उधम सिंह की पिस्तौल और डायरी वापस लाने के मामले पर विदेश मंत्रालय से बात करेगी पंजाब सरकार

उधम सिंह की पिस्तौल और डायरी वापस लाने के मामले पर विदेश मंत्रालय से बात करेगी पंजाब सरकार

उधम  सिंह की पिस्तौल और डायरी वापस लाने के मामले पर विदेश मंत्रालय से बात करेगी पंजाब सरकार

संगरूर:  पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार ब्रिटेन से क्रांतिकारी ऊधम सिंह की पिस्तौल और डायरी वापस लाने के मामले पर जल्द ही विदेश मंत्रालय से बात करेगी. सिंह को जलियांवाला बाग नरसंहार का बदला लेने के लिये माइकल ओ डायर की हत्या के मामले में फांसी दे दी गई थी. ऊधम सिंह के 82वें शहादत दिवस पर यहां राज्य स्तरीय समारोह से इतर मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीद की अस्थियां 40 साल बाद भारत को लौटाई गईं, वो भी काफी मेहनत के बाद.

उन्होंने कहा कि ऊधम सिंह ने ब्रिटिश भारत में पंजाब के लेफ्टिनेंट गवर्नर माइकल ओ'डायर की जिस पिस्तौल से गोली मारकर हत्या की थी, वह स्कॉटलैंड में है. डायरी भी वहीं कहीं है. मुख्यमंत्री ने शनिवार को शहीद ऊधम सिंह स्मारक लोगों को समर्पित किया. ऊधम सिंह को ओ'डायर की गोली मारकर हत्या करने के लिए 31 जुलाई 1940 को लंदन के पेंटनविले जेल में फांसी दे दी गई थी. ब्रिगेडियर-जनरल रेजिनाल्ड डायर ने अपने सैनिकों को 13 अप्रैल, 1919 को जलियांवाला बाग में एकत्र हुए निहत्थे लोगों पर गोली चलाने का आदेश दिया था, जिसमें कम से कम 400 लोग मारे गए और 1,000 से अधिक घायल हुए थे. जलियांवाला बाग हत्याकांड के समय ओ'डायर पंजाब के लेफ्टिनेंट गवर्नर थे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार को इस मामले को ब्रिटिश उच्चायोग के समक्ष उठाना चाहिए ताकि इन वस्तुओं को वापस लाया जा सके. सिंह ने कहा कि महान शहीद की इन बेशकीमती संपत्तियों को यहां के संग्रहालय में रखा जाएगा. (भाषा)

और पढ़ें