VIDEO: विधानसभा में 'घेराव' की तैयारी, बीजेपी ने अपने विधायकों को दिया टास्क

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/06/18 06:34

जयपुर: विधानसभा में सरकार जो बिल लेकर आएगी, उन बिलों पर चर्चा में विपक्ष की भूमिका और कमियों को लेकर विरोध का कल नए विधायकों ने प्रशिक्षण लिया. 27 जून से शुरू हो रहे विधानसभा के बजट सत्र से पूर्व कल भाजपा विधायक दल की बैठक में राज्य सरकार को किसान कर्ज माफी, बिजली व पानी समेत अन्य विभिन्न मुद्दों पर घेरने की रणनीति बनी. लोकसभा चुनाव में जीत के बाद भारतीय जनता पार्टी इस बार विधानसभा सत्र में आक्रमक रहेगी, पेश है एक रिपोर्ट:

बैठक में सदन की रणनीति को लेकर चर्चा:
27 जून से शुरू हो रहे विधानसभा के बजट सत्र से पहले भारतीय जनता पार्टी ने संकेत दिए हैं कि इस बार विभिन्न मुद्दों को लेकर भाजपा आक्रमक रुख अपनाएगी. अपनी विपक्ष की भूमिका की तैयारियों को लेकर आज विधानसभा की ना पक्ष लॉबी में भाजपा विधायक दल की एक महत्वपूर्ण बैठक हुई. बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने विधायकों को सदन की रणनीति को लेकर चर्चा की. भाजपा ने अपने विधायकों को टास्क दिया है की सभी विधायक तारांकित प्रश्न नियमित लगाएं साथ ही अपने क्षेत्र के ज्वलंत मुद्दों की अच्छे से तैयारियां कर के आए और उन्हें सदन में उठाए. साथ ही जो बिल सरकार इस बार विधानसभा सत्र में लेकर आएगी उन बिलों पर चर्चा और उनकी कमियों के विरोध को लेकर विशेषज्ञों के द्वारा नए विधायकों को जानकारी दी गई कि जनता से राय लेकर उनका विरोध किस तरीके से किया जाए. 

बैठक में नहीं आए 20 विधायक:
हालांकि भारतीय जनता पार्टी विधायक दल की बैठक में 20 विधायक नहीं आए उनमें से नौ विधायकों ने नेता प्रतिपक्ष को नहीं आने का कारण बता दिया था लेकिन बाकी के 11 विधायक बिना कारण बताए विधायक दल की बैठक से नदारद रहे जिसे लेकर नेता प्रतिपक्ष ने सख्त रुख अपनाते हुए कारण बताओ नोटिस जारी करने का फैसला किया है. भाजपा की इस विधायक दल की बैठक में सबसे ज्यादा चर्चा किसान कर्ज माफी व किसानों के ऋण नही मिलने जैसे विषय पर चर्चा हुई. भारतीय जनता पार्टी विधायक दल ने फैसला किया है की किसानों के अलावा प्रदेश में पानी की भारी समस्या और समुचित बिजली आपूर्ति नहीं होने के मुद्दे को भी प्रमुखता से उठाया जाएगा. साथ ही बेरोजगारी भत्ता आर्थिक पिछड़ा वर्ग के युवाओं के प्रमाण पत्र बनने में आ रही परेशानी समय प्रदेश में बढ़ते अपराधों के मुद्दे पर सरकार को घेरा जाएगा. पिछले दिनों प्रदेशभर में हुए  दुष्कर्म की घटनाओं के मुद्दे पर भी भाजपा सरकार से जवाब मांगेगी. इस बैठक में नए विधायकों को नसीहत भी दी गई कि सदन की बैठकों में नियमित रूप से हिस्सा लें साथ ही सदन में अनुशासन भी बनाए रखें. किसी भी विषय की पूरी जानकारी और तैयारी के साथ ही सदन में भाजपा की ओर से जनता का पक्ष रखें ।यदि किसी विषय पर वरिष्ठ नेताओं की सलाह लेने की आवश्यकता हो तो वरिष्ठ भाजपा विधायकों से सलाह भी ले ली जाए. 

प्रदेश संगठन महामंत्री ने दिए निर्देश:
बैठक के दौरान भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर भी मौजूद रहे, जिन्होंने सदस्यता अभियान को सफल बनाने के साथ पार्टी के विभिन्न कार्यक्रमों में भी विधायकों को सक्रिय रहने के दिशा निर्देश दिए. इस दौरान सदन में कई विशेषज्ञों ने नए भाजपा विधायकों को सदन से संबंधित विषयों पर उनके सवालों के जवाब दिए.

बीजेपी के लिए बजट सत्र खास:
कुल मिलाकर कहा जाए तो भारतीय जनता पार्टी के लिए यह बजट सत्र खास इसलिए होगा, क्योंकि एक तरफ 2 विधानसभाओं के उपचुनाव होने हैं तो दूसरी तरफ नगर निकाय और पंचायत चुनाव भी करीब है. ऐसे में भारतीय जनता पार्टी इस बार पूरी तरह से एग्रेसिव रहने की तैयारियों में है. जिससे कि आगामी उपचुनाव और चुनावों में सियासी लाभ भी लिया जा सके. अब देखना यह होगा कि इस बार का बजट सत्र सामान्य वाद विवाद और बहस के साथ ही नियमित रूप से चलता है या फिर विभिन्न मुद्दों की वजह से हंगामे की भेंट चढ़ता है. 

... संवाददाता ऐश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in