सवालों के घेरे में RCA चुनाव, BCCI डेडलाइन के बाद भी नियुक्त नहीं हुआ चुनाव अधिकारी

Naresh Sharma Published Date 2019/07/28 12:35

जयपुर: भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने 14 सितंबर तक सभी राज्य क्रिकेट संघों को चुनाव कराने के आदेश दिए हैं, लेकिन राजस्थान क्रिकेट संघ में फिलहाल सब कुछ ठप पड़ा है. डेडलाइन गुजर जाने के बाद भी RCA ने चुनाव अधिकार नियुक्त नहीं किया है. ऐसे में लगता है कि 22 अक्टूबर को होने वाली बीसीसीआई के चुनाव में आरसीए हिस्सा नहीं ले पाएगा. 

सीओए ने दिए थे अनियमितताओं को दुरूस्त करने के आदेश:
राज्य क्रिकेट संघों के चुनाव के लिये निर्वाचन अधिकारियों की नियुक्ति की बढाई गई मियाद भी खत्म हो चुकी है. मूल समय सीमा एक जुलाई थी, जो बाद में बढाकर 25 जुलाई की गई. सीओए (The Committee of Administrators) ने प्रदेश ईकाइयों को अपने संविधान में अनियमितताओं को दुरूस्त करने के लिये कहा था. उनसे कहा गया था कि वे लोढा समिति के सुझावों के तहत इसे ठीक करें या 22 अक्तूबर को होने वाले बीसीसीआई के चुनावों से बाहर रहे. 

डेडलाइन के बाद भी ढुलमुल रवैया:
पूर्व तय कार्यक्रम के अनुसार 14 अगस्त तक मतदाता सूची जारी करनी है और 14 सितंबर तक चुनाव कराने है. 23 सितंबर तक राज्य संघो को BCCI को अपने प्रतिनिधि का नाम भेजना है. ऐसे में यदि आरसीए के चुनाव तय समय तक नहीं होते हैं, तो फिर आरसीए अपने प्रतिनिधि का नाम भी नहीं भेज सकेगा और आरसीए का वोट बीसीसीआई के चुनाव में नहीं पड़ेगा, न ही आरसीए का कोई प्रतिनिधि बीसीसीआई में चुनाव लड़ सकेगा. 

निलंबन हटने का इंतजार है RCA को:
वहीं सूत्रों की माने तो आरसीए अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी को बीसीसीआई द्वारा निलंबन हटाने का इंतजार है. खुद सीपी जोशी बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी और The Committee of Administrators के प्रमुख विनोद राय से इस बारे में बात कर चुके हैं और अपना प्रतिनिधि मंडल भी उनसे मिलने भेज चुके हैं. सीपी जोशी चाहते हैं कि निलंबन हटने की घोषणा के बाद आरसीए के चुनाव कराए जाए. हालांकि निलंबन हटते ही सीपी जोशी को अध्यक्ष पद छोड़ना पड़ेगा, क्योंकि वे राजस्थान विधानसभा के स्पीकर भी है. सूत्रों की माने, तो पिछले दिनों विधानसभा में ही कुछ जिला संघों के साथ सीपी जोशी ने मीटिंग की थी और साफ कह दिया था कि निलंबन हटने के बाद यदि उनको आरसीए अध्यक्ष से त्यागपत्र देना पड़ा, तो वे एक मिनट भी नहीं लगाएंगे, लेकिन बिना निलंबन हटे सीपी भी पद छोड़ने को तैयार नहीं है. 

क्या अक्टूबर तक रहेगा आरसीए का निलंबन:
आरसीए का मामला तकनीकी रूप से फंसा हुआ है. दरअसल जब तक बीसीसीआई की जनरल बॉडी मीटिंग (AGM) नहीं हो जाती, तब तक आरसीए को निलंबन हटाने का फैसला नहीं हो सकता, क्योंकि निलंबन भी AGM ने ही किया था. वहीं बिना बीसीसीआई के चुनाव हुए AGM नहीं हो सकती, यानी ऐसे में 22 अक्टूबर के बाद ही आरसीए पर फैसला हो सकता है. वहीं सूत्र यह भी कहते हैं कि CoA प्रमुख विनोद राय अगर चाहे, तो खुद भी निलंबन हटाने की कार्रवाई कर सकते हैं, क्योंकि उनको सुप्रीम कोर्ट ने अधिकार दे रखे हैं. यदि राय आरसीए का निलंबन हटा देते हैं, तो आरसीए अध्यक्ष सीपी जोशी तुरंत ही इस्तीफा देकर नए सिरे से चुनाव करा देंगे. लेकिन इस मामले मामले पर अभी स्पष्ट कुछ भी नहीं है. ऐसे में लगता है कि आरसीए की इस रात की अभी सुबह नहीं होने वाली. 

... संवाददाता नरेश शर्मा की रिपोर्ट  
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in