जयपुर VIDEO: नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया- राहुल गांधी को ED के नोटिस के बाद गरमाई सियासत, विरोध में कल जयपुर में कांग्रेस का पैदल मार्च, देखिए खास रिपोर्ट

VIDEO: नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया- राहुल गांधी को ED के नोटिस के बाद गरमाई सियासत, विरोध में कल जयपुर में कांग्रेस का पैदल मार्च, देखिए खास रिपोर्ट

जयपुर: नेशनल हेराल्ड के मसले पर सोनिया गांधी और राहुल गांधी को को मिले ईडी के नोटिस सियासत को गर्मा रहे हैं. कल प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से जयपुर में पीसीसी से जयपुर के ED दफ्तर तक पैदल मार्च निकाला जाएगा. इससे पहले आज पीसीसी में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव गौरव वल्लभ और गोविंद सिंह डोटासरा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की . यह कहा कि ना डरेंगे ,ना झुकेंगे और ना सहेंगे . 

आजादी के पहले 1937 में तत्कालीन कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय नेताओं और स्वाधीनता सेनानियों सरदार पटेल पंडित नेहरू ,नरेंद्र देव सरीखे महापुरुषों ने नेशनल हेराल्ड अखबार की स्थापना की थी इस अखबार के जरिए अंग्रेजो के खिलाफ क्रांति की, आवाज बुलंद की जाती थी आजादी के बाद नेशनल हेराल्ड अखबार धीरे धीरे घाटे की ओर बढ़ता गया . जब सोनिया गांधी का युग शुरू हुआ तब कांग्रेस में नेशनल हेराल्ड को घाटे से उबारने के लिए कांग्रेस पार्टी ने 90 करोड़ का कर्ज दिया ,अखबार ने इस कर्ज में से 67करोड़ को अपने कर्मचारियों और अन्य मद में ही खर्च कर दिया. नतीजा यह निकला एक बार फिर ये अखबार घाटे में आ गया और कर्ज नहीं चुका पाया ऐतिहासिक को जीवित रखने के लिए कांग्रेस के नेताओं यंग इंडिया कंपनी लिमिटेड बनाई और इक्विटी के जरिए अखबार को पुनर्जीवित करने का प्रयास किया. अनलिमिटेड कंपनी के कर्ताधर्ता ओं में सोनिया गांधी और राहुल गांधी शुमार है और बीजेपी ने इसी को मुद्दा बनाया और लेन देन के मसले पर ईडी के नोटिस इसी कारण मिले. आज पीसीसी में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव बल्लव ने साफ कहा कि कांग्रेस के नेताओं ने एक रुपया भी लिमिटेड कंपनी के नाम पर लिया नहीं, हेराल्ड ने कहा कि कर्ज हम चुका नहीं सकते.

यंग इंडिया लिमिटेड को 90 करोड़ का कर्ज इक्विटी में दिया,ये कानूनन गलत नहीं है,इसमें से आज तक प्रबंध समिति के एक सदस्य ने एक भी पैसा बाहर नहीं निकाला क्योंकि ये नोट प्रॉफिट फंड के तहत यंग इंडिया लिमिटेड है, एक पैसा बाहर नहीं निकला,कांग्रेस और कांग्रेस के एक भी नेता के पास नहीं गया,फिर किस बात का ईडी का नोटिस,भारत की आजादी का प्रतीक नेशनल हेराल्ड कांग्रेस इस अखबार को बंद नहीं होने देगी. प्रदेश कांग्रेस के गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि यह कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग है. AICC राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कहाकि तीन D पर आधारित है बीजेपी का गवरमेंट मॉडल लेकिन नेशनल हेराल्ड पर ये थ्री डी मॉडल नहीं चलेगा,सरदार पटेल, पंडित नेहरू समेत महान नेताओं ने 1937 में की अंग्रेजों ने इस पर बैन लगायाAssociated general ferm ये अखबार निकलती थी जब घाटे में ये अखबार चल रहा था,तब कांग्रेस ने 90 करोड़ अपनी ओर से दिया वो भी बुक्स में दिखाकर,67 करोड़ तो कर्मचारियों के बकाया और वीआरएस में दिया,क्या पॉलिटिकल पार्टी किसी की कर्ज नहीं दे सकती ?इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया ने लिखा कोई भी पार्टी किसी को कर्ज दे सकती है. कांग्रेस पार्टी की तरफ से कल देश भर में लेडी दफ्तरों पर प्रदर्शन किए जाएंगे

जयपुर में पीसीसी के निर्देशों के तहत प्रदेश कांग्रेस कमेटी पीसीसी से अमरूदों के बाग के पास ED के दफ्तर तक लंबा पैदल मार्च निकलेगी. कांग्रेस ने ठाना है संवैधानिक संस्थाओं के दुरुपयोग के खिलाफ सड़कों पर आकर जनता के बीच प्रदर्शन करना है. 
 

और पढ़ें