मथुरा: जन्माष्टमी पर भागवत भवन में रेशम के धागों से बनी हरि चंद्रिका पोशाक धारण कर दर्शन देंगे राधाकृष्ण

जन्माष्टमी पर भागवत भवन में रेशम के धागों से बनी हरि चंद्रिका पोशाक धारण कर दर्शन देंगे राधाकृष्ण

जन्माष्टमी पर भागवत भवन में रेशम के धागों से बनी हरि चंद्रिका पोशाक धारण कर दर्शन देंगे राधाकृष्ण

मथुरा: भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिवस को धूमधाम से मनाने के लिए समूचा ब्रज तैयार है. मथुरा-वृन्दावन, गोकुल-महावन, नन्दगांव-बरसाना, गोवर्धन आदि शहरों और मंदिरों को बड़े ही जतन से सजाया गया है. मुख्य चौराहों पर लोक कलाकार स्थानीय कलाओं का प्रदर्शन करते नजर आ रहे हैं. 

श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के सचिव कपिल शर्मा ने बताया कि जन्माष्टमी के अवसर पर भागवत भवन में स्थित भगवान राधाकृष्ण के युगल विग्रह को पहनाई जाने वाली पोशाक सात कारीगरों द्वारा सात माह की अथक मेहनत के बाद रेशम के महीन धागों से बनी ‘हरि चंद्रिका’ पोशाक तैयार हो गई है. उन्होंने कहा कि ठाकुरजी यही पोशाक पहनेंगे और मंगला आरती के समय इसी पोशाक में दर्शन देंगे.

स्थानीय लोगों के साथ-साथ श्रीकृष्ण जन्मोत्सव 2021 मना रहे उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद ने बाहर से 600 कलाकारों को आमंत्रित किया है. जो यहां के विशाल रामलीला मैदान व कृष्ण जन्मस्थान मंदिर परिसर के आसपास के चौराहों पर विशेष रूप से स्थापित किए गए मंचों पर अपनी कला का जादू बिखेर रहे हैं, वहीं तीन दर्जन चित्रकार हर दीवार-कूंचे पर कृष्ण कलाओं को चित्रित कर रहे हैं.

परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नगेंद्र प्रताप ने बताया, छह सौ कलाकार के 50 दल बनाए गए हैं. जिनमें से सबसे बड़ा दल रामलीला मैदान पर अपनी प्रस्तुतियां दे रहा है. इसके अलावा शहर में करीब एक दर्जन अन्य तथा वृन्दावन व गोकुल में भी मंच बनाए गए हैं. जहां दोपहर से भगवान की लीलाओं से जुड़े सांस्कृतिक कार्यक्रम शुरु हो गए हैं जो मंगलवार तक अनवरत चलेंगे.

पर्व को देखते हुए शहर में कड़े सुरक्षा बंदो बस्त किए गए हैं. जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. गौरव ग्रोवर सहित नगर निगम आयुक्त अनुनय झा ने पूरे शहर का भ्रमण कर सुरक्षा एवं साफ-सफाई का जायजा लिया. ग्रोवर ने बताया कि सुरक्षा के लिए 320 उप निरीक्षक, 1500 सिपाहियों के साथ ही दस कंपनी पीएसी तैनात की जा रही हैं.

उन्होंने बताया, जन्मस्थान परिसर में अग्निशमन दस्ता, बम निरोधक दस्ता, श्वान दस्ता, खुफिया दस्ते आदि पहले से ही तैनात हैं. हर श्रद्धालु को पूरी जांच के पश्चात ही प्रवेश दिया जा रहा है. उन्होंने बताया, शहर में वाहनों का प्रवेश बंद कर सभी प्रवेश मार्गों पर पार्किंग स्थल बनाए गए हैं. (भाषा) 

और पढ़ें