्मचारी को भर्ती कराया। 

जानकारी के अनुसार चांदपोल चौकी में विद्युत सप्लाई सही करने गये कर्मचारी से मारपीट की घटना सामने आई है। विद्युत कर्मचारी को पुलिस चौकी में बिजली सप्लाई ठीक करने के लिए कहा गया था। लेकिन जब वहां जाकर उसने देखा तो पुलिस चौकी में बिजली चोरी हो रही थी। जिस पर उसने बिजली चोरी होने की बात कह कर विद्युत सप्लाई ठीक करने से मना कर दिया। जिससे नाराज पुलिस वालों ने उसके साथ जमकर मारपीट की जब उसकी तबीयत खराब हो गई तो दर्द का इंजेक्शन लगवा कर उसे जीएसएस में पटक कर आ गए। कर्मचारी की बिगड़ी तबीयत को देखकर ठेकेदार के आदमियों ने उसे कल्याण अस्पताल में भर्ती कराया। इस दौरान विद्युत कर्मचारी लालचंद सैनी ने आरोप लगाया कि, "पुलिस ने कर्मचारियों को इतनी बेरहमी से पिटाई की उसकी पसलियां तक टूट गई है।"

गौरतलब है कि घटना की सूचना पर विद्युत निगम के सहायक अभियता कपिल बिजारनियां अस्पताल पहुंचे और घायल कर्मचारी की कुशल-क्षेम जानी। इस घटना के बाद बिजली कर्मचारियों में आक्रोश है, तो वहीं पुलिस विभाग पर सवालिया निशान लगाता है। जिले में पुलिस वाले किस तरीके से दादागिरी करते है, यह उदाहरण भी देखने को मिला है। पुलिस के किसी भी अधिकारी ने घटना से इनकार किया है और कहा कि, "अगर ऐसी घटना है तो जांच कराएंगे।" पुलिस की जांच कब होगी और कर्मचारियों को कब न्याय मिलेगा यह तो भविष्य के गर्भ में छिपा है। वही पुलिस चौकी के इंचार्ज जयप्रकाश पर पहले भी कई बार सवालियां निशान लग चुके है। बिजली कर्मचारियों की एफआईआर भी अभी दर्ज नहीं की गई है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in