अहमदाबाद में फिर गूंजी इंदिरा जी की आवाज

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/13 09:53

अहमदाबाद: कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को जिस पल का काफी लंबे समय से इंतजार था आखिरकार वह गुजरात की रैली में आया. महासचिव का पद संभालने के बाद पहली बार प्रियंका गांधी वाड्रा ने रैली को संबोधित किया. गांधीनगर की जनसभा में अपने साढ़े सात मिनट के भाषण में प्रियंका ने मौजूदा सरकार पर करारा हमला बोला और कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र दिया.

जब मुकाबला है विरोधी दल के सबसे ताकतवर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तो कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के भाषण में उनकी दादी इंदिरा गांधी वाले तेवर साफ नजर आए. करीब 10 मिनट के अपने नपे तुले भाषण में प्रियंका गांधी के एक एक शब्द में उनकी दादी इंदिरा का लहजा झलक रहा था.

प्रियंका के भाषण में मुद्दे तो कमोवेश वहीं थे जो कांग्रेस पार्टी लंबे समय से मोदी के खिलाफ उठाती आ रही है लेकिन इस भाषण में जो सबसे खास बात थी वो प्रियंका गांधी की आवाज जो हूबहू उनकी दादी प्रियंका गांधी की आवाज का अहसास करा रही थी.

इसी आवाज का जादू है कि रैली स्थल पर मौजूद कई पुराने कांग्रेसी नेता भावुक होते नजर आए. इतना ही नहीं खुद सोनिया गांधी और राहुल गांधी को भी इस मौके पर भावुक होते देखा गया.

प्रियंका भी अपनी दादी की तरह से सीधे सामने खड़ी जनता के दिलों से खुद को जोड़ती है. आज भी भाषण की शुरुआत में ही प्रियंका ने कहा कि मैं भाषण नहीं देती हूं...मैं आपसे दो शब्द कहती हूं जो मेरे दिल में हैं..और उसके बाद साबरमती आश्रम  में बैठने का जिक्र करते हुए कहा कि देश के लिए जान देने वाले देशभक्तों की याद करके मेरी आंखों में आंसू आ गए.

देश में जिन लोगों ने भी इंदिरा गांधी का दौर देखा है उनको ये अच्छी तरह याद होगा कि ठीक इसी तरह इंदिरा गांधी लोगों को अपना बना लेती थी. ज्यादातर लोगों का ऐसा मानना है कि सिर्फ पहनावे और नैन नक्श की वजह से प्रियंका की तुलना उनकी दादी इंदिरा गांधी से की जाती है, लेकिन सियासत को नजदीक से जानने समझने वाले लोग जानते हैं कि सियासत में इमोशन और टाइमिंग का बहुत महत्व है और इस लिहाज से लोग प्रियंका में हूबहू इंदिरा गांधी को देखते हैं.

इंदिरा गांधी के करीबी सहयोगी रहे माखन लाल फोतेदार ने अपनी किताब चिनार लीव्स में दावा किया है कि अक्टूबर 1984 में कश्मीर के दौरे के वक्त इंदिरा को अपनी मौत का आभास हो गया था और कार से लौटते वक्त इंदिरा ने कह दिया था कि राजनीति में वक्त के साथ साथ प्रियंता गांधी उनकी राजनीतिक उत्तराधिकारी के तौर पर उभरेंगी. इंदिरा गांधी ने कहा था कि प्रियंका ना सिर्फ राजनीति में सफल होंगी बल्कि काफी वक्त तक सत्ता में भी रहेंगी और आज अहमदाबाद में प्रियंका के भाषण के दौरान कांग्रेसी नेताओं को इंदिरा गांधी की कही गई बातें सच होती नजर आई.

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in