प्रतापगढ़ Pratapgarh: पेड़ों की अंधाधुंध अवैध कटाई को लेकर वन विभाग के खिलाफ प्रदर्शन

Pratapgarh: पेड़ों की अंधाधुंध अवैध कटाई को लेकर वन विभाग के खिलाफ प्रदर्शन

Pratapgarh: पेड़ों की अंधाधुंध अवैध कटाई को लेकर वन विभाग के खिलाफ प्रदर्शन

प्रतापगढ़: जिले के सीतामाता वन्य जीव अभ्यारण (Sita Mata Wildlife Sanctuary ) में हो रही पेड़ों की अंधाधुंध कटाई और बढ़ते अवैध अतिक्रमण को रोकने की मांग को लेकर आज ग्यासपुर वन सुरक्षा समिति से जुड़े लोगों और ग्रामीणों ने मिनी सचिवालय पहुंचकर वन विभाग (Forest Department Pratapgarh) के खिलाफ प्रदर्शन किया और कार्रवाई की मांग को लेकर अतिरिक्त जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा. 

वन सुरक्षा समिति के अध्यक्ष अंबालाल मीणा ने बताया कि सीतामाता वन्य जीव अभ्यारण में 24 खातेदार हैं लेकिन बांसवाड़ा और डूंगरपुर इलाके से आकर कई लोग वन्य जीव अभ्यारण में कब्जा करने लगे हैं. यहां पर उन्होंने पेड़ों की कटाई कर खेती करना भी शुरू कर दिया है और पक्के मकान भी बनाने लगे हैं. वन विभाग इस मामले में पूरी तरह से खामोश है कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है. ऐसे अतिक्रमणकारियों को राजनेताओं का भी संरक्षण मिल रहा है. बढ़ते अतिक्रमण और खत्म हो रहे जंगल से जीव जंतुओं पर भी संकट गहराने लगा है. अतिक्रमण करने वालों ने जमीनों पर अवैध रूप से कब्जा कर फर्जी तरीके से मतदाता पहचान पत्र भी बना लिए हैं. 

जमीन को बचाने के लिए लोग उग्र आंदोलन करेंगे:

एडीएम को सौंपे गए ज्ञापन में बताया गया कि अभयारण्य क्षेत्र के भूतिया, जंबूवाला, केली, भूरी तलाई खलेल, रीछड़ी, रणा, भांडकला आदि कई इलाकों में वन भूमि पर कब्जे किए जा रहे हैं. ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि प्रशासन इस विषय में कोई कार्यवाही नहीं करता है तो जल, जंगल और जमीन को बचाने के लिए इलाकों के लोग उग्र आंदोलन करेंगे. इस दौरान हाथों में तख्तियां और बैनर लिए ग्रामीणों ने वन विभाग के खिलाफ नारेबाजी भी की.
 

और पढ़ें