पंजाब में एक बार फिर गहराया राजनीतिक संकट, इस्तीफे की खबरों के बीच कैप्टन ने किया सोनिया गांधी को फोन; कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति में जबरदस्त हलचल

पंजाब में एक बार फिर गहराया राजनीतिक संकट, इस्तीफे की खबरों के बीच कैप्टन ने किया सोनिया गांधी को फोन; कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति में जबरदस्त हलचल

नई दिल्ली: पंजाब में एक बार फिर राजनतिक संकट गहरा गया है. आलाकमान ने कैप्टन अमरिन्दर को इस्तीफे मांग लिया है. आलाकमान का यह संदेश पंजाब सीएम कैप्टन तक पहुंच गया है. इस बीच कैप्टन ने फार्म हाउस पर अपने समर्थिक विधायकों को बैठक में बुलाया है. मिली जानकारी के अनुसार कैप्टन से नाराज 40 विधायकों ने आलाकमान को चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी के बाद आज शाम 5 बजे चंदीगढ़ स्थित पंजाब कांग्रेस भव में कांग्रेस विधायकों की बैठक बुलाई गई है. 

इस बारे में सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद प्रभारी हरीश रावत ने ट्वीट किया है. रावत ने देर रात सोशल मीडिया पर इस बैठक की जानकारी दी. पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत बैठक में मौजूद रहेंगे. केंद्रीय पर्यवेक्षक के तौर पर अजय माकन-हरीश चौधरी भी मौजूद रहेंगे. बैठक के बाद पूरी रिपोर्ट तैयार कर हाईकमान को भेजी जाएगी. 

पार्टी में अपमान होगा तो इस्तीफा दे दूंगा:
वहीं इस्तीफे की खबरों के बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी को फोन किया है. कैप्टन ने सोनिया के साथ-साथ कमलनाथ को भी फोन घुमाने की जानकारी सामने आ रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कैप्टन ने कहा कि मैं पार्टी में इस तरह नहीं रह सकता. पार्टी में मुझे बेइज्जत किया जा रहा है. पार्टी में अपमान होगा तो मैं इस्तीफा दे दूंगा. 

कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति में जबरदस्त हलचल:
इधर कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति में जबरदस्त हलचल से राहुल गांधी के सचमुच 'कमांड' में आ जाने के संकेत मिल रहे हैं. दो दिन पहले ढाई-ढाई साल के फॉर्मूले के आधार पर छत्तीसगढ़ सीएम बघेल के संभावित इस्तीफे की खबर मिली थी. छत्तीसगढ़ की जिम्मेदारी टीएस सिंह देव को सौंपे जाने की खबर थी और अब चंडीगढ़ से चौंकाने वाली खबर आई है. अगर खबर सही है तो आज अमरिंदर सिंह का भी शाम 5 बजे विधायक दल की बैठक के बाद इस्तीफा हो सकता है. अब हर किसी को विधायक दल की बैठक का इंतजार है. 

और पढ़ें