दौसा Dausa: लालसोट में रुका प्रियंका गांधी का काफिला, 2 साल से गुमशुदा बुद्धिप्रकाश के परिजनों से की मुलाकात

Dausa: लालसोट में रुका प्रियंका गांधी का काफिला, 2 साल से गुमशुदा बुद्धिप्रकाश के परिजनों से की मुलाकात

दौसा: कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने आज सवाई माधोपुर से दिल्ली जाते वक्त लालसोट में 2 साल से गुमशुदा युवक के परिजनों से मुलाकात की. इस दौरान परिजनों ने रोते हुए प्रियंका गांधी को अपनी पीड़ा सुनाई. पीड़ा सुनने के बाद प्रियंका गांधी ने परिजनों से ज्ञापन मांगा. लेकिन ज्ञापन मौके पर तैयार नहीं था. इसके बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि वे मामले की जानकारी लेंगी. 

बता दें कि कर्णपुरा गांव निवासी बुद्धिप्रकाश 2 साल से गुमशुदा है. बीते दिन से परिजन SDM कार्यालय पर धरने पर बैठे हैं. प्रियंका गांधी के आने की सूचना पर परिजन भी सवाई माधोपुर रोड पर पहुंच गए. भीड़ को देखकर प्रियंका गांधी का काफिला भी रुक गया. प्रियंका गांधी के काफिले को लेकर पुलिस प्रशासन सुबह से ही मुस्तैद नजर आ रहा था. 

किरोडीलाल मीणा के नेतृत्व में धरना-प्रदर्शन भी किया गया था:
इस मामले में हाल ही में राज्यसभा सांसद डॉ. किरोडीलाल मीणा के नेतृत्व में धरना-प्रदर्शन भी किया गया था. बड़ी तादात में पहुंचे लोगों के साथ किरोड़ी ने मंत्री परसादीलाल मीणा के आवास का घेराव भी किया था. इससे पुलिस-प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए थे. आनन-फानन में अतिरिक्त पुलिस जाब्ता मंत्री के आवास के बाहर तैनात किया गया था. भीड़ को रोकने के लिए नाकाबंदी की गई, लेकिन आक्रोशित भीड़ ने मंत्री के नाम के बोर्ड को उखाडते हुए रोष व्यक्त किया. 

प्रियंका गांधी वाड्रा पिछले 3 दिन से परिवार के साथ निजी दौरे पर थी:
आपको बता दें कि कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच राजस्थान के सवाईमाधोपुर पहुंचीं थी. प्रियंका ने यहां स्वजनों के साथ रणथंभौर राष्ट्रीय अभ्यारण्य में टाइगर सफारी की. इस दौरान वो रणथंभौर में बाघों की अठखेलियां देख रोमांचित हुई. प्रियंका गांधी वाड्रा पिछले 3 दिन से परिवार के साथ निजी दौरे पर थी. प्रियंका गांधी सवाईमाधोपुर के होटल शेर बाघ में ठहरीं थी. प्रियंका परिवार के साथ पहले भी कई बार रणथंभौर आ चुकी.  

और पढ़ें