कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले- पंजाब लोक कांग्रेस उम्मीदवार की जीतने की क्षमता पर देगी टिकट

कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले- पंजाब लोक कांग्रेस उम्मीदवार की जीतने की क्षमता पर देगी टिकट

कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले-  पंजाब लोक कांग्रेस उम्मीदवार की जीतने की क्षमता पर देगी टिकट

चंडीगढ़: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को कहा कि अगले साल की शुरुआत में प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में टिकट देने का मापदंड उम्मीदवार की जीतने की क्षमता होगी और वह अपनी नवगठित पार्टी में कांग्रेस छोड़ने वाले हर शख्स को शामिल नहीं करेंगे और सिर्फ उन्हीं नेताओं पर विचार किया जाएगा जो उनकी पार्टी की विचारधारा के अनुरूप होंगे. कांग्रेस छोड़ने वाले लोगों को शामिल करने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में सिंह ने कहा कि हम सिर्फ उन्हीं लोगों को शामिल करेंगे जो हमारी विचाराधारा के अनुरूप हो सकते हैं. ऐसा नहीं है कि कांग्रेस को छोड़कर आए सभी लोगों को हम (अपनी पार्टी में) शामिल करेंगे. हम देखेंगे. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि (पंजाब प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख नवजोत सिंह) सिद्धू कह रहे हैं कि वह 35 सीटों पर उम्मीदवार बदलेंगे और क्या इसका मतलब है कि हम उन सभी को शामिल करेंगे. बिल्कुल नहीं.

सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस, भाजपा और अकाली दल के पूर्व नेता सुखदेव सिंह ढींडसा के दल के साथ मिलकर राज्य में अगली सरकार बनाएगी. गठबंधन के मुख्यमंत्री पद के चेहरे को लेकर किए गए सवाल पर उन्होंने कहा कि तीन दल तय करेंगे और यह फैसला सामूहिक रूप से लिया जाएगा. वह सोमवार को यहां सेक्टर नौ में अपनी नई पार्टी का कार्यालय खोलने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. उनके साथ उनके बेटे रनिंदर सिंह और बेटी जय इंदर कौर भी थीं. सिंह को सितंबर में पंजाब के मुख्यमंत्री पद से हटा दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी थी और पंजाब लोक कांग्रेस नाम से अपनी पार्टी बना ली थी. सिंह ने कहा कि उनके दल के लिए सदस्यता अभियान शुरू हो चुका है. सिंह ने कहा कि भाजपा और ढींडसा साहब के साथ सीटों पर समझौता करके हमें पूरी उम्मीद है कि आने वाले चुनाव में हम जीतेंगे हम अगली सरकार बनाएंगे. केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा नेता अमित शाह ने शनिवार को कहा था कि उनकी पार्टी अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सिंह और ढींडसा के साथ गठबंधन करने के वास्ते बातचीत कर रही है.

यह पूछे जाने पर कि सीट बंटवारे की बातचीत के लिए वह भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा से कब मिलेंगे, सिंह ने कहा कि सैद्धांतिक तौर पर गठबंधन पर फैसला कर लिया गया है. उन्होंने कहा कि अब सिर्फ सीटों पर फैसला होना बाकी रह गया है. सीटों पर फैसले के लिए, हम जाएंगे और मैं आपको (कितनी सीटों पर कौन सी पार्टी चुनाव लड़ेगी, वह) संख्या नहीं बता सकता हूं. वह सीट बंटवारे के मुद्दे पर पहले ही प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृह मंत्री के साथ बातचीत कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी में टिकट देने का मापदंड उम्मीदवार की जीतने की क्षमता होगी. सिंह ने यह भी कहा कि भाजपा और ढींडसा के शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) से आग्रह करेंगे कि वे जीतने वाले उम्मीदवार को ही टिकट दें. दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के अब भी धरना देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वे तीन कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे, जिन्हें संसद ने अब रद्द कर दिया है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री न्यूनतम समर्थन मूल्य पर एक समिति भी बना रहे हैं और इस समिति में शामिल करने के लिए पांच किसानों के नाम मांगे गए हैं. सोर्स- भाषा
 

और पढ़ें