जयपुर 15वीं विधानसभा का छठा सत्र: शोकाभिव्यक्ति के बाद सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

15वीं विधानसभा का छठा सत्र: शोकाभिव्यक्ति के बाद सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

15वीं विधानसभा का छठा सत्र: शोकाभिव्यक्ति के बाद सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

जयपुर (राजस्थान): 15वीं विधानसभा का छठा सत्र आज से शुरू हुआ जहां दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि दी गई और इसके बाद सदन की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई. विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने पर अध्यक्ष सी पी जोशी ने शोक प्रस्ताव रखा और दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि देते हुए दो मिनट का मौन रखा गया.

सदन ने राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ पहाड़िया, केरल के पूर्व राज्यपाल रघुनंदन भाटिया, जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल जगमोहन, हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह व अन्य को श्रद्धांजलि अर्पित की. सदस्यों ने राज्य के जयपुर, धौलपुर व कोटा इलाके में 11 जुलाई को बिजली गिरने की घटनाओं में मारे गए लोगों को भी श्रद्धांजलि अर्पित की.

आपको बता दें कि 173 दिन बाद फिर से विधानसभा का सत्र शुरू हुआ. सदन की 3 से 5 बैठकें होने की सम्भावना जताई जा रही है. 25 विधायक सत्र में सवाल नहीं लगा सकेंगे. लगभग आधा दर्जन से ज्यादा बिल सत्र के दौरान पारित हो सकते है. सत्र हंगामेदार रहने की सम्भावना जताई जा रही है. इससे पहले स्पीकर सीपी जोशी विधानसभा पहुंचे.

विधानसभा सचिव स्पीकर के चैंबर में पहुंचे. आज की कार्यवाही की बारे में चर्चा की. मंत्री शांति धारीवाल ,पीसीसी चीफ गोविंद डोटासरा,मंत्री सुभाष गर्ग और खिलाड़ी बैरवा विधानसभा पहुंचे. भाजपा ने सरकार पर आरोप लगाया है. कानून व्यवस्था, सरकारी नौकरियों में भर्ती, बिजली, पानी,किसानों सहित तमाम मुद्दे भाजपा सदन में उठाएगी. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रामलाल ने कहा कि मज़बूत तरीके से जनता की आवाज, भाजपा विधायक दल एकजुट उठाएंगे.

और पढ़ें