नगर निगम चुनाव 2020: जयपुर,कोटा और जोधपुर के प्रत्याशियों पर अंतिम मुहर की प्रक्रिया, भाजपा प्रदेश कार्यालय में मंथन जारी 

नगर निगम चुनाव 2020: जयपुर,कोटा और जोधपुर के प्रत्याशियों पर अंतिम मुहर की प्रक्रिया, भाजपा प्रदेश कार्यालय में मंथन जारी 

जयपुर: भाजपा प्रदेश कार्यालय में जयपुर, जोधपुर एवं कोटा नगर निगम चुनाव को लेकर कोर कमेटी की बैठक में सुबह से देर रात तक माथापच्ची का दौर जारी रहा. पार्षद प्रत्याशी चयन को लेकर तैयार किये गये पैनलों, नगर निगम चुनाव में पार्टी की रणनीति व एजेण्डे पर चर्चा हुई. इस दौरान भाजपा के राष्ट्रीय सह-संगठन महामंत्री वी. सतीश, प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां, प्रदेश महामंत्री संगठन चन्द्रशेखर ने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया, केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, कैलाश चौधरी, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ के साथ चर्चा की. जोधपुर, कोटा और जयपुर के नगर निगमों के समन्वयकों, प्रभारियों, सह-प्रभारियों, जनप्रतिनिधियों एवं जिलाध्यक्षों के साथ भी चर्चा की गई. जिसमें राज्यसभा सांसद राजेन्द्र गहलोत, प्रदेश महामंत्री मदन दिलावर, भजनलाल शर्मा, विधायक वासुदेव देवनानी, प्रदेश मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा, प्रदेश मंत्री जितेन्द्र गोठवाल बैठक में मौजूद रहे.  

पूनियां का कहना है कि जयपुर, जोधपुर और कोटा नगर निगम चुनाव को लेकर उम्मीदवारों के चयन के लिए पार्टी ने जो प्रक्रिया अपनायी थी. उसमें बूथ, मण्डल, वार्ड, जिला प्रभारी, निकाय प्रभारी, सम्भाग प्रभारी और वहां के जनप्रतिनिधि और जिलाध्यक्ष इन सभी ने स्थानीय स्तर पर चयन को लेकर नामों की स्क्रीनिंग की और उसके बाद पैनल तैयार कर सर्वाधिक जीतने वाले नामों पर चर्चा हुई. 
वार्ड प्रत्याशियों के नामांकन के लिए निकाय प्रभारियों को अधिकृत किया है. 

उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार ने परिसीमन के नाम पर, पोलिंग स्टेशन्स के नाम पर, पूरे सरकारी तंत्र को इस्तेमाल करने के नाम पर भले ही कितना भी तिकड़म किया हो, लेकिन भरोसे के साथ कह सकते है कि भाजपा सभी 6 नगर निगमों में अच्छे बहुमत के साथ जीत दर्ज करेगी. गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर पूनियां ने कहा कि इस मामले को राज्य की कांग्रेस सरकार ने समस्या बनाया है एवं इस मामले को उलझाया है और समाधान भी उन्हीं को करना है, लेकिन बेवजह कांग्रेस सरकार इस मामले को उलझा रही है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए ऐश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट

और पढ़ें