राजस्थान में कोरोना संक्रमण के हालात अन्य राज्यों से बेहतर, केन्द्र से सहयोग का मिला आश्वासनः डॉ. रघु शर्मा

राजस्थान में कोरोना संक्रमण के हालात अन्य राज्यों से बेहतर, केन्द्र से सहयोग का मिला आश्वासनः डॉ. रघु शर्मा

जयपुर: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की हालात अन्य राज्यों से बेहतर है, लेकिन जिस तरह से यहां कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं उन्हे देखकर और आगे यहां के हालात भयानक न हो इसके लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि केन्द्रीय मंत्रियों से मुलाकात के बाद उन्होंने आश्वासन दिया है कि और हमें भी उम्मीद है कि प्रदेश को जल्द ही आवश्यकतानुसार जीवन रक्षक दवाओं और ऑक्सीजन की आपूर्ती की जाएगी.

कांग्रेस सरकार के मंत्रियों के दल ने केन्द्रीय मंत्रियों से की थी मुलाकातः
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में कोरोना के बढ़ते ममलों के बीच प्रदेश सरकार के तीन वरिष्ठ मंत्रियों ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला, नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल और चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने मंगलवार को दिल्ली पहुंचकर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, डॉ. हर्षवर्धन, पीयूष गोयल और रसायन व उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया से मिलकर और वीसी के जरिये प्रदेश में संक्रमितों के उपचार के लिए तत्काल रेमडेसिविर व टोसिलिजुमेब और आॉक्सीजन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराने का आग्रह किया.

रघु शर्मा ने केन्द्र से सहयोग मिलने की जताई उम्मीदः
दिल्ली से जयपुर लौटने के बाद चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा कोरोना को लेकर प्रदेश के हालातों पर चिंता जताते हुए कहा कि वैसे तो राजस्थान के हालात अन्य राज्यों के मुकाबले ठीक है, लेकिन जिस तरह से यहां एक्टिव केस बढ़ रहे हैं उन्हे देखकर ऐसा लगता है कि किसी भी समय यहां विस्फोटक हालात में हो सकते हैं. इसी को लेकर राज्य सरकार के मंत्रियों ने केन्द्रीय मंत्रियों से विभिन्न माध्यमों से वार्ता की है. उन्होंने कहा कि केन्द्रीय नेताओं से ऑक्सीजन, रेमडेसिविर, टैंकरों को लेकर चर्चा हुई है. इस दौरान सभी केन्द्रीय मंत्रियों ने प्रदेश के हालातों को देखते हुए सकारात्मक रुख दिखाया, लेकिन उनका ये सकारात्मक रुख प्रदेश की जनता के लिए तभी राहत बनेगा जब राजस्थान की मांग के अनुसार उन्हे जरूरी संसाधन केन्द्र उपलब्ध कराएगा.

ऑक्सीजन की आपूर्ती को लेकर केन्द्रीय मंत्रियों को कराया अवगतः
डॉ.रघु शर्मा ने कहा कि वर्तमान में राजस्थान में 300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की सप्लाई मिल रही है, लेकिन जरूरत 310 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरुरत है. इसमें से 100 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भिवाड़ी प्लांट से मिल रही है, जबकि 40 मीट्रिक टन ऑक्सीजन जामनगर से मंगवाई जा रही है. वहीं 125 मीट्रिक टन लोकल लेवल, 13 मीट्रिक टन कंसंट्रेटर और 22 मीट्रिक टन ऑक्सीजन पीएसए के ज़रिये हमें मिल रही है. वहीं ऑक्सीजन को सप्लाई करने के लिए हमारे पास सिर्फ 23 टैंकर उपलब्ध हैं, जिनमें भी कई छोटे टैंकर हैं.

रेमडेसिविर इंजेक्शन की का इस माह को कोटा उपलब्ध कराने की मांगः
डॉ.रघु शर्मा ने बताया कि केन्द्र सरकार को हमने पहले 1 लाख 75 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन का ऑर्डर दिया था, जिसमें से उन्होंने 26500 इंजेक्शन ही भेजे, लेकिन जब हमने मांग बढ़ाई तो उन्होंने प्रदेश का कोटा बढ़ाके 67000 इंजेक्शन हमे 30 अप्रैल तक देने की बात कही थी. उसमें से भी हमारे पास सिर्फ 37000 रेमडेसिविर इंजेक्शन आए हैं. उन्होंने कहा कि जो कोटा भारत सरकार की और से राजस्थान के लिए तय किया गया है उसकी सप्लाई अभी तक हमें नहीं मिली है.जिसके कारण प्रदेश में इंजेक्शन को लेकर तकलीफ का महौल है. उन्होंने केन्द्र सरकार से प्रदेश में कोरोना की स्थिति को देखकर जीवन रक्षक दवाओं और ऑक्सीजन की आपूर्ती उपलब्ध कराए. उन्होंने उम्मीद जताई की भारत सरकार इस मुश्किल घड़ी में हर संभव मदद मुहैया कराएगी.

और पढ़ें