कोटा के बहुचर्चित मां बेटी हत्याकांड प्रकरण में पॉक्सो कोर्ट ने दो आरोपियों को सुनाई फांसी की सजा

कोटा के बहुचर्चित मां बेटी हत्याकांड प्रकरण में पॉक्सो कोर्ट ने दो आरोपियों को सुनाई फांसी की सजा

कोटा के बहुचर्चित मां बेटी हत्याकांड प्रकरण में पॉक्सो कोर्ट ने दो आरोपियों को सुनाई फांसी की सजा

कोटा: जिले के बहुचर्चित मां बेटी के दोहरे हत्याकांड प्रकरण में आज पॉक्सो क्रम संख्या 4 ने सजा सुनाते हुए मुख्य आरोपी मस्तराम मीणा और उसके साथी लोकेश मीणा को फांसी की सजा सुनाई है, साथ ही आरोपियों पर 80 हजार रूपये जुर्माना भी लगाया है. 31 जनवरी साल 2019 को आरोपी मस्तराम मीणा ने अपने दोस्त के साथ मिलकर कोटा के स्टेशन इलाके में ज्वैलर्स के यहां ज्वैलरी और नकदी सहित 1 करोड़ की लूट की. लूटपाट के दौरान आरोपियों ने बेटी के साथ दुष्कर्म किया और फिर मां बेटी दोनों की नृशंस हत्या कर दी.

 Rajasthan Assembly: जोरदार हंगामे के बीच पास हुए दो विधेयक, विपक्ष का बॉयकाट 

नौकरी छोड़ने के दिया वारदात को अंजाम:
हत्याकांड के पांच दिन बाद 4 फरवरी को आरोपी मस्तराम और उसके दोस्त लोकेश मीणा को उसके गांव बूंदी के जिले तिरथ से पकड़ा था. आरोपी मस्तराम मीणा ज्वैलर्स के यहां नौकर था. नौकरी छोड़ने के कुछ महिनों बाद उसे इस वारदात को अंजाम दिया था. आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद से मामला पॉक्सों कोर्ट संख्या 4 में विचाराधीन था. करीब 48 गवाहों के बयानों के बाद आज आरोपी मस्तराम मीणा और लोकेश मीणा को फांसी की सजा सुनाने के साथ लग अलग धाराओं में भी कोर्ट ने दोषी मानते हुए सजा सुनाई है. वहीं 80 - 80  हजार रूपये का जुर्माना भी लगाया है.

विधानसभा में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के क्लेम राशि को लेकर जमकर हुआ हंगामा 

कोर्ट ने प्रकरण को रेयर ऑफर रेयर माना:
कोर्ट ने इस प्रकरण को रेयर ऑफर रेयर माना हैं और विशिष्ट न्यायाधीश अजय कुमार शर्मा द्वितीय की अदालत ने 172 पेज के फैसले में टिप्पणी करते हुए लिखा है की ये मामला समाज की सामूहिक चेतना से सम्बंधित है. जिस तरह का यह घृणित कार्य किया गया है, वह नरमी के रुख लायक नहीं है. अपराध से पूरे समाज की रुह सिहर गई. ये पूरे समाज के लिए खतरा था. समाज हर पल हर क्षण की दरिंदगी से सुरक्षा चाहता है. समाज ऐसे व्यक्ति को समाज के बीच देखना नहीं चाहता.
 

और पढ़ें