जयपुर RHB का प्रांतीय सम्मलेन कई मायनों में रहा बेहद खास, कमिश्नर पवन अरोड़ा रहे मुख्य अतिथि

RHB का प्रांतीय सम्मलेन कई मायनों में रहा बेहद खास, कमिश्नर पवन अरोड़ा रहे मुख्य अतिथि

RHB का प्रांतीय सम्मलेन कई मायनों में रहा बेहद खास, कमिश्नर पवन अरोड़ा रहे मुख्य अतिथि

जयपुर : राजस्थान आवासन कर्मचारी संघ का दशम प्रांतीय सम्मेलन कई मायनों में बहुत खास रहा. सम्मेलन के दौरान ही अपने संबोधन में हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने बोर्ड ने नई भर्ती होने का बहुतप्रतीक्षित ऐलान किया तो पूरा पंडाल तालियों से गूंज उठा. राजस्थान आवासन कर्मचारी संघ का दशम प्रांतीय सम्मेलन आज राजधानी जयपुर में आयोजित हुआ. इस सम्मेलन में प्रदेश भर से आवासन मंडल के अधिकारी और कर्मचारी शामिल होने पहुंचे. प्रांतीय सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम को संबोधित करते हुए हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर ने हाउसिंग बोर्ड कर्मचारी यूनियन की तारीफ करते हुए कहा कि आपका जोश और जज्बा देखने लायक है.

उन्होंने कहा इस यूनियन में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से लेकर मुख्य अभियंता तक यूनियन के सदस्य हैं जो कि बहुत महत्वपूर्ण बात है हाउसिंग बोर्ड की टीम में भी चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से लेकर मुख्य अभियंता तक सभी का महत्वपूर्ण योगदान है. हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने बीते 3 साल में हाउसिंग बोर्ड को मिली उपलब्धियों का श्रेय हाउसिंग बोर्ड कार्मिकों को देते हुए कहा कि आप सभी की लगातार मेहनत से ही हाउसिंग बोर्ड ने नई ऊंचाइयों को छुआ है. उन्होंने कहा कि जब मैंने यहां जॉइन किया था तब बोर्ड में निराशा का माहौल था मैंने उस समय बोर्ड के छोटे से लेकर हर बड़े अधिकारी और कर्मचारी को एक भावनात्मक चिट्ठी लिखी थी हम सबको मेहनत करके हाउसिंग बोर्ड को फिर से नई पहचान बनानी है मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि आप सभी ने मेरी उस अपील को माना और अपनी मेहनत से आज हाउसिंग बोर्ड को फिर से एक नई पहचान दी है.

ट्यूशन के शुरुआती दिनों में सभी ने युद्ध स्तर पर काम कर महेश 15 दिन में ही हजारों मकानों को संपूर्ण जानकारी समेत बोर्ड की वेबसाइट पर डाल दिया था. उन्होंने कहा कि हमने यह ऑप्शन जैसी प्रणाली से हजारों मकान बेचती है लेकिन अभी तक किसी भी तरह की तकनीकी समस्या हमारे सामने नहीं आई है जो कि हमारा टीमवर्क दिखाती है. सफल आवेदकों को अमानत राशि सिर्फ 72 घंटे में बिना किसी आवेदन के ही लौटाई जा रही है यह भी आप सभी की कड़ी मेहनत से ही संभव हो पा रहा है.

उन्होंने कहा कि मुझे हैरानी हुई कि बोर्ड के गठन के 50 साल के बाद भी बोर्ड को अतिक्रमण हटाने का अधिकार नहीं मिला है हमने प्रयास करके सरकार से यह अधिकार लिया और बिना प्रवर्तन शाखा के हमारी टीम ने जयपुर समेत कई शहरों में अपनी जमीनों को अतिक्रमण से मुक्त कराया है. सम्मेलन को संबोधित करते हुए कमिश्नर अरोड़ा ने कहा कि हमारी मेहनत और गुडविल का ही कमाल है कि आज सरकार ने विधायक आवास परियोजना जैसा बड़ा प्रोजेक्ट हाउसिंग बोर्ड को दिया है इसके साथ ही कोचिंग हब, सिटी पार्क  कॉन्स्टिट्यूशन क्लब , जैसे प्रोजेक्ट भी हाउसिंग बोर्ड पूरे कर रहा है.

हाउसिंग बोर्ड को ब्रांड बनाने के लिए सिर्फ आम लोगों के लिए ही नहीं बल्कि प्रदेश के आईएएस आईपीएस राजकीय सेवाओं के अधिकारी पुलिस कॉन्स्टेबल और टीचर जैसे हर वर्ग के लिए भी हाउसिंग बोर्ड आवास योजना ला रहा है.हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने अपने संबोधन में ही यह ऐलान किया कि सरकार ने उनके प्रस्ताव को स्वीकृति देते हुए बोर्ड में 311 पदों की भर्ती के लिए स्वीकृति दे दी है अरोड़ा के इस ऐलान के बाद हाउसिंग बोर्ड कर्मचारियों और अधिकारियों ने काफी देर तक तालियां बजाकर कमिश्नर अरोड़ा का अभिवादन किया.

राजस्थान आवासन कर्मचारी संघ के प्रांतीय सम्मेलन में कई प्रमुख कर्मचारी नेता भी शामिल हुए. सम्मेलन को संबोधित करते हुए कर्मचारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष आईदान सिंह कविया ने कहा कि एक समय ऐसा भी था जब हाउसिंग बोर्ड को बंद करने की तैयारी की जा रही थी लेकिन आप लोग भाग्यशाली है कि आपको कमिश्नर के तौर पर पवन अरोड़ा जैसे अधिकारी मिले हैं जिन्होंने बोर्ड को पुनर्जिवित कर दिया है.सम्मेलन को आवासन कर्मचारी संघ के पूर्व अध्यक्ष ओपी पूनिया ने भी संबोधित किया.

पूनिया ने कहा कि इस यूनियन का इतिहास लगातार आंदोलन करने और संघर्ष करने का रहा है,लेकिन पिछले ढाई साल से हाउसिंग बोर्ड मुख्यालय में यूनियन ने एक ही नारा नहीं लगाया है क्योंकि जब से पवन अरोड़ा बोर्ड के कमिश्नर बने हैं तब से बिना मांगे ही यूनियन की अधिकतर मांगे पूरी की जा रही है. उन्होंने कहा कि काफी दिनों के बाद ऐसा हुआ है जब हाउसिंग बोर्ड के कर्मचारी अच्छे माहौल में काम कर रहे हैं. 

हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर ने हाउसिंग बोर्ड को नई उंचाइयों पर पहुंचा दिया है सिर्फ देश और प्रदेश में ही नहीं विदेशों में भी हाउसिंग बोर्ड के काम का डंका बज रहा है.न्यू आतिश मार्केट से लेकर चौपाटियों तक हर प्रोजेक्ट शानदार है.आवासन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष दशरथ कुमार ने कहा कि हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर की ओर से यूनियन को पूरा सहयोग मिल रहा है. दशरथ कुमार ने पूरी यूनियन की ओर से हाउसिंग बोर्ड में नई भर्तियों की मंजूरी दिलवाने के लिए हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर का आभार जताया और विश्वास दिलाया कि बोर्ड के कार्मिक इसी तरह मेहनत और मनोयोग से काम करते रहेंगे. कोरोना के कारण 2 साल बाद आयोजित हुआ आवासन कर्मचारी संघ का प्रांतीय अधिवेशन हाउसिंग बोर्ड में भर्तियों के एलान से यादगार बन गया.हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर ने यूनियन की तारीफ करते हुए कहा कि यूनियन के लिए हाउसिंग बोर्ड का हित पहले है उसके बाद कर्मचारियों का हित है जो कि काबिले तारीफ है. अरोड़ा ने उम्मीद जताई है कि इसी तरह के टीमवर्क से आने वाले दिनों में भी बोर्ड कई और नए कीर्तिमान स्थापित करेगा.

और पढ़ें