Live News »

मानहानि के एक और मामले में राहुल गांधी को फिर मिली जमानत

मानहानि के एक और मामले में राहुल गांधी को फिर मिली जमानत

अहमदाबाद: मानहानि के एक मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अहमदाबाद की एक स्थानीय अदालत ने जमानत दे दी है. राहुल ने नोटबंदी के दौरान एडीसीबी बैंक में 745 करोड़ रातो रात बदले जाने का आरोप लगाया था. उसके बाद एडीसी बैंक और उनके चेयरमैन की और से राहुल गांधी पर मानहानि का मुकदमा दायर किया था. राहुल गांधी को अदालत ने 15 हजार के मुचलके पर जमानत दी. अब इस मामले में अगली सुनावई 7 सितंबर को होगी. 

इससे पहले अप्रैल में हुई थी सुनवाई: 
इससे पहले मानहानि केस के इस मामले में कोर्ट ने अप्रैल में सुनवाई की थी और तब कोर्ट ने राहुल गांधी को 27 मई को पेश होने के आदेश दिए थे, लेकिन राहुल गांधी ने कोर्ट से अपील की थी कि उन्हें अधिक समय दिया जाए. इस मांग को कोर्ट ने स्वीकार कर लिया था और राहुल गांधी को 12 जुलाई को कोर्ट के सामने पेश होने का आदेश दिया था.

मानहानि के दो अन्य मामलों में मिल चुकी जमानत: 
इससे पहले, मानहानि के दो अन्य मामलों में राहुल गांधी को जमानत मिल चुकी है. राहुल गांधी को पटना के एक सिविल कोर्ट से जमानत मिली थी. बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कांग्रेस नेता के खिलाफ मानहानि का केस दायर किया था. इसी तरह मुंबई की एक अदालत ने राहुल गांधी को आरएसएस के एक कार्यकर्ता द्वारा दायर मानहानि मामले में 15,000 रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दी थी.


 

और पढ़ें

Most Related Stories

केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का बयान, कहा-भारत ने चीन पर की डिजिटल स्ट्राइक 

केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का बयान, कहा-भारत ने चीन पर की डिजिटल स्ट्राइक 

नई दिल्ली: 59 चीनी मोबाइल एप्स को बैन किए जाने के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत ने चीन पर डिजिटल स्ट्राइक की है. उन्होंने कहा कि देशवासियों की रक्षा के लिए भारत डिजिटिल स्ट्राइक भी कर सकता है. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि  भारत की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए, देशवासियों की डिजिटल सुरक्षा और गोपनीयता के लिए हमने 59 ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिसमें टिकटॉक भी शामिल है.

मध्य प्रदेश में हुआ शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार, सिंधिया समर्थकों को मिला मौका

आंख मिलाकर जवाब देना जानते हैं:
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत अपनी सीमा पर आंख में आंख डालकर जवाब देना जानता है और भारत लोगों की रक्षा के लिए डिजिटल स्ट्राइक करना भी जनता है. उन्होंने कहा कि देश को मोबाइल ऐप्स के मामले में आत्मनिर्भर बनाना होगा. उन्होंने कहा था कि हमारा मकसद भारत को सॉफ्टवेयर के क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बनाने का है. इसके लिए स्टेक होल्डर से बात करके नीति बना ली गई है. हम चाहते हैं कि तमाम डिजिटल मीडियम में आत्मनिर्भर बनने के साथ ही भारत सॉफ्टवेयर के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बने. भारत दुनिया का सॉफ्टवेयर हब बने.

59 चीनी मोबाइल एप्स पर लगाई थी रोक:
आपको बता दें कि भारत सरकार ने सोमवार को देश में 59 चीनी मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था. इन एप्स में टिक टॉक, यूसी ब्राउजर, शेयर इट, हेलो और लाइकी जैसे बहुत सारे पॉपुलर एप्स शामिल है. भारत सरकार की ओर से कहा गया था कि देश में डेटा और प्राइवेसी सेफ्टी को देखते हुए यह कदम उठाया गया है. इसके बाद मंगलवार को इंटरनेट कंपनियों को एक आदेश जारी किया गया था, जिसमें कहा गया था कि वो इन ऐप्स पर रोक लगाएं.

लद्दाख में महसूस किए गए भूकंप के झटके, 4.5 आंकी गई भूकंप की तीव्रता

लद्दाख में महसूस किए गए भूकंप के झटके, 4.5 आंकी गई भूकंप की तीव्रता

 लद्दाख में महसूस किए गए भूकंप के झटके, 4.5 आंकी गई भूकंप की तीव्रता

नई दिल्ली: देश के केन्द्र शासित प्रदेश लद्दाख में गुरुवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए है. भूकंप की तीव्रता 4.5 आंकी गई है. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक लद्दाख में दोपहर 1.11 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. खबरों के मुताबिक भूकंप का केंद्र कारगिल के उत्तर-उत्तर-पश्चिम में 119 किमी की दूरी पर था. 

मध्य प्रदेश में हुआ शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार, सिंधिया समर्थकों को मिला मौका

26 जून को भी हुए थे भूकंप के झटके महसूस:
इससे पहले 26 जून को भी लद्दाख में भूकंप के झटके महसूस किए गए है. गुरुवार को आए भूकंप से लोग दहशत में हैं हालांकि अभी तक जानमान की हानि की कोई जानकारी नहीं मिली है. जिस दौरान भूकंप आया उस वक्त लोग अपने घरों में थे जैसे ही झटके महसूस हुए तो लोग अपने घरों से बाहर निकल आये. 

हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, सहायक रेडियोग्राफर भर्ती में बैठ पाएंगे अंतिम वर्ष के स्टूडेंट्स

देश के अन्य​ हिस्सों में भी आ चुका है भूकंप:
भारत के कई इलाकों में लगातार भूकंप आ रहे हैं जिससे लोगों में भय का माहौल हैं. लद्दाख में पिछला भूकंप भी 4.5 तीव्रता का आया था. इससे पहले भी दिल्ली, एनसीआर, हरियाणा के रोहतक समेत कई जगहों पर पहले भी भूकंप के झटके आ चुके है.

मध्य प्रदेश में हुआ शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार, सिंधिया समर्थकों को मिला मौका

मध्य प्रदेश में हुआ शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार, सिंधिया समर्थकों को मिला मौका

भोपाल: मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के मंत्रिमंडल का आज विस्तार हो गया है. मध्य प्रदेश की राज्यपाल (अतिरिक्त प्रभार) आनंदी बेन पटेल ने राजभवन में मंत्रियों को शपथ दिलाई. कुल 28 नए मंत्रियों ने शपथ ली, जिनमें 20 कैबिनेट मंत्री और आठ राज्यमंत्री हैं. कांग्रेस की कमलनाथ सरकार गिरने के बाद जब शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, तब कुछ ही मंत्रियों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था.

हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, सहायक रेडियोग्राफर भर्ती में बैठ पाएंगे अंतिम वर्ष के स्टूडेंट्स 

इन नेताओं ने ली शपथ: 
मंत्रिमंडल में आज गोपाल भार्गव, यशोधरा राजे सिंधिया, जगदीश देवड़ा, बिसाहूलाल सिंह, विश्वास सारंग, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रभुराम चौधरी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, प्रेमसिंह पटेल ओमप्रकाश सकलेचा, उषा ठाकुर, अरविंद भदौरिया, मोहन यादव, हरदीप सिंह डंग, राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव, भारत सिंह कुशवाहा, रामकिशोर कांवरे, इंदर सिंह परमार, रामखेलावन पटेल, रामकिशोर कांवरे, बृजेंद्र सिंह यादव, रामकिशोर कांवरे, बृजेंद्र सिंह यादव, गिरिराज दंडोतिया, सुरेश राठखेड़ा, ओपीएस भदौरिया, विजय शाह और एंदल सिंह कसाना ने शपथ ली. 

ये पहले से ही हैं मंत्री:
नरोत्तम मिश्रा, तुलसीराम सिलावट, कमल पटेल, गोविंद सिंह राजपूत और मीना सिंह 23 मार्च को ही शपथ ले चुके. 

ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों की छाप देखने को मिली:
मंत्रिमंडल विस्तार में ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों की छाप देखने को मिली. शपथ ग्रहण में खुद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद रहे. कैबिनेट विस्तार से पहले शिवराज ने दिल्ली आकर शीर्ष नेतृत्व के साथ मंथन किया था. 

शिवराज चौहान ने 23 मार्च को ली थी शपथ:
दरअसल, पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक छह मंत्रियों समेत 22 विधायकों के कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद 20 मार्च को कमलनाथ को इस्तीफा देना पड़ा था और 15 महीने पुरानी कांग्रेस सरकार गिर गई थी. शिवराज चौहान ने इस साल 23 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. 

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 19148 मामले आए सामने, देश में कुल मरीजों का आंकड़ा 6 लाख के पार 

मध्य प्रदेश विधानसभा में कुल 230 सदस्य:
बता दें कि मध्य प्रदेश विधानसभा में कुल 230 सदस्य हैं. इस लिहाज से अधिकतम 35 विधायक मंत्री बनाए जा सकते हैं. जब शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, तब कैबिनेट में सिर्फ 6 मंत्री ही शामिल हुए थे.

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 19148 मामले आए सामने, देश में कुल मरीजों का आंकड़ा 6 लाख के पार

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 19148 मामले आए सामने, देश में कुल मरीजों का आंकड़ा 6 लाख के पार

नई दिल्ली: देश में लगातार कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा अपडेट के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 19 हजार 148 नए मामले सामने आए और 434 मौतें हुईं. ऐसे में देश में कुल मरीजों की संख्या 6 लाख 4 हजार 641 है, जिसमें 17 हजार 834 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना से अब तक करीब 3 लाख 60 हजार मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि एक्टिव केस की संख्या करीब 2 लाख 27 हजार है.

VIDEO: रोडवेज में मितव्ययता बरतने के लिए सीएमडी नवीन जैन ने जारी किया सर्कुलर  

परीक्षण किए गए नमूनों की कुल संख्या 90,56,173: 
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की ओर से जारी आकंड़े के मुताबिक, देशभर में एक जुलाई तक परीक्षण किए गए नमूनों की कुल संख्या 90,56,173 है. जिनमें से 2,29,588 नमूनों का परीक्षण पिछले 24 घंटे में किया गया है.  

देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में:
आंकड़ों के मुताबिक, देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. महाराष्ट्र में 79 हजार से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है. इसके बाद दूसरे नंबर पर दिल्ली, तीसरे नंबर पर तमिलनाडु, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं.

VIDEO: हाउसिंग बोर्ड ने धमाकेदार परफॉर्मेंस से अपना ही विश्व रिकॉर्ड तोड़ा, 12 दिन में ही 1213 आवासों की नीलामी   

दुनिया का चौथा सबसे प्रभावित देश:
भारत कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से दुनिया का चौथा सबसे प्रभावित देश है. अमेरिका, ब्राजील, रूस के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में भारत चौथे नंबर पर है. लेकिन भारत में मामले बढ़ने की रफ्तार दुनिया में तीसरे नंबर पर बनी हुई है. अमेरिका और ब्राजील के बाद एक दिन में सबसे ज्यादा मामले भारत में दर्ज किए जा रहे हैं.

Boycott China: चीन को एक और झटका, देश के हाइवे प्रोजेक्ट्स में चीनी कंपनियां होंगी बैन

Boycott China: चीन को एक और झटका, देश के हाइवे प्रोजेक्ट्स में चीनी कंपनियां होंगी बैन

नई दिल्ली: भारत-चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद के चलते भारत लगातार आर्थिक मोर्चे पर चीन को झटके दे रहा है. चीन की 59 एप्स पर प्रतिबंध लगाने के बाद आज केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बड़ी जानकारी देते हुए बताया कि भारत सभी हाइवे प्रोजेक्ट्स में चीनी कंपनियों को बैन करने की तैयारी कर रहा है. चीनी कंपनियों को संयुक्त उद्यम पार्टनर (JV) के रूप में भी काम नहीं करने दिया जाएगा.

ऋण पर्यवेक्षक के 300 रिक्त पदों पर शीघ्र होंगी भर्ती- सहकारिता मंत्री 

जॉइंट वेंचर के रास्ते भी रोक दिया जाएगा: 
गडकरी ने कहा कि इतना ही नहीं अगर कोई चाइनीज कंपनी जॉइंट वेंचर के रास्ते भी राजमार्ग परियोजनाओं में एंट्री की कोशिश करेगी तो उसे भी रोक दिया जाएगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि सरकार यह भी सुनिश्चित करेगी कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSMEs) के विभिन्न क्षेत्रों में चीनी निवेशकों से कोई रिश्ता न रखा जाए.

नियमों में ढील देने की नीति बनाई जाएगी:
उन्होंने कहा कि जल्द ही चीनी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाने और भारतीय कंपनियों को राजमार्ग परियोजनाओं में भागीदारी के लिए उनकी पात्रता मानदंड का विस्तार करने के लिए नियमों में ढील देने की नीति बनाई जाएगी. गडकरी ने कहा कि वर्तमान में कुछ परियोजनाएँ जो बहुत पहले शुरू की गई थीं उनमें कुछ चीनी साझेदार शामिल थे उन पर यह लागू नहीं होगा, नया निर्णय वर्तमान और भविष्य की निविदाओं में लागू किया जाएगा. 

अनोखी शादी में वर-वधु ने सात फेरे लेने के बाद लिया आठवां फेरा, पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश 

चीन से हिंसक झड़प में देश के 20 वीर जवान शहीद हो गए थे:
गौरतलब है कि भारत-चीन नियंत्रण रेखा पर हुई हिंसक झड़प में हमारे देश के 20 वीर जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद से ही देश में चीन विरोधी माहौल चरम पर है. चीनी कंपनियों और चीनी माल के बहिष्कार तक की बात होने लगी है.


 

कोरोनिल विवाद पर बाबा रामदेव की सफाई, कहा- हमने क्लीनिकल ट्रायल नियमों का पालन किया

कोरोनिल विवाद पर बाबा रामदेव की सफाई, कहा- हमने क्लीनिकल ट्रायल नियमों का पालन किया

नई दिल्ली: कोरोनिल विवाद पर योग गुरु बाबा रामदेव ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सफाई दी. उन्होंने कहा कि हमने कोरोना की दवा पर अच्छी पहल की है. लेकिन लोग हमें गाली दे रहे हैं. आप हमें गाली दो. लेकिन कम से कम उन लोगों के साथ हमदर्दी रखो, जो कोरोना वायरस से पीड़ित हैं और जिन लाखों-करोड़ों बीमार लोगों का पतंजलि ने इलाज किया है. 

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सीआरपीएफ के काफीले पर आतंकी हमला, एक जवान शहीद, एक नागरिक की भी मौत 

आयुष मंत्रालय ने हमारे प्रयासों की सराहना की: 
इसके साथ ही बाबा रामदेव ने कहा कोरोनिल के काम पर आयुष मंत्रालय ने हमारे प्रयासों की सराहना की है. साथ ही ही कहा कि क्लीनिकल ट्रायल और रजिस्ट्रेशन दोनों प्रक्रिया में नियमों का पूरा ध्यान रखा गया है. रामदवे ने कहा कि ऐसा लगता है कि हिन्दुस्तान के अंदर योग आयुर्वेद का काम करना एक गुनाह है. सैकड़ों जगह एफआईआर दर्ज हो गईं, जैसे किसी देशद्रोही और आतंकवादी के खिलाफ दर्ज होती हैं.

Devshayani Ekadashi 2020 : चार माह योगनिद्रा में रहेंगे भगवान विष्णु, भूलकर भी ना करें ये काम 

यूनानी और आयुर्वेद डिपार्टमेंट से लाइसेंस लिया:
रामदेव ने सफाई देते हुए कहा कि आयुर्वेद दवाइयों को बनाने का यूनानी और आयुर्वेद डिपार्टमेंट से लाइसेंस लिया है. ये आयुष मंत्रालय से संबंधित होता है. बाबा रामदेव ने कोरोनिल पर विरोध की आवाजों को जवाब देते हुए कहा कि यह एक साम्राज्यवादी सोच है कि कैसे एक भगवा धारण करने वाला रिसर्च कर सकता है. 
 

Doctor's Day Special: वॉरियर की भूमिका में धरती के भगवान !

जयपुर: डॉक्टर्स और मरीज के बीच अटूट रिश्ता है. आए दिन डाक्टरों की हड़ताल और मारपीट की घटनाओं के चलते पिछले कुछ समय से भले ही इस सोच में बदलाव आ रहा हो, लेकिन कोरोना काल में चिकित्सकों का नया रूप सामने आया है. धरती का भगवान कहे जाने वाले चिकित्सक अब कोरोना वॉरियर की भूमिका में है. हो भी क्यों नहीं. दुनियाभर में जिस बीमारी का खौफ, उससे हमारे चिकित्सक न सिर्फ लड़ाई लड़ रहे हैं, बल्कि राजस्थान में काफी हद तक इस जानलेवा वायरस को हराने में कामयाब भी हुए है. डॉक्टर्स डे के मौके पर सूबे के सबसे बड़े एसएमएस अस्पताल के उन्हीं पर्दे के पीछे के वॉरियर्स से खास बातचीत की हमारे संवाददाता विकास शर्मा ने...

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सीआरपीएफ के काफीले पर आतंकी हमला, एक जवान शहीद, एक नागरिक की भी मौत 

1....डॉ सुधीर भण्डारी, प्राचार्य एसएमएस मेडिकल कॉलेज : कोरोना महामारी में एक मेडिकल लीडर की भूमिका में रहे....टीम वर्क के रूप में पहले एसएमएस में बेहतरीन व्यवस्थाएं की....पहली बार "हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन" समेत अन्य अलग-अलग दवाओं का कॉम्बेनेशन बनाकर कोरोना मरीजों पर ट्रायल की और काफी हद तक मरीज उससे ठीक भी हुए.....इसके अलावा न सिर्फ चिकित्सकीय क्षेत्र बल्कि रिसर्च में भी विशेष फोकस रखा....ताकि दूसरी जगहों पर भी कोरोना मरीजों उपचार मिल सके

2. डॉ अजीत सिंह, अति अधीक्षक एसएमएस अस्पताल : कोरोना और मौसमी बीमारियों के नोडल ऑफिसर, कोरोना से जुड़े मामलों की माइक्रो मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी

3. डॉ विशाल गुप्ता : प्रदेश के सबसे बड़े डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल आरयूएचएस के नोडल अधिकारी, एसएमएस और आरयूएचएस के बीच कॉर्डिनेशन की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी

4. डॉ मनीष शर्मा :  कोरोना रोकथाम के लिए गठित टॉस्क फोर्स के सदस्य, इसके साथ ही रेपिड रेस्पोस टीम के भी सदस्य....जे के लोन अस्पताल में कोरोना पीडित बच्चों के ट्रिटमेंट में महत्ती भूमिका

5. डॉ राजेन्द्र कराडिया : कोरोना सैम्पल के कलेक्शन से लेकर ट्रॉसपोटेशन का महत्वपूर्ण जिम्मा....लैब और आईपीडी के बीच कॉर्डिनेशन की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी

6. डॉ रीमा मीणा : कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए आईसीयू की व्यवस्था का जिम्मा, इसके साथ ही क्रिटिकल केयर मरीजों की मॉनिटरिंग का जिम्मा,

7. डॉ गोविन्द : मेडिसिन डिपार्टमेंट के रेजीडेंट, कोरोना महामारी के दौरान 24x7 ड्यूटी, हर परिस्थिति में वार्ड में मरीजों के बीच डटे रहे

डॉक्टर्स डे आज:
- बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री डा विधानचन्द्र राय की याद में मनाया जाता है डाक्टर्स डे
- राय एक सफल चिकित्सक थे, जिन्होंने अपना जीवन दूसरों की सेवा में बिताया
- लोगों की सेवा और देश के विकास की चाह उन्हें राजनीति में ले आई
- जनमानस में उनकी सेवाओं का ही प्रभाव रहा कि 1961 में राय को मिला भारत रत्न

Devshayani Ekadashi 2020 : चार माह योगनिद्रा में रहेंगे भगवान विष्णु, भूलकर भी ना करें ये काम 

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सीआरपीएफ के काफीले पर आतंकी हमला, एक जवान शहीद, एक नागरिक की भी मौत

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सीआरपीएफ के काफीले पर आतंकी हमला, एक जवान शहीद, एक नागरिक की भी मौत

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सीआरपीएफ के गश्ती दल पर आंतकियों ने हमला किया है. इसमें सीआरपीएफ 179 बटालियन के हेड कॉन्स्टेबल शहीद हो गए हैं, जबकि तीन जवान घायल हुए हैं. वहीं गोली लगने से एक नागरिक की भी मौत हुई है. घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. जानकारी के अनुसार आतंकियों ने घात लगाकर पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला किया है. 

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 18653 नए मामले सामने आए, भारत में मामले बढ़ने की रफ्तार दुनिया में तीसरे नंबर पर 

आतंकवादियों ने सीआरपीएफ की एक नाका पार्टी पर हमला बोला: 
जानकारी के अनुसार आज सुबह करीब साढ़े सात बजे सोपोर के मॉडल टाउन में आतंकवादियों ने सीआरपीएफ की एक नाका पार्टी पर हमला बोल दिया. जिसमें सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया, इसके साथ ही एक नागरिक की भी मौत हो गई और तीन जवान घायल हो गए. हमले के बाद इलाके में घेराबंदी कर तलाशी अभियान किया जा रहा है. 

Devshayani Ekadashi 2020 : चार माह योगनिद्रा में रहेंगे भगवान विष्णु, भूलकर भी ना करें ये काम 

सुरक्षाबलों पर हमले की 6 दिन में यह दूसरी घटना:
सुरक्षाबलों पर हमले की 6 दिन में यह दूसरी घटना है. इससे पहले शुक्रवार को अनंतनाग के बिजबेहड़ा में सीआरपीएफ की पार्टी पर अटैक हुआ था. उसमें एक जवान शहीद हो गया. वहीं, 5 साल के बच्चे की मौत हो गई थी. 
 

Open Covid-19