पंजाब नेशनल बैंक अब यूके में भी धोखाधड़ी का शिकार, 3.7 करोड़ अमेरिकी डॉलर की चपत

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/10 08:37

लंदन। भारत में डायमंड कारोबारी नीरव मोदी के पीएनबी घोटाले के बाद पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) यूके में भी धोखाधड़ी का शिकार हुआ है। इस बार पीएनबी को 3.7 करोड़ अमेरिकी डॉलर यानी 271 करोड़ रुपए की चपत लगी है, जिसे लेकर यूके में पीएनबी की सहायक कंपनी ने पांच भारतीयों, एक अमेरिकी और तीन कंपनियों पर केस किया है। बैंक के मुताबिक इन लोगों ने बैंक को गुमराह करते हुए करोड़ों रुपए का लोन लिया, जिन पर कुल मिलाकर करीब 271 करोड़ रुपए की देनदारी है।

हाईकोर्ट में दायर कराए गए मामले में बैंक ने कहा कि पीएनबी (इंटरनेशनल) लिमिटेड, जिसकी यूके में कुल सात शाखाएं हैं, इनकी मुख्य कंपनी पीएनबी है, निजी व्यक्तियों और कंपनियों पर केस दायर कर रही है। चूंकि इन्होंने ऋण लेने के लिए झूठे और गलत दस्तावेज पेश किए हैं। बैंक के दावे के अनुसार ये लोन साउथ कैरोलिना में तेल रिफाइनिंग यूनिट लगाने और पवन ऊर्जा प्रॉजेक्ट्स विकसित करने और उसे बेचने के लिए दिया गया।

बैंक ने दावा किया कि लोन लेने के लिए गलत और बढ़ा-चढ़ाकर बैलेंस शीट पेश की गईं। इसके अलावा प्रॉजेक्ट्स की स्थिति के बारे में भी गलत आंकड़े पेश किए गए। बैंक ने अपने दावे में कहा, 'निदेशकों और गारंटीदाताओं द्वारा दावेदारों के पैसे का गबन किया गया।' यह लोन उन योजनाओं के लिए लिया गया जिसमें शुरू से ही धोखाधड़ी दी गई। 

पीएनबी ने कहा कि यह उसने 2011 और 2014 के बीच इस रकम का भुगतान डॉलरों में अमेरिका में पंजीकृत चार कंपनियों को किया। ये चारों कंपनियां अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में काम करती हैं। इनके नाम साउथ ईस्टर्न पेट्रोलियम एलएलसी (एसईपीएल), पेप्सो बीम यूएसए, त्रिशे विंड ऐंड त्रिशे रिसोर्स हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in