VIDEO: RCA-खेल परिषद के बीच एमओयू, फिर से मिलेगी सरकारी जमीन

Naresh Sharma Published Date 2019/02/22 04:39

जयपुर। लगभग एक साल के इंतजार के बाद आखिरकार आज राजस्थान क्रिकेट संघ व खेल परिषद के बीच एमओयू पर साइन हो गए। अब अगले पांच साल के लिए सवाई मानसिंह स्टेडियम स्थित क्रिकेट ग्राउंड और आरसीए के नोर्थ व साउथ ब्लॉक आरसीए के हो जाएंगे। खेल विभाग की ओर से खेल सचिव भास्कर सांवत ने तथा आरसीए की तरफ से संयुक्त सचिव महेंद्र नाहर ने एमओयू पर साइन किए। इस दौरान आरसीए अध्यक्ष और विधानसभा के स्पीकर डॉ. सीपी जोशी, यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, खेलमंत्री अशोक चांदना और विधानसभा के मुख्य सचेतक महेश जोशी सहित आरसीए व खेल परिषद के पदाधिकारी भी मौजूद रहे। इस दौरान मंत्री धारीवाल ने संकेत दिए कि जल्द ही आरसीए को स्टेडियम के लिए फिर से जमीन आवंटित कर दी जाएगी।

पिछले साल फरवरी में आरसीए व खेल परिषद के बीच एमओयू खत्म हो गया था, लेकिन बाद में आईपीएल आयोजन के लिए दो महीने के लिए उस एमओयू को अस्थाई रूप से बढ़ाया था। आईपीएल खत्म होने के बाद खेल परिषद ने एमओयू वाली जगहों को अपने कब्जे में ले लिया था। अब नई सरकार बनते ही आरसीए ने फिर से एमओयू के लिए आवेदन किया। कई दौर की बैठकों के बाद एमओयू की शर्तों पर सहमति बनी और आज उस पर साइन हो गए। सबसे पहले देखते हैं कि नए एमओयू में क्या खास बात है...

— एमओयू की अवधि 5 साल की होगी
- खेल परिषद को प्रति आईपीएल मैच 20 लाख रुपए मिलेंगे
- अन्य अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए भी 20 लाख रुपए हुए तय
- अन्य मैचों के आयोजन के लिए सालान 50 लाख रुपए हुए तय
- अन्य मैचों में आरसीए व बीसीसीआई के घरेलू टूर्नामेंट शामिल
- अन्य खेलों के विकास के लिए भी आरसीए करेगा मदद
- 50 लाख सालाना अन्य खेलों के लिए देगा आरसीए
- खेल मंत्री की पहल पर सीपी जोशी ने दी हरी झंडी

— क्रिकेट ग्राउंड व पैवेलियन आदि का रखरखाव और विकास आरसीए करेगा
- आरसीए अब खेल परिषद की बिजली काम में नहीं लेगा
- खेल परिषद की एनओसी से आरसीए का खुद को बिजली कनेक्शन होगा

आरसीए के लिए एक और बड़ी खुशखबरी यह है कि पिछली सरकार के समय आरसीए को आवंटन जो जमीन रद्द हुई थी, वे जमीन फिर से आरसीए को दी जाएगी, ताकि आरसीए जयपुर व उदयपुर में अपना खुद का स्टेडियम बना सके। एमओयू के दौरान सीपी जोशी ने इस बारे में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल को ध्यान दिलाया तो धारीवाल ने पिछली सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि रियायती दर पर जब सरकार जमीन देती है तो कई शर्तें लगाई जाती है, लेकिन ऐसा कभी नहीं हुआ कि सभी शर्तों को पूरा कर दिया जाए। कांग्रेस की पिछली सरकार के समय आरसीए को जमीन आंवटित हुई थी, लेकिन भाजपा सरकार ने जमीन आवंटन को ही रद्द कर दिया। अब शांति धारीवाल ने आश्वासन दिया कि पूरे मामले को दिखाया जाएगा और आरसीए को फिर से स्टेडियम के लिए जमीन दी जाएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के इस कार्यकाल में आरसीए के खुद के दो नए स्टेडियम होंगे, एक जयपुर में दूसरा उदयपुर में।

आरसीए को फिर से मिलेगी सरकार से जमीन
जयपुर व उदयपुर में बनेंगे आरसीए के खुद के स्टेडियम
जेडीए ने रद्द कर दी थी जयपुर में आरसीए की जमीन
अब यूडीएच मंत्री धारिवाल ने फिर जमीन देने का किया एलान
पिछली सरकार पर निशाना साधा यूडीएच मंत्री धारीवाल ने

एमओयू समारोह के दौरान मुख्य सचेतक व जयपुर क्रिकेट संघ के अध्यक्ष डॉ महेश जोशी भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि जब आरसीए के लिए स्टेडियम की जमीन आवंटित हो जाएगी तो इस बात के प्रयास किए जाएंगे कि स्टेडियम निर्माण में सरकार की तरफ से भी मदद की जाए।

आरसीए को अब फिर से स्टेडियम में मैच आयोजन व ऑफिस के लिए जगह मिल गई है, ऐसे में अब आरसीए की भी जिम़्मेदारी बनती है कि वह जयपुर में आईपीएल के अलावा वनडे व टेस्ट मैचों के आयोजन के लिए भी प्रयास शुरू करे, क्योंकि आपसी विवाद के कारण लंबे समय से यहां पर अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं हो सके हैं, लेकिन इसके लिए आरसीए पदाधिकारियों को पहले आपसी विवाद भी खत्म करने होंगे। इन सबके बावजूद अध्यक्ष सीपी जोशी ने आरसीए को मैदान दिलाकर बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली, अब उनका लक्ष्य आरसीए का खुद का स्टेडियम बनाना है। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in