REET 2021: रीट भर्ती परीक्षा बनी अब शिक्षा विभाग के लिए नाक की शान, पूर्वी राजस्थान पर SOG और पुलिस की नगाहें

REET 2021: रीट भर्ती परीक्षा बनी अब शिक्षा विभाग के लिए नाक की शान, पूर्वी राजस्थान पर SOG और पुलिस की नगाहें

जयपुर: रीट भर्ती परीक्षा अब शिक्षा विभाग की नाक की शान बन गई है एक और जहां भर्ती परीक्षा में हरियाण से लेकर बिहार तक के पेपर गिरोह सक्रीय है तो वहीं अब भर्ती परीक्षा को लेकर रेस्मा तक लागू कर दिया गया. भर्ती परीक्षा में नकल गिरोह पर नकल कसने के लिए पुलिस प्रशासन पूर्वी राजस्थान पर अपनी निगाहे जमाए बैठा है. दरअसल एसआई भर्ती परीक्षा में पकड़े गए सवाईमाधोपुर से मुख्य सरगना से हाथ लगे सुरागों से पुलिस अपनी तस्दीक कर रही है पेश है एक रिपोर्ट...

- 26 सितम्बर को आयोजित होने वाली है रीट भर्ती पीरक्षा
- एसओजी सहित पुलिस भी जुटी नकल गिरोह की तलाश में
- करौली, सवाई माधोपुर, धौलपुर सहित मारवाड़ में एसओजी की निगाह
- एसआई भर्ती से मिले क्लयू को लेकर पुलिस की तस्दीक

कभी डकैतों और बिहड़ों के नाम से मशहूर रहे पूर्वी राजस्थान के कई जिलें अब पेपर लीक जैसे मामलों में उपरी पायदान पर आने लग गए है. प्रदेश में कोई भी भर्ती परीक्षा हो नकल गिरोह का नटवर्क चार जिलों में अपने पैर पसारते जा रहा है. एक वक्त था जब करौली जिले के सरकारी व्याख्याता अमृतलाल मीणा को पुलिस ने आरएएस जैसी बड़ी भर्ती परीक्षा में अपने परिवार सहित कई लोगों को पेपर देकर नौकरी में सलेक्ट करवा दिया था लेकिन समय रहते इस गिरोह का पुलिस ने भंडाभोड़ किया जिसमें अमृत लाल मीणा को सजा भी काटनी पड़ी लेकिन अब अमृत लाल मीणा जैसे कई गिरोह भर्ती परीक्षाओं में सक्रीय नजर आ रहे हैं. हाल में ही एसआई भर्ती परीक्षा में पकड़े गए सवाईमाधोपुर के रहने वाले सरकारी स्कूल में व्याक्याता ने पुलिस को बताई जानकारी में ये बात सामने आई की वो करौली, धौलपुर, दौसा सहित अन्य जिलों के अभ्यर्थियों से नकल कराने की एवज में मौटी रकम लेते थे यहीं नहीं 26 सितम्बर को होनो वाली प्रदेश की सबसे भड़ी भर्ती परीक्षा में भी ये गिरोह अभ्यर्थियों को नकल कराने वाला था लेकिन समय रहते पुलिस ने इनको दबोच लिया. 

- रीट भर्ती परीक्षा से पहले अभ्यर्थियों पर रहेगी नजर
- परीक्षा केंद्रो में एसओजी और पुलिस रहेगी मुस्तैद
- पहले परीक्षाओं में पकड़े गए नकल गिरोह के सरगना मुख्य टारगेट पर
- क्योंकि ये गिरोह अभी भी है भर्ती परीक्षाओं में नकल कराने में सक्रीय

रीट भर्ती परीक्षा को देखते हुए सरकार की अनुमित से रेस्मा लागू कर दी है वहीं पुलिस और एसओजी लगातार पूर्वी राज्सथान से लेकर सीकर और मारवाड़ के जिलों में सक्रीय नकल गिरोह के मुख्य सरगनाओं की तलाश में जुट गए है. एसओजी लगातार हाल में पकड़े गए नकल गिरोह के सदस्यों से अन्य नेटवर्क चला रहे लोगों की तलाश में है इसके लिए उनके फोन ट्रेस सहित कई जगहों पर दविश भी दी जा रही है. आज ही जोधपुर से रीट भर्ती परीक्षा में पास कराने की एवज में 50 हजार की राशि के साथ एसओजी की टीम ने क गिरोह के सदस्यों को पकड़ा है जिसका खुलासा एसओजी जल्द करेगी. 

मारवा़ड हो या फिर पूर्वी राजस्थान या फिर कोई अन्य जगह नकल गिरोह अपना नेटवर्क लगातार बढाता जा रहा है. यहीं कारण है कि प्रदेश में हो रही भर्ती परीक्षाओं में लगातार गड़बड़ के मामले सामने आ रहे हैं. फिलहाल रीट भर्ती परीक्षाओं को लेकर एसओजी ओर पुलिस कुछ जिलों में विशेष नजर बनाए हुए है. 

और पढ़ें