फसली ऋण से जुड़े किसानों का प्रधानमंत्री फसली बीमा प्रीमियम 15 जनवरी तक होगा जमा

Nirmal Tiwari Published Date 2020/01/13 17:22

जयपुर: सहकारी बैंकों से फसली ऋण लेने वाले किसानों का 15 जनवरी तक प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत प्रीमियम जमा कराया जाएगा. प्रमुख सचिव नरेश पाल गंगवार ने कहा कि रबी में फसली ऋण लेने वाले या जिनकी साख सीमा स्वीकृत हो चुकी है, ऐसे लगभग 10 लाख किसानों का बीमा प्रीमियम संबंधित कंपनी को भेजा जाएगा।

टिड्डी प्रभावित क्षेत्र के प्रबंध निदेशकों को निर्देश:
दरअसल आज इस मामले में सहकारिता विभाग से जुड़े अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई. जिसमें प्रमुख सचिव नरेश पाल गंगवार ने टिड्डी प्रभावित क्षेत्र के प्रबंध निदेशकों को निर्देश दिये कि 15 जनवरी तक किसान का फसली बीमा अवश्य कराए. लापरवाही होने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी. उन्होंने कहा कि ऋण माफी में शिकायत से संबंधित सभी जांचे अधिकतम एक माह में पूर्ण की जाए. गंगवार ने कहा कि अपेक्षित लक्ष्यों की पूर्ति के लिए प्रतिमाह वीडियों कान्फ्रेसिंग की जाएगी. प्रत्येक तीन माह में खण्डीय कार्यालयों की एक बैठक आयोजित की जाएगी. संभाग स्तर पर होने वाली ये बैठकें प्रमुख शासन सचिव एवं रजिस्ट्रार द्वारा ली जाएगी. इस क्रम में प्रथम बैठक अजमेर में की जानी प्रस्तावित है. उन्होंने कहा कि सहकारिता अधिनियम के तहत पंजीकृत सभी संस्थाओं को 31 मार्च, 2020 तक राज सहकार पोर्टल पर संस्था की सूचनाऐं अपलोड़ करनी होगी. सूचना अपलोड़ नही करने वाली संस्थाओं के सीईओ एवं जिला उप रजिस्ट्रार के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी.  

समितियों को मंडी यार्ड के रूप में किया जाएगा विकसित:
रजिस्ट्रार डॉ. नीरज के. पवन ने बताया कि प्रदेश की ग्राम सेवा सहकारी समितियों एवं क्रय विक्रय सहकारी समितियों की आय में बढ़ोतरी के लिए समितियों को मंडी यार्ड के रूप में विकसित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में जिन सहकारी समितियों के पास जमीन है, ऐसी समितियों को मंडी यार्ड के लिए लाइसेंस जारी किए जाएंगे. उन्होंने निर्देश दिए कि इस संबंध में कृषि एवं सहकारिता के जिला स्तर के अधिकारियों की बैठक आयोजित की जाए. डॉ. पवन ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत पंजीयन होने से शेष रहे किसानों को भी जागरूक किया जाए तथा अविलम्ब उनका भी पंजीयन करवाएं. उन्होंने कहा कि जिले के 5 प्रतिशत खातों का भौतिक सत्यापन करवाया जाएगा. इसके लिए उन्होंने केन्द्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशकों को निर्देशित किया है. उन्होंने कहा कि जिन किसानों के बैंक खातों के आईएफएससी कोड़ एवं बैंक खाता गलत है, उन्हें सही किया जाए. 

उपभोक्ता भण्डारों में नए सुपर मार्केट:
रजिस्ट्रार ने सहकारी भूमि विकास बैंकों के सचिवों को निर्देश दिए कि लक्ष्य के अनुरूप 31 मार्च तक किसानों को ऋण वितरण संबंधी कार्यवाही को सम्पन्न किया जाए. उन्होंने कहा कि ऋण वितरण में कोताही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उपभोक्ता भण्डारों में नए सुपर मार्केट खोले जाएंगे, ताकि कडी बंधन से संस्थाओं के व्यापार में वृद्धि कर आय को बढ़ाया जा सके. उन्होंने कहा कि बीकानेर, जैसलमेर, जोधपुर एवं उदयपुर में सहकारी क्षेत्र में रूफटॉफ रेस्टोरेन्ट खोले जाएंगे. उन्होंने निर्देश दिए कि इस संबंध में तुरन्त कार्यवाही की जाए. प्रबंध निदेशक, राजफैड, सुषमा अरोड़ा ने कहा कि सहकारिता विभाग के द्वारा खरीद में पूर्ण सहयोग से खरीद की व्यवस्था सुचारू रूप से संपादित की जा रही है तथा राजफैड़ के प्रयासों से उपज बेचान के तीन दिन में किसानों के खातों में उपज की राशि जमा कराई जा रही है. 

... संवाददाता निर्मल तिवारी की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in