REET Exam 2021: सुरक्षा के कड़े प्रबंध के बीच राजस्थान की सबसे बड़ी परीक्षा शुरू, 30 हजार से ज्यादा CCTV कैमरों से हो रही परीक्षा केंद्रों की निगरानी

REET Exam 2021: सुरक्षा के कड़े प्रबंध के बीच राजस्थान की सबसे बड़ी परीक्षा शुरू, 30 हजार से ज्यादा CCTV कैमरों से हो रही परीक्षा केंद्रों की निगरानी

REET Exam 2021: सुरक्षा के कड़े प्रबंध के बीच राजस्थान की सबसे बड़ी परीक्षा शुरू, 30 हजार से ज्यादा CCTV कैमरों से हो रही परीक्षा केंद्रों की निगरानी

जयपुर: राजस्थान के इतिहास की सबसे बड़ी शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET) शुरू हो गई है. प्रथम पारी में लेवल-टू की परीक्षा हो रही है. यह पारी सुबह सुबह 10 बजे से 12.30 तक चलेगी. उसके बाद दोपहर में 2.30 बजे से शाम 5 बजे तक लेवल वन की परीक्षा होगी. 

दोनों पारियों में 31 हजार पदों के लिए 25 लाख 35 हजार 542 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे. इसमें प्रथम स्तर की परीक्षा में 12 लाख 67 हजार 983 परीक्षार्थी बैठेंगे, जबकि द्वितीय स्तर की परीक्षा में 12 लाख 67 हजार 539 परीक्षार्थियों के बैठने की संभावना है. इनमें 9 लाख अभ्यर्थी ऐसे हैं, जिन्होंने दोनों परीक्षाओं के लिए आवेदन किया है. कुल अभ्यर्थियों की संख्या 16 लाख है. परीक्षा को देखते हुये प्रदेशभर में इंटरनेट सेवायें निलंबित कर दी गई है. अभ्यर्थियों को रोडवेज और निजी बसों के साथ ही राजधानी जयुपर में मेट्रो ट्रेन में निशुल्क यात्रा की सुविधा दी गई है.

राज्यभर में 3 हजार 993 परीक्षा केन्द्र बनाए गए:
रीट परीक्षा लेवल-1 और लेवल-2  के लिये राज्यभर में 3 हजार 993 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं. सरकार ने परीक्षा के सफल आयोजन के लिए पूरी पुलिस व प्रशासनिक ताकत लगा दी है वहीं विभिन्न धार्मिक व गैर सरकारी संगठन भी मदद के लिए आगे आए हैं. राजधानी जयपुर सहित प्रदेशभर में पुलिस भी मुस्तैदी से जुटी हुई है. अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस तैयार है. ऐसे में रीट परीक्षा के सफल आयोजन के लिए छात्रों के साथ शासन-प्रशासन भी पूरी तरह मुस्तैद दिखाई दे रहा है. 

प्रदेशभर में 30 हजार से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगाए गए:
रीट में चीट को रोकने के लिए प्रदेशभर में 30 हजार से ज्यादा सीसीटीवी कैमेर लगाए गए हैं. प्रदेश के सवाई माधोपुर, करौली, दौसा, नागौर, सीकर, भरतपुर, झुंझुनू, जालौर और बाड़मेर के सभी परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमेर लगाए गए हैं जबकि शेष बचे जिलों में अति संवेदनशील परीक्षा केंद्र पर ही सीसीटीवी कैमरों से निगरानी हो रही है. 

और पढ़ें