राज्यपाल को हटाने को लेकर हाईकोर्ट में दायर हुई जनहित याचिका, एडवोकेट शांतनु पारीक ने दायर की याचिका

राज्यपाल को हटाने को लेकर हाईकोर्ट में दायर हुई जनहित याचिका, एडवोकेट शांतनु पारीक ने दायर की याचिका

राज्यपाल को हटाने को लेकर हाईकोर्ट में दायर हुई जनहित याचिका, एडवोकेट शांतनु पारीक ने दायर की याचिका

जयपुर: राजस्थान सियासी संकट के बीच राज्यपाल को हटाने को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर हुई. यह याचिका एडवोकेट शांतनु पारीक की ओर से दायर की गई. याचिका में राज्यपाल को हटाने की गुहार लगाई गई है. याचिका का मामला कैबिनेट नोट के बाद भी विधानसभा का सत्र नहीं बुलाने से जुड़ा है. राज्यपाल पर संवैधानिक सिद्धांतों के उल्लंघन का आरोप लगाया गया है. मामले में केंद्र सरकार को भी पक्षकार बनाया गया है.

विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी ने वापस ली अपनी SLP, सुप्रीम कोर्ट में कपिल सिब्बल ने कहा- मसले पर सुनवाई की जरूरत नहीं
 
राजभवन के रुख से सीएम गहलोत हैरान:
आपको बता दें कि राजस्थान में चल रहे सियासी संकट को लेकर राजभवन के रुख से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हैरान और परेशान नजर आ रहे हैं. राजनीतिक सूत्रों की माने तो सचमुच सीएम गहलोत को कुछ समझ नहीं आ रहा है. वहीं राजभवन और दिल्ली में भी गहलोत की कोई नहीं सुन रहा है. ऐसे में निराश होकर कल सीएम गहलोत ने प्रधानमंत्री से फोन पर बात की है. लेकिन आज सुबह ही राज्यपाल ने मंजूदरी नहीं दी और कुछ सवालों के साथ फाइल को वापस लौटा दिया. 

राजस्थान के लगातार राष्ट्रपति शासन की ओर बढ़ने के संकेत: 
उधर इस सारे घटनाक्रम पर दिल्ली से जुड़े सूत्र ने राजस्थान के लगातार राष्ट्रपति शासन की ओर बढ़ने के संकेत दिए हैं. बहुत संकोच करते हुए इस सूत्र ने दो टूक बात बोलते हुए कहा कि अब दिल्ली को केवल राजभवन घेरने जैसी एक और गलती का इंतजार है. इन सारे हालात में कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं का मनोबल प्रभावित हो रहा है. 

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय मामले पर मदन दिलावर की याचिका खारिज

एक बार फिर विधानसभा सत्र बुलाने की अपील को ठुकरा दिया: 
बता दें कि राजस्थान के राजभवन ने एक बार फिर विधानसभा सत्र बुलाने की अपील को ठुकरा दिया है. राजभवन की ओर से फाइल को संसदीय कार्य विभाग को वापस दिया गया और कुछ सवाल पूछे गए. हालांकि सत्र आहूत करने को लेकर राज्यपाल ने इनकार नहीं किया है. लेकिन 31 जुलाई से विधानसभा सत्र बुलाने के गहलोत के प्रस्ताव को राज्यपाल ने मंजूर नहीं किया है. अब राजनीतिक और प्रशासनिक क्षेत्रों में एक बात को लेकर जिज्ञासा है कि आखिर किस आधार पर राज्यपाल ने विधानसभा सत्र बुलाने की मंजूरी नहीं दी? 

और पढ़ें