राहुल गांधी-सचिन पायलट मुलाकात आज! पायलट कैंप से जुड़े सूत्रों ने दिए संकेत

राहुल गांधी-सचिन पायलट मुलाकात आज! पायलट कैंप से जुड़े सूत्रों ने दिए संकेत

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच आज एक बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है. पायलट कैंप से जुड़े सूत्रों ने आज राहुल गांधी और सचिन पायलट की मुलाकात के संकेत दिए हैं. सूत्रों की माने तो यह मुलाकात आलाकमान के बुलावे पर हो रही है. लेकिन मुलाकात से पहले राहुल गांधी ने पायलट के सामने सभी विधायकों को साथ लेकर आने की शर्त रखी है और पायलट ने राहुल गांधी की बात मान ली. 

Coronavirus in India: 24 घंटे में 62 हजार से ज्यादा केस, 1007 लोगों की वायरस से हुई मौत 

जैसलमेर में विधायक दल की बैठक में ही संकेत दे दिए थे:  
ऐसे में अब पायलट कैंप के विधायक गुजरात या दूसरे स्थानों से दिल्ली पहुंच रहे हैं. वहीं राहुल-पायलट की संभावित मुलाकात की खबर से गहलोत खेमे में भी उत्सुकता है. हालांकि शायद गहलोत को इस मुलाकात की पहले ही जानकारी थी. इसलिए कल उन्होंने जैसलमेर में विधायक दल की बैठक में ही संकेत दे दिए थे और पायलट गुट के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे विधायकों को दो टूक संदेश दिया था कि जो भी दिल्ली का फैसला होगा हम उसे मानेंगे. हम सभी लोग पार्टी के अनुशासित सिपाही हैं.  

भाजपा कैंप में हैरानी और आश्चर्य: 
दूसरी ओर राहुल-पायलट की संभावित मुलाकात से भाजपा कैंप में हैरानी और आश्चर्य होने की जानकारी सामने आ रही है. क्योंकि पायलट के NATURAL ALLY के रूप में भाजपा का भी इस सारे मामले में STAKE है. हालांकि भाजपा ने हमेशा गहलोत और पायलट की अंदरूनी लड़ाई बताया है. लेकिन अब राजनीतिक क्षेत्रों में एक सवाल पूछा जा रहा है कि क्या इतना आगे बढ़ने के बाद सचमुच पायलट लौट पाएंगे पीछे? आखिर अब क्या होगी राहुल और पायलट के बीच कोई डील? पायलट कैंप की खुद पायलट को सीएम बनाने की एक ही शर्त है और इसके लिए गहलोत के 96 या 100 विधायक कतई तैयार नहीं है, तो फिर ऐसे में क्या होगा नया 'शांति फॉर्मूला'? इस बारे में सभी लोगों के अपने-अपने अनुमान है. 

Rajasthan Political Crisis:  बसपा विधायकों के विलय मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई 

वेस्टर्न कंट्री क्लब होटल से देर रात निकले सभी विधायक:
इसी बीच पायलट गुट से जुड़ी बड़ी खबर है. वेस्टर्न कंट्री क्लब होटल से देर रात निकले सभी विधायक. इसके साथ ही मौके से एंबुलेंस और कोविड केयर सेंटर को हटाया गया है. पहले विधायकों के हयात होटल जाने की खबर थी लेकिन विधायक वहां भी नहीं पहुंचे. 

 

और पढ़ें