3 माह और जारी रहेगी ईएमआई न भरने की मोहलत, आरबीआई ने कोरोना संकट के बीच लिया फैसला

3 माह और जारी रहेगी ईएमआई न भरने की मोहलत, आरबीआई ने कोरोना संकट के बीच लिया फैसला

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच आरबीआई ने लोन की किस्‍त देने पर 3 माह की अतिरिक्‍त छूट दी गई है. मतलब कि अगर आप अगले 3 माह तक अपने लोन की ईएमआई नहीं देते हैं तो बैंक दबाव नहीं डालेगा. आरबीआई ने लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर बैंकों से 3 माह के लिए लोन और ईएमआई पर छूट देने को कहा था.

23 मई से शुरू होगा रोडवेज बसों का संचालन, राजस्थान के 55 रूटों पर चलाई जाएगी बस

कुल 6 माह की मिली छूट:
इसके बाद अधिकतर बैंकों ने इसे 3 माह के लिए लागू कर दिया था. अब आरबीआई के नए 3 माह के लिए मोहलत के ऐलान के बाद ग्राहकों को कुल 6 माह की छूट मिल जाएगी. मतलब यह कि आप कुल 6 माह तक लोन की ईएमआई नहीं देना चाहते हैं तो बैंकों की ओर से कोई दबाव नहीं पड़ेगा. वहीं, आपका क्रेडिट स्‍कोर भी दुरुस्‍त रहेगा. यानी बैंक की नजर में आप डिफॉल्‍टर नहीं होंगे. हालांकि, इसके लिए आपको अतिरिक्‍त ब्‍याज देनी पड़ेगी.

रेपो रेट में 0.40 प्रतिशत की कटौती:
आरबीआई गवर्नर ने बताया कि पिछले 3 दिन में एमपीसी ने घरेलू और ग्लोबल माहौल की समीक्षा की. इसके बाद रेपो रेट में 0.40 प्रतिशत की कटौती का फैसला लिया गया है. लॉकडाउन में यह दूसरी बार है जब आरबीआई ने रेपो रेट पर कैंची चलाई है. इससे पहले 27 मार्च को आरबीआई गवर्नर ने 0.75 फीसदी कटौती का ऐलान किया था. इसके बार बैंकों ने लोन पर ब्‍याज दर कम कर दिया था. जाहिर सी बात है कि इससे आपकी ईएमआई भी पहले के मुकाबले कम हो गई है.

25 मई से शुरू होंगी घरेलू फ्लाइट्स, जयपुर से 1 घंटे में अधिकतम 2 फ्लाइट ही होंगी संचालित

और पढ़ें