जयपुर REET Exam 2021: राजस्थान की सबसे बड़ी परीक्षा कल, सफल आयोजन के लिए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद, चितौडगढ में देंगे करीब 27 हजार अभ्यर्थी परीक्षा 

REET Exam 2021: राजस्थान की सबसे बड़ी परीक्षा कल, सफल आयोजन के लिए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद, चितौडगढ में देंगे करीब 27 हजार अभ्यर्थी परीक्षा 

REET Exam 2021: राजस्थान की सबसे बड़ी परीक्षा कल, सफल आयोजन के लिए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद, चितौडगढ में देंगे करीब 27 हजार अभ्यर्थी परीक्षा 

जयपुर: राजस्थान में अध्यापक भर्ती के लिए अपनी तरह की अब तक की सबसे बड़ी परीक्षा रविवार को होगी जिसमें 16 लाख से अधिक परीक्षार्थी एक दिन में इम्तिहान देंगे. राज्य सरकार ने परीक्षा के सफल आयोजन के लिए पूरी पुलिस व प्रशासनिक ताकत लगा दी है वहीं विभिन्न धार्मिक व गैर सरकारी संगठन भी मदद के लिए आगे आए हैं.

चितौडगढ में देंगे करीब 27 हजार अभ्यर्थी परीक्षा:

रीट परीक्षा के लिए परीक्षार्थियों का चित्तौड़गढ़ पहुंचना शुरू हो गया है, आज सुबह से ही बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों का रोड़वेज बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर पहुंचना जारी है,  इसी कड़ी में जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा ने खुद रेलवे स्टेशन, रोड़वेज बस स्टैंड और जहां परीक्षार्थियों के लिए ठहरने की व्यवस्था की गई है वहां भी पहुंचे, और व्यवस्थाओं को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश देने के साथ ही परीक्षार्थियों से व्यवस्थाओं को लेकर वन टू वन संवाद किया, जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा ने इंदिरा गांधी स्टेडियम पहुंचकर परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्रों तक पहुंचाने के लिए लगाई गई बसों को लेकर भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए. चित्तौड़गढ़ जिले में भी कल इंटरनेट सेवा बंद रहेगी. संभागीय आयुक्त राजेन्द्र भट्ट के निर्देश पर आदेश जारी हुए है. जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा ने आदेश जारी किए है. चित्तौड़गढ़ जिले के रावतभाटा,भूपालसागर,राशमी को बंद से बाहर रखा है. कल सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक इंटरनेट सेवा बंद रहेगी. रीट परीक्षा को लेकर जिले में जिला प्रशासन पूरी तरह अलर्ट मोड़ पर है, चित्तौड़गढ़ जिले में चप्पे चप्पे पर पुलिस जवान तैनात किए है और दूसरे जिलों से परीक्षा देने पहुंचे रहे. अभ्यर्थियों को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हो, इसके लिए खुद आरपीएस स्तर के अधिकारी व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे है. रेलवे स्टेशन पर व्यवस्थाओं का अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हिम्मत सिंह देवल ने जायजा लिया. चित्तौड़गढ़ जिले में करीब 27 हजार अभ्यर्थी परीक्षा के लिए पंजीकृत हुए है, चित्तौड़गढ़ जिले में परीक्षा के लिए कुल 67 परीक्षा केन्द्र बनाए है जिनमें से 30 परीक्षा केन्द्र चित्तौड़गढ़ जिला मुख्यालय पर है, जबकि शेष 37 परीक्षा केन्द्र जिले के विभिन्न उपखंड क्षेत्रों में बनाए गए है.

अलवर में रीट परीक्षा में करीब 87000 अभ्यर्थी देंगे परीक्षा:

अलवर में रविवार को रीट परीक्षा में करीब 87000 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे, जिसके लिए व्यवस्थाएं कर ली गई हैं, जिला कलक्टर नन्नू मल पहाड़िया और पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने आज परीक्षा केंद्रों समेत अभ्यर्थियों के रुकने के स्थानों पर भी दौरा किया. इस दौरान जिले में प्रशासन के साथ ही कई समाज और संस्थाएं भी अभ्यर्थियों की व्यवस्थाएं कर रही हैं ताकि उन्हें कोई समस्या का सामना करना पड़े.  अलवर के सूर्य नगर अग्रवाल धर्मशाला व मेव बोर्डिंग समेत कई स्थानों पर पुलिस अधीक्षक और जिला कलेक्टर निरीक्षण करने पहुंचे.

कोटा में भी प्रशासन ने कमर कसी:

रीट की परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर कोटा में भी प्रशासन ने कमर कस ली हैं.आज रोडवेज बसस्टैंड कोटा के अलावा 7 अस्थायी बस स्टैंड से निजि और सरकारी बसों से परीक्षार्थियों के निशुल्क परिवहन के अलावा सामुदायिक भवनों में उनके ठहराव और इंदिरा रसोई से निशुल्क भोजन उपलब्ध कराने समेत परीक्षार्थी हित में अभूतपूर्व इन्तजाम किए गए हैं. कोटा में सवेरे की पहली पारी में कल 44863 और दोपहर की दूसरी पारी में 46003 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं, जिनके लिए 142 परीक्षा केन्द्रों का गठन किया गया हैं. इधर यहां कल ही सामने आये नकल गिरोह के भंडाफोङ के बाद संभागीय आयुक्त ने कल सवेरे 5 बजे से शाम 5 बजे तक कोटा समेत पूरे कोटा संभाग में इंटरनेट सेवाएं बंद करने के आदेश जारी कर दिये हैं.हालांकि इस दौरान ब्राडबैंड सर्विस सुचारु रहेगी.

नागौर में 85 केन्द्रों पर होगी रीट परीक्षा:
राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा 26 सितम्बर को नागौर जिले के 85 परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित होगी. इस परीक्षा के सफलतापूर्वक आयोजन को लेकर जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी के निर्देशन में सभी प्रकार की तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया है. रीट लेवल प्रथम की परीक्षा में 30 हजार 405 तथा रीट लेवल द्वितीय में 30 हजार 406 अभ्यर्थी भाग लेंगे. राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा को लेकर नागौर जिले में 85 केन्द्र बनाए गए हैं, इनमें से 25 सरकारी शिक्षण संस्थानों तथा 60 निजी शिक्षण संस्थानों के भवनों में बनाए गए हैं. नागौर जिला मुख्यालय के 41, डीडवाना के 18, कुचामन के 12 तथा लाडनूं के 14 सेंटर शामिल हैं. सभी परीक्षा केन्द्रों पर पूर्ण सुरक्षा इंतजाम रहेंगे. प्रत्येक परीक्षा कक्ष में सीसीटीवी से भी निगरानी रहेगी. 

और पढ़ें