Live News »

VIDEO: 4 विश्वविद्यालयों में नहीं है कुलपति, 3 कुलपतियों के पद इस माह हो रहे रिक्त, कुलपतियों की गैर मौजूदगी से अटके अहम फैसले

जयपुर: राजस्थान यूनिवर्सिटी समेत प्रदेश के 7 विश्वविद्यालयों में इसी महीने कुलपतियों के पद रिक्त हो जाएंगे. राज्य के चार विश्वविद्यालयों में मौजूदा समय में स्थाई कुलपति नहीं है. जिनके लिए कुलपति चयन की प्रक्रिया बेहद धीमी गति से चल रही है. यूनिवर्सिटीज में वाइस चांसलर नहीं होने के कारण कई महत्वपूर्ण निर्णय अटके हुए हैं. पेश है एक रिपोर्ट

इन यूनिवर्सिटियों में नहीं है कुलपति

-सीकर यूनिवर्सिटी-बी एल शर्मा के कार्यकाल के बाद खाली पद
फरवरी से पद चल रहा रिक्त 

-बीकानेर यूनिवर्सिटी
भागीरथ बीरजानियां के कार्यकाल के बाद खाली पद

-उदयपुर यूनिवर्सिटी
जेपी शर्मा के कार्यकाल के बाद खाली पद

3 विश्वविद्यालयों में इस वक्त स्थाई कुलपति के पद रिक्त:
राज्य के 3 विश्वविद्यालयों में इस वक्त स्थाई कुलपति के पद रिक्त है. उदयपुर के मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय, बीकानेर के महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय और सीकर के पंडित दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय और जोधपुर के सरदार पटेल पुलिस यूनिवर्सिटी में नए कुलपति की नियुक्ति होना बाकी है. सीकर यूनिवर्सिटी में बी एल शर्मा के कार्यकाल के बाद से फरवरी से पद रिक्त चल रहा है. जबकि बीकानेर में भागीरथ बीरजानियां के कार्यकाल को पूरा हुए भी 3 महीने हो  हो चुके हैं. उदयपुर यूनिवर्सिटी में जेपी शर्मा के बाद नए कुलपति की चयन प्रक्रिया शुरू हुई लेकिन बाद में स्थगित कर दी गया. अब दोबारा सर्च कमेटी कुलपति पद के लिए योग्य शिक्षाविदों के नाम फाइनल कर रही है. सबसे ताज्जुब की बात तो जोधपुर स्थित सरदार पटेल पुलिस यूनिवर्सिटी के लिए है जिसमें 4 साल से कुलपति का पद रिक्त चल रहा है. यहां साल 2015 से कुलपति की नियुक्ति नहीं हो सकी है। लॉकडाउन के कारण यह की सर्च कमेटी की प्रक्रिया भी अटक गई थी. कुलपति के रिक्त पदों को लेकर उच्च शिक्षा विभाग ने भी चिंता जताई है. विभाग के मंत्री भंवर सिंह भाटी का कहना है कि इस दिशा में सरकार अपनी ओर से पूरी कवायद में जुटी है.

VIDEO: पेट्रोल और डीजल के नाम पर लूट! 300 प्रतिशत टैक्स वसूल रही सरकार, आमजन अभी तक खेल से अनजान

इन यूनिवर्सिटियों में हो रहे खाली पद

-राजस्थान यूनिवर्सिटी में प्रो आरके कोठारी
-राजस्थान स्किल यूनिवर्सिटी में भी ललित के पंवार
-बांसवाड़ा के जनजाति विश्वविद्यालय में प्रो कैलाश सोढ़ानी 
-इनका कार्यकाल 11 जुलाई को पूरा हो जाएगा

नए विश्वविद्यालयों में भी रिक्त होने जा रहे कुलपतियों के पद:
प्रदेश में इन 4 विश्वविद्यालयों के साथ ही अब तीन और नए विश्वविद्यालयों में भी कुलपतियों के पद रिक्त होने जा रहे हैं. राजस्थान यूनिवर्सिटी में प्रो आरके कोठारी और बांसवाड़ा के जनजाति विश्वविद्यालय में प्रो कैलाश सोढ़ानी का कार्यकाल 11 जुलाई को पूरा हो जाएगा. साथ ही राजस्थान स्किल यूनिवर्सिटी में भी ललित के पंवार का भी कार्यकाल पूरा होने जा रहा है. रिक्त पदों के लिए सर्च कमेटियां गठित हो गई है. लेकिन समय पर स्थाई कुलपति का नाम घोषित नहीं होने तक यहां भी कार्यवाहक लगाकर अतिरिक्त चार्ज दिए जाने की व्यवस्था की जानी होगी.

कुलपतियों की नियुक्ति को लेकर देना होगा गंभीरता से ध्यान:
जहां कुलपतियों के पद रिक्त होने से विश्वविद्यालयाें में टीचिंग - नाॅन टीचिंग की भर्ती से लेकर शाेध व शैक्षणिक कार्य प्रभावित हाे रहे हैंं. साथ ही जिनमें पद रिक्त होने वाले हैं उनमें भी आशंका है कि इसका विपरीत असर नए सत्र में भी यूनिवर्सिटीज के नियमित कामकाज और विद्यार्थियाें पर भी पड़ना तय है. इसके सर्च कमेटियों को भी अपने काम में तेजी लानी होगी. साथ ही सरकार की ओर से भी कुलपतियों की नियुक्ति को लेकर गंभीरता से ध्यान देना होगा.

VIDEO: कोविड फ्री होने की राह पर संवेदनशील परकोटा, जयपुर के रामगंज में अब सिर्फ तीन एक्टिव केस

और पढ़ें

Most Related Stories

VIDEO: जैसलमेर से जयपुर लौटे विधायक, सरकार की रणनीति के तहत अगले कुछ दिन होटल में ही रहेंगे

जयपुर: जैसलमेर की बाड़ेबंदी के बाद कांग्रेस के विधायक एक बार फिर जयपुर पहुंच गए है. विधानसभा सत्र से पहले इन विधायकों को जयपुर लाया गया है. सरकार की रणनीति के तहत अगले कुछ दिन विधायक होटल फेयरमोंट में ही रहेंगे. ऐसा माना जा रहा है कि विधानसभा सत्र के बाद ही विधायक अपने क्षेत्रों का दौरा कर सकेंगे. 

अमेरिका की आर्थिक पैकेज की चर्चा से सोने-चांदी की कीमतों में भारी गिरावट, जानिए आज का भाव 

सीएम गहलोत मंगलवार को जैसलमेर गए थे: 
जैसलमेर से करीब 90 विधायक और 20 कांग्रेस नेता लौटे हैं. इससे पहले सीएम गहलोत मंगलवार को जैसलमेर गए थे. वहां उन्होंने विधायकों से बदले राजनीतिक हालात पर चर्चा की. उसके बाद आज विधायकों को जैसलमेर से जयपुर रवाना किया गया. वहीं दूसरी ओर शुक्रवार से शुरू होने जा रहा विधानसभा सत्र इस बार काफी हंगामेदार रहने के आसार हैं. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जोधपुर दौरा, देचू में 11 लोगों की मौत पर किया शोक व्यक्त 

गहलोत खेमे के विधायक लगातार 31 दिनों से बाड़ेबंदी में: 
गहलोत खेमे के विधायक लगातार 31 दिनों से बाड़ेबंदी में हैं. पहले 13 जुलाई से जयपुर के फेयरमोंट होटल में विधायकों को रखा गया फिर 31 जुलाई को जैसलमेर के सूर्यगढ़ होटल ले जाया गया. अब एक बार फिर विधायकों को जयपुर के फेयरमोंट होटल में ठहराया गया है. विधायकों ने विक्ट्री का साइन दिखाकर होटल में प्रवेश किया. 


 

अमेरिका की आर्थिक पैकेज की चर्चा से सोने-चांदी की कीमतों में भारी गिरावट, जानिए आज का भाव

अमेरिका की आर्थिक पैकेज की चर्चा से सोने-चांदी की कीमतों में भारी गिरावट, जानिए आज का भाव

जयपुर: पिछले कुछ दिनों से लगातार सोने और चांदी के भाव आसमान छू रहे थे लेकिन अब अचानक उच्चतम स्तर पर पहुंचने के बाद सोना और चांदी के भावों में खासी गिरावट देखने को मिली है. अंतरराष्ट्रीय बाजारों में सोने और चांदी की कीमत में पिछले दो दिनों में जबरदस्त गिरावट आई है. सोने के भाव जहां 50441 प्रति दस ग्राम रह गए है तो वहीं चांदी 61972 पहुंच गई है.

अभिनेता संजय दत्त को स्टेज-3 का लंग कैंसर, संजय दंत की पत्नी मान्यता ने जारी किया बयान  

- एमसीएक्स सोने का भाव 3 फीसदी यानी 1500 रुपये गिरा
- एमसीएक्स पर 10 ग्राम सोने की कीमत अब 50,441 रुपये 
- हफ्ते सोना अपने रिकॉर्ड स्तर 56 हजार प्रति 10 ग्राम तक पहुंचा
- चांदी की कीमत 61,972 रुपये रह गई
- पिछले सप्ताह चांदी का भाव 78,000 रुपये प्रति किलोग्राम था
- चांदी 12 फीसदी यानी 9000 रुपये प्रति किलोग्राम गिरीं. 

कोरोना महामारी के दौर में सोने और चांदी के भावों में बेहतासा बढ़ोतरी देखने को मिली लेकिन पिछले दो दिनों के अंदर दोनों के भाव गिरने से बाजार में भी हलचल पैदा हो गई है एमसीएक्स सोने का भाव 3 फीसदी यानी 1500 रुपये गिरा है. MCX पर 10 ग्राम सोने की कीमत अब सिर्फ 50,441 रुपये रह गई है. वहीं, पिछले हफ्ते सोना अपने रिकॉर्ड स्तर 56 हजार प्रति 10 ग्राम तक पहुंच गया था. चांदी की कीमतों में भी भारी गिरावट आई है. चांदी की कीमत 05 फीसदी यानी प्रति किलोग्राम पांच हजार रुपये गिरकर 61,972 रुपये रह गई है. जबकि, पिछले सप्ताह चांदी का भाव 78,000 रुपये प्रति किलोग्राम से ऊपर चला गया था. पिछले सत्र मे सोने के भाव में 6 फीसदी यानी 3200 रुपये की गिरावट आई. वहीं, चांदी की कीमतें 12 फीसदी यानी 9000 रुपये प्रति किलोग्राम गिरीं. 

- सोने और चांदी के भाव टूटूने का कारण अमेरिका का आर्थिक पैकेज
- राष्ट्रपति के द्ववारा आर्थिक पैकेज की घोषणा की चर्चा के चलते टूटा बाजार
- अब निवेशको ने सोना और चांदी में अपना इनवेस्टमेंट हटाया
- जिसके चलते पिछले दो दिनों में सोने और चांदी के भाव टूटे

अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सोने के कीमतों में गिरावट जारी है. हाजिर सोना की कीमतों में 2.1 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई और इसकी कीमत 1872.61 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई. वहीं, अंतरराष्ट्रीय बाजार में अमेरिकी वायदा सोनेकी कीमत 1900 डॉलर प्रति औंस रह गई है. चांदी में तो 07 फीसदी की तेज गिरावट दर्ज की गई है. चांदी का भाव 24.2 डॉलर प्रति औंस रहा. पिछले सप्ताह 2,000 डॉलर प्रति औंस से ऊपर जाने के बाद, डॉलर की रिकवरी से सोना अचानक गिर गया. डॉलर सूचकांक आज प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले स्थिर रहा. सोने की कीमतों में तेज गिरावट ने गोल्ड ईटीएफ से प्रवाह शुरू हो गया है. सोने-चांदी की कीमतों में कमी आने की एक वजह अमेरिका में एक और आर्थिक पैकेज की चर्चा भी है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप  नए आर्थिक पैकेज की घोषणा जल्द कर सकते हैं, इससे सोने चांदी की कीमतों पर दबाव है. दुनियाभर के शेयर बाजारों पर निवेशकों का भरोसा बढ़ा है, जिससे सोने और चांदी की तरफ उनका झुकाव कम हुआ है. रूस में कोरोना वैक्सीन का ऐलान होने के बाद दुनिया भर के कमोडिटी बाजारों में गिरावट देखी गई है.  

- जयपुर सर्राफा में भी देखा गया सोने और चांदी के भावों में असर
- चांदी का भाव जहां 72500 रूपए था जो कि आज 64800 रूपए रह गया
- जयपुर में चांदी के भाव करीब 7700 रूपए टूटे 
- सोने के भाव कल तक 56150 रूपए प्रति दस ग्राम थे
- जो कि आज 53500 रूपए प्रति दस ग्राम रह गए
- सोने के भाव में 2650 रूपए की कमी आई

राजधानी जयपुर के बात करें तो यहां भी सोने और चांदी के भावों में खासी गिरावट देखी गई है कल की बात की जाए तो चांदी का भाव जहां 72500 रूपए था जो कि आज 64800 रूपए रह गया है एक ही दिन में जयपुर में चांदी के भाव करीब 7700 रूपए टूटे है. वहीं सोने की बात की जाए तो सोने के भाव कल तक 56150 रूपए प्रति दस ग्राम थे जो कि आज 53500 रूपए प्रति दस ग्राम रह गए. सोने के भाव में 2650 रूपए की कमी आई है. एक ही दिन में आए इस गिरावट के बाद सर्राफा व्यापारी ये अंदाज लगा रहे है कि आने वाले दिनों में भी सोने और चांदी के भाव औऱ भी अधिक टूट सकते हैं. 

VIDEO: हमने कभी सरकार गिराने की कोशिश नहीं की, हमें बागी या विरोधी कहना बिल्कुल गलत- विश्वेन्द्र सिंह 

सोने और चांदी के भावों में पिछले दो दिनों में आई गिरावट का सीधा संपर्क अमेरिका के आर्थिक पैकेज की चर्चा से जोड़ा जा रहा है जिसके चलते अंतरार्सट्रीय मार्केट में भी सोने और चांदी के भावों में कमी आई है. आगामी दिनो में सोने और चांदी के भाव और भी टूटते हुए नजर आ सकते हैं

VIDEO: हमने कभी सरकार गिराने की कोशिश नहीं की, हमें बागी या विरोधी कहना बिल्कुल गलत- विश्वेन्द्र सिंह

VIDEO: हमने कभी सरकार गिराने की कोशिश नहीं की, हमें बागी या विरोधी कहना बिल्कुल गलत- विश्वेन्द्र सिंह

जयपुर: राजस्थान का सियासी दंगल अब खत्म हो गया है. केंद्रीय आलाकमान से समस्याओं के समाधान का भरोसा मिलने के बाद सचिन पायलट भी जयपुर वापस लौट आए हैं. इस बीच आज विश्वेन्द्र सिंह ने 1st इंडिया से खास बात की. इस दौरान उन्होंने कहा कि हमने कभी सरकार गिराने की कोशिश नहीं की. हमें बागी या विरोधी कहना बिल्कुल गलत है. अशोक गहलोत सरकार के मुखिया हैं और हम सरकार के साथ हैं. 

VIDEO: प्रदेशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि आने वाले दिनों में दुगुने जोश से काम करेंगे - सीएम गहलोत 

हमारे कारण सरकार को कोई चिंता नहीं होनी चाहिए: 
उन्होंने कहा कि हमारे कारण सरकार को कोई चिंता नहीं होनी चाहिए. वहीं ऑडियो व SOG मामले पर बोलते हुए विश्वेंद्र सिंह ने कहा कि मेरे ऑडियो को एडिट किया गया है मैंने गजेंद्र सिंह से कोई बात नहीं की. वहीं गहलोत के नेतृत्व में फिर से मंत्री बनकर काम करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पार्टी जो भूमिका तय करेगी उसे निभाएंगे. सुनिए विश्वेंद्र सिंह ने क्या कुछ कहा...

 

निर्वाचन विभाग के कर्मचारियों को भी देनी होगी परीक्षा, ...आम लोगों को कर सकेंगे ज्यादा जागरूक

निर्वाचन विभाग के कर्मचारियों को भी देनी होगी परीक्षा, ...आम लोगों को कर सकेंगे ज्यादा जागरूक

जयपुर: निर्वाचन कार्य में लगे ईआरओ व अन्य अधिकारियों-कर्मचारियों की परीक्षा होती रही है. लेकिन अब निर्वाचन विभाग इससे एक कदम आगे बढ़कर एक नवाचार को अंजाम दे रहा है. इसके तहत अब निर्वाचन विभाग के कर्मचारियों को भी परीक्षा देनी होगी. इसमें निर्वाचन प्रक्रिया से सामान्य से लेकर खास जानकारी के बारे में सवालों के जवाब उन्हें देने होंगे ताकि वे खुद नियमों के बारे में जागरूक होकर आम लोगों को ज्यादा जागरूक कर सकें. 

प्रदेश के किसानों के लिए अच्छी खबर, 3.50 लाख डिफॉल्टर किसानों को भी मिलेगा फसली ऋण  

आचार संहिता व अन्य नियम-कायदों की पालना सुनिश्चित कराने वाले निर्वाचन विभाग ने अब अपने कर्मचारियों की परख की तैयारी शुरू कर दी है. जी हां, प्रदेश में विधानसभा और लोकसभा के चुनाव कराने वाला निर्वाचन विभाग अब अपने कर्मचारियों की एग्जाम लेगा. जिसमें कर्मचारियों से मतदाता सूची में नाम जोड़ने, हटाने, नाम सुधरवाने, पता ठीक करवाने या नया इपिक कार्ड बनवाने के लिए क्या करना पड़ेगा, उसके लिए कौनसा फॉर्म भरना पड़ेगा ऐसे ही सवाल पूछे जाएंगे. 

कर्मचारियों की एग्जाम क्यों: 
निर्वाचन विभाग में कार्यरत कर्मचारियों से आम लोग भी सवाल पूछते नजर आते हैं. निर्वाचन विभाग या बाहर भी लोग इनसे नाम जुड़वाने, हटवाने या सुधरवाने की प्रक्रिया के बारे में पूछते है. लेकिन विभाग में कार्यरत होने के बावजूद प्रक्रिया की जानकारी नहीं होने से वो जवाब देने की बजाय बचते नजर आते हैं. 

कर्मचारी अपने आप को इससे बचाने के लिए कई बार सचिवालय का ही कर्मचारी बताते हैं. ऐसे में बाहरी लोगों को पूरा जवाब नहीं मिल पाता. आम लोगों की जिज्ञासाएं शांत हो और निर्वाचन विभाग का कर्मचारी होने के नाते उनको पूरा जवाब दे सके इसके लिए एग्जाम ली जाएगी.  

परीक्षा कब और कैसे:
सभी कर्मचारियों की यह परीक्षा सचिवालय में ही होगी जिसमें कर्मचारियों से सामान्य सवाल पूछे जाएंगे. इसके लिए 50 प्रश्न हो सकते हैं.  

- कर्मचारियों से वोटर कार्ड बनवाने, नाम करेक्शन के लिए कौनसा फॉर्म भरना होगा. वृद्ध व्यक्ति क्या घर से वोट डाल सकते हैं.  

- ऐसे ही सामान्य से प्रश्न होंगे, जिसके जवाब कर्मचारियों से पूछे जाएंगे. निर्वाचन विभाग का मानना है कि कर्मचारियों को यह सामान्य जानकारी रहनी चाहिए.  

बेस्ट वर्क पर होगा सम्मान:
इसके साथ ही अच्छे कामकाज के लिए हर महीने कर्मचारियों को सम्मानित करने की कार्य योजना पर भी काम किया जा रहा है. 
एग्जाम पास करने पर कर्मचारियों को अन्य विभागों या अन्य जिलों में ट्रैनिंग देने के लिए भेजा जाएगा. जिससे हर आदमी ऑनलाइन नाम जोड़ने, हटाने की प्रक्रिया को समझ सके.  

- वो अब घर बैठे ऑनलाइन भी इस प्रक्रिया को अपना सकता है. इससे समय की भी बचत होगी. हर महीने अच्छे काम के लिए सीईओ की ओर से सम्मान भी मिलेगा. वहीं विभाग में बेस्ट वर्कर के रूप में उनकी फोटो भी लगाई जा सकेगी.  

VIDEO: प्रदेशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि आने वाले दिनों में दुगुने जोश से काम करेंगे - सीएम गहलोत 

नाम करेक्शन के 80 हजार आवेदन ऑनलाइन:
विधानसभा चुनाव के बाद निर्वाचन विभाग को 1 लाख 20 हजार आवेदन करेक्शन और मतदाता सूची में नाम जोड़ने, हटाने के लिए मिले हैं. 

इसमें से 80 हजार आवेदन ऐसे हैं जो आयोग को सीधे ऑनलाइन प्राप्त हुए हैं. निर्वाचन विभाग भी अब लोगों को ऑनलाइन अवेयरनेस के लिए काम कर रहा है. इसके लिए लगातार फेसबुक, ट्वीटर पर पोस्ट डाली जा रही है. 

हाल ही में सामान्य जानकारी के लिए कर्मचारियों की एक ट्रेनिंग भी रखी गई थी. जिसमें ऑनलाइन आवेदन करने सहित अन्य जानकारियां दी गई थी. इसके साथ ही विभाग के सभी कर्मचारियों को ब्रांड एंबेसडर बनाया गया है.  
 

VIDEO: प्रदेशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि आने वाले दिनों में दुगुने जोश से काम करेंगे - सीएम गहलोत

जयपुर: राजस्थान में लंबे समयय से चल रहा सियासी घटनाक्रम अब थम गया है. सीएम गहलोत ने इसे प्रदेशवासियों की जीत बताया है. जैसलमेर से रवाना होने से पहले उन्होंने पत्रकारों से कहा कि प्रदेशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि आने वाले दिनों में दुगुने जोश से काम करेंगे. विधायकों के संबंध अच्छे बने हैं. सभी ने एकजुट होकर प्रदेश के विकास का संकल्प लिया है. 

प्रदेश के किसानों के लिए अच्छी खबर, 3.50 लाख डिफॉल्टर किसानों को भी मिलेगा फसली ऋण  

लोकतंत्र को बचाने के लिए कई बार सहन भी करना पड़ता है:
मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ विधायक नराजा हैं, उन्हें समझाया है कि लोकतंत्र को बचाने के लिए कई बार सहन भी करना पड़ता है. वहीं भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हम पर बाड़ेबंदी करने का आरोप लगा रहे थे, लेकिन खुद को जरूरत क्यों पड़ी.  

सुप्रीम कोर्ट में बसपा विधायकों के विलय मामले पर 13 अगस्त को होगी सुनवाई

भूलो और माफ करों की स्थिति में रहना होगा: 
उन्होंने कहा कि अब भूलो और माफ करों की स्थिति में रहना होगा, क्योंकि प्रदेशवासियों ने विश्वास करके हमारी सरकार बनाई थी ऐसे में हमारी सबकी जिम्मेदारी बनती है कि हम उस विश्वास को बनाए रखें. सुनिए सीएम गहलोत ने क्या कुछ कहा...
 

प्रदेश के किसानों के लिए अच्छी खबर, 3.50 लाख डिफॉल्टर किसानों को भी मिलेगा फसली ऋण

प्रदेश के किसानों के लिए अच्छी खबर, 3.50 लाख डिफॉल्टर किसानों को भी मिलेगा फसली ऋण

जयपुर: फसली ऋण से जुड़े करीब 3.50 लाख अवधिपार ऋणी किसानों को भी फसली ऋण प्रदान किया जाएगा. सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ऋण माफी के अपात्र इन किसानों को भी अब शून्य प्रतिशत ब्याज पर फसली ऋण मिल सकेगा. आंजना ने बताया कि ऐसे सभी किसान जो ऋण माफी में अपात्र थे और उन्होंने समय पर अपना फसली ऋण चुका दिया था. उन्हें अब भी फसली ऋण दिया जा रहा है. लेकिन कई किसान ऐसे थे जो ऋण माफी में अपात्र थे तथा उन्होंने अपना फसली ऋण देरी से चुकाया था वे अवधिपार श्रेणी में आए थे. ऐसे किसानों को भी अब फसली ऋण मिल सकेगा.

7 मेडिकल कॉलेजों के लिए 819 करोड़ रूपए की अतिरिक्त राशि मंजूर, मुख्यमंत्री ने किया प्रस्ताव का अनुमोदन

मूल राशि के बराबर पुनः फसली ऋण ले सकेंगे: 
सहकारिता मंत्री ने बताया कि जिन किसानों ने अभी तक अपना फसली ऋण नहीं चुकाया है तथा जो अवधिपार हो चुके है. ऐसे किसान अब अवधिपार मूल राशि एवं ब्याज चुकाकर पात्रता की स्थिति में मूल राशि के बराबर पुनः फसली ऋण ले सकेंगे. उन्होंने बताया कि ऐसे किसानों के हित में राज्य सरकार के शून्य प्रतिशत ब्याज पर फसली ऋण का लाभ देने के उदेद्श्य से यह निर्णय लिया गया है.

सुप्रीम कोर्ट में बसपा विधायकों के विलय मामले पर 13 अगस्त को होगी सुनवाई

इस वर्ष लगभग 3 लाख नए किसानों को भी फसली ऋण दिया जा रहा:
आंजना ने बताया कि 16 अप्रेल से प्रारम्भ हुए खरीफ सीजन के फसली ऋण में अब तक 23 लाख 79 हजार किसानों को 7 हजार 321 करोड़ रूपये का फसली ऋण का वितरण किया जा चुका है. उन्होंने बताया कि इस वर्ष लगभग 3 लाख नए किसानों को भी फसली ऋण दिया जा रहा है. खरीफ सीजन में फसली ऋण 31 अगस्त तक वितरित होगा. 


 

Horoscope Today, 12 August 2020: जन्माष्टमी पर आज राशि अनुसार करें भगवान श्रीकृष्ण पूजा, भाग्य देगा भरपूर साथ

Horoscope Today, 12 August 2020: जन्माष्टमी पर आज राशि अनुसार करें  भगवान श्रीकृष्ण पूजा, भाग्य देगा भरपूर साथ

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं. 

12 अगस्त 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय  

वृष : भगवान श्रीकृष्ण का पंचामृत से अभिषेक करें. दूध से निर्मित मिठाई, रसगुल्ले  का भोग लगाये. कमलगट्टे की माला से ' हरे कृष्णा ' मंत्र  का  जाप करें. 

मिथुन : भगवान श्रीकृष्ण का दुग्ध से अभिषेक करें. पंचमेवा से निर्मित मिठाई और केले का भोग लगाना चाहिए. साथ ही 'श्रीराधायै स्वाहा' मंत्र की तुलसी या स्फटिक की माला से जाप  करें. 

कर्क :  भगवान राधेकृष्ण का अभिषेक केसर मिश्रित दूध से करें. काजू की बर्फी का भोग लगाना चाहिए.  'श्रीराधा वल्लभाय नमः' मंत्र की पांच माला का जाप करें. फलों में पानीवाला नारियल चढ़ाएं.

सिंह : भगवान श्रीकृष्ण का गंगाजल में शहद मिलाकर अभिषेक करें. गुड़ का भोग लगाये.  'ॐ विष्णवे नमः' मंत्र का जाप करें.  बादाम, मिश्री और फल शिव को अर्पित करें.  

कन्या : भगवान श्रीकृष्ण का दूध में घी मिलाकर अभिषेक करें. दूध से बनी हुई मिठाई का भोग लगाये. ॐ श्री गोविन्दाये नमः  मंत्र का  का जप करें. भगवान कृष्ण को लौंग, इलायची, तुलसी का पत्ता, हरा पान और कोई हरा फल भोग में लगाएं.

तुला :  भगवान कृष्ण का  दूध में शक्कर मिलाकर अभिषेक करें. दूध से निर्मित प्रसाद चढ़ाना चाहिए और श्री कृष्णाय नमः मंत्र की माला का जाप करें और महाप्रसाद में बादाम, माखन, मिश्री और केला भोग में लगाएं.

वृश्चिक : भगवान श्रीकृष्ण का पंचामृत से अभिषेक करें. गुड़ से बने हुए मिष्ठान का भोग लगाये. 'श्री राधा कृष्णाय नमः' मंत्र के कम-से-कम पांच माला का जाप करें. साथ ही पंचमेवा फलों में पानी वाला नारियल भोग में लगाएं.

धनु : भगवान श्रीकृष्ण का शहद और दूध से अभिषेक करें. बेसन की मिठाई का भोग लगायें. ॐ नमो नारायणाय नमः' मंत्र की पांच माला का जाप करें. पीला वस्त्र और पीला फल चढ़ाएं. अमरूद चढ़ाएं. सफ़लता कदम चूमेंगी. 

मकर : भगवान श्रीकृष्ण को गंगाजल से अभिषेक करें.  'ॐ देवकीसुत गोविंदाय नमः' मंत्र का जाप करें. अंगूर, मीठा पान और केसरवाली मिठाई भोग लगाएं. व्यापार में लाभ की प्राप्ति होगी.

कुंभ : भगवान श्रीकृष्ण का पंचामृत से अभिषेक करें. लालिमायुक्त दूध से निर्मित मिठाई का भोग लगाये. 'ॐ  नमो भगवते वासुदेवाय' मंत्र का 11 माला  जाप करें.  मेवे, बादाम, काजू, किशमिश, पिस्ता, अखरोट का प्रसाद चढ़ायें. 

मीन : भगवान श्रीकृष्ण का पंचामृत से अभिषेक करें. माखन मिश्री का भोग लगाये, इलयाची, नारियल, फल अर्पण करें. 'ॐ  माधवाय  नमः' मंत्र का जाप करें. भगवान को इलायची, नारियल और फल अर्पित करें. सब दुखो से मुक्ति मिलेगी. 

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

12 अगस्त 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

12 अगस्त 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

शुभ मास- भाद्रपद मास कृष्ण पक्ष:  
शुभ तिथि अष्टमी जया संज्ञक तिथि दोपहर 11 बज कर 17 मिनट तक तत्पश्चात नवमी तिथि आरम्भ. अष्टमी तिथि मे यथा आवश्यक विवाह आदी , मनोरंजन ,लेखन ,प्रवेश इत्यादि कार्य शुभ रहते हैं. अष्टमी तिथि मे जन्मे पुत्र या पुत्री धनवान, गुणवान, पराक्रमी होते हैं. अष्टमी तिथि को मास मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए. 

कृतिका "मिश्र -अधोमुख" संज्ञक नक्षत्र रात्रि 3 बजकर 26 मिनट तक तत्पश्चात रोहिणी "ध्रुव-उर्ध्वमुख" संज्ञक नक्षत्र रहेगा. कृतिका नक्षत्र मे यथा आवश्यक अग्नि से सबंधित, कृषि इत्यादि कार्य सिद्ध होते हैं. कृतिका नक्षत्र मे जन्म लेने वाला जातक सत्यवादी, सुमार्ग पर चलने वाला, सुन्दर, धनवान, बुद्धिमान होता है. इनका भाग्योदय 29 वर्ष के बाद होता है.  

चन्द्रमा - सम्पूर्ण दिन वृषभ राशि में संचार करेगा. 

व्रतोत्सव -  श्री कृष्ण जन्माष्टमी व्रत वैष्णव जनो का, कृष्ण जन्म पूजा मुहूर्त - रात्रि 12 -05 से रात्रि 12-30 बजे  

राहुकाल - दोपहर 12 बजे से 1.30 बजे तक

दिशाशूल - बुधवार को उत्त्तर दिशा मे दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से गुड़, धनिया खा कर निकले. 

आज के शुभ चौघड़िये - सूर्योदय से प्रातः 9.16 तक लाभ अमृत का, प्रातः 10.54 मिनट से दोपहर 12.32 मिनट तक शुभ और दोपहर 3.47 मिनट से सूर्यास्त तक चर, लाभ का चौघड़िया. 

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री  

Open Covid-19