VIDEO: राजस्थान में लोकसभा चुनाव के आरएसएस ने भी तैयार किया फुल प्रूफ प्लान

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/09 10:07

जयपुर। लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने के मिशन के तहत अब राजस्थान प्रदेश में भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ हर एक क्षेत्र का रोजाना का फीडबैक लेगा। इसी कवायद को लेकर आरएसएस ने फुल प्रूफ प्लान तैयार किया है। एक रिपोर्ट:

विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली हार के बाद अब आरएसएस ने ऐसा प्लान बनाया है कि उसे भेदने के लिए कांग्रेस को कड़ी मेहनत करनी पड़ सकती है। आरएसएस ने अपने विचार परिवार और तमाम प्रमुख पदाधिकारियों के साथ बैठक कर ली है। भाजपा के प्रमुख नेताओं से भी मंत्रणा कर ली है। जिनमे वी सतीश प्रकाश जावड़ेकर मदनलाल सैनी अरुण चतुर्वेदी सतीश पूनिया समेत अन्य नेताओ को भी टास्क दे दिया है। उसके बाद अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ रोजाना हर एक क्षेत्र की चुनावी स्थिति की रिपोर्ट लेगा। 

आरएसएस प्रदेश भाजपा संगठन को उन इलाकों की जानकारी देगा जहां पर भाजपा में भीतरघात की आशंका है या फिर नेताओ में मतभेद या मतभेद होंगें। उसके बाद भाजपा संगठन के प्रमुख नेता चुमावो के दौरान ही लगातार पार्टी को एकजुट करने में जुटे रहेंगे। आरएसएस का दूसरा सबसे बड़ा प्लान है वोटर्स से घर घर जाकर संपर्क। जिसका।पहला चरण शुरू हो चुका है आरएसएस ने टास्क लिया है कि भाजपा के वोटर्स को घरों से निकलवाकर भाजपा के पक्ष में मतदान करवाना । आरएसएस एक एक वोटर से संपर्क करने के साथ साथ लगातार शहर कस्बों गांव ढाणियों के प्रबुध्दजनो से कई बार लगातार संवाद भी करेगा। आरएसएस के संपर्क का एक ही आधार होगा वो है नरेंद मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनवाना। तीसरा दायित्व आरएसएस ने लिया है सोशल मीडिया पर नज़र। इस दायित्व के तहत आरएसएस का स्वयंसेवक और विचार परिवार के कार्यकर्ता सोशल मीडिया पर मोदी के खिलाफ प्रतिद्वंदी पार्टी के वार पर पलटवार तो करेंगे ही साथ ही भ्रामक प्रचार करने वालो को जवाब देंगे।

आरएसएस सरकार्यवाह सुरेश भैयाजी जोशी के कल के वक्तव्य के बाद अब आरएसएस के स्वयंसेवक और विचार परिवार यानी अन्य अनुषांगिक संगठनों के लोग अब और भी एक्टिव हो चुके है। भैयाजी जोशी का साफ संदेश है कि राष्ट्रविरोधी पार्टियों का साथ नहीं दे और  राष्ट्र हित की सोचने वालो का चुनाव में साथ दें समझ लें की राष्ट्रविरोधी ताकतों का साथ नही दें। विश्व मे भारत गौरवान्वित होती रहे। ऐसे संदेश के साथ आरएसएस ने तमाम स्वयंसेवकों का आह्वान भी कर दिया है।

अब तय मानकर चलिये कि राज्य में विधानसभा चुनाव में रह गई कुछ कमियों से सबक लेकर आरएसएस अब प्रदेश भाजपा के नेताओ को लगातार मार्गदर्शन की अब तक की सबसे बड़ी भूमिका में रहेगा। जिससे कि कहीं भी कोई छोटी सी चूक उनके लिए अफसोस न पैदा कर से। अब देखना होगा कि आरएसएस और विचार परिवार कांग्रेस की रणनीति को राज्य में किस हद तक भेद पाता है।

... संवाददाता ऐश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट 


First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in