पीलीबंगा महापंचायत में बोले राहुल गांधी, देश की 40 प्रतिशत जनता का धंधा बंद कर देंगे नए कानून

पीलीबंगा महापंचायत में बोले राहुल गांधी, देश की 40 प्रतिशत जनता का धंधा बंद कर देंगे नए कानून

 पीलीबंगा महापंचायत में बोले राहुल गांधी, देश की 40 प्रतिशत जनता का धंधा बंद कर देंगे नए कानून

पीलीबंगा (राजस्थान): केन्द्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर प्रत्यक्ष निशाना साधते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि वह अपने दोस्तों के लिए रास्ता साफ करना चाहते हैं. गांधी ने कहा कि ये कानून सिर्फ किसान का मुद्दा नहीं बल्कि गरीबों, मजदूरों और देश की 40 प्रतिशत जनता का मुद्दा और कांग्रेस पार्टी इन्हें रद्द करवाके ही मानेगी. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर भी केंद्र की भाजपा सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि किसानों को धमकाने, मारने पीटने वाली सरकार उस चीन के सामने खड़ी तक नहीं हो पा रही जिसने हमारी हजारों किलोमीटर जमीन हड़प ली है.

पूरे देश में किसान क्यों हैं दुखी?
गांधी ने सवाल किया, प्रधानमंत्री मोदी कहते हैं कि उन्होंने ये कानून किसानों के हित में बनाए हैं, ऐसे में सवाल यह है कि पूरे देश में किसान दुखी क्यों हैं? दिल्ली की सीमाओं पर महीनों से लाखों किसान आंदोलन क्यों कर रहे हैं? राजस्थान के दो दिवसीय दौरे पर आए गांधी हनुमानगढ़ जिले के पीलीबंगा कस्बे में किसान महापंचायत को संबोधित कर रहे थे. नये कृषि कानूनों की बात करते हुए उन्होंने कहा कि पहला कानून मंडी को मारने, मंडी को खत्म करने का कानून है. दूसरा अनिवार्य वस्तु अधिनियम को समाप्त कर जमाखोरी चालू करने का कानून है और तीसरा किसान के हाथ से न्याय छीनने का कानून है. उन्होंने कहा कि इन कानूनों का लक्ष्य है कि, 40 प्रतिशत लोगों का धंधा दो-तीन लोगों के हाथ में चला जाए. एक ही कंपनी पूरे देश का अनाज बेचे.

हिंदुस्तान की 40 प्रतिशत जनता पर आक्रमण:
गांधी ने कहा कि ये कानून किसानों पर आक्रमण नहीं यह हिंदुस्तान की 40 प्रतिशत जनता पर आक्रमण है और अगर ये लागू हो गए तो कृषि कार्य से जुड़े देश की सब लोग बेरोजगार हो जाएंगे. उन्होंने कहा कि किसान सबसे जागरुक है और उसे सबसे पहले बात समझ आ गई है.
उन्होंने कहा कि ये तीनों कानून लागू हो गए तो किसान तो गया, उसकी जमीन गई. मगर छोटा दुकानदार भी गया, व्यापारी भी गया, मजदूर गया. हिंदुस्तान के 40 प्रतिशत लोग बेरोजगार हो जाएंगे. गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं कि उन्होंने किसानों के लिए यह किया तो पूरे देश में किसान दुखी क्यों हैं. क्यों लाखों किसान दिल्ली की सीमाओं पर खड़े हैं? 200 किसान शहीद क्यों हो गए?

चार लोग चलाते हैं इस देश की सरकार:
राहुल ने कहा कि उन्होंने यह किसानों के लिए तो नहीं किया, न मजूदरों के लिए किया, न छोटे दुकानों के लिए किया. उन्होंने यह हम दो हमारे दो के लिए किया. चार लोग इस देश की सरकार चलाते हैं और जो भी हो रहा है इन चार लोगों के लिए हो रहा है. इन 40 प्रतिशत लोगों पर पहला आक्रमण नोटबंदी के समय हुआ. केंद्र सरकार द्वारा नोटबंदी के बाद जीएसटी लगाने का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा कि उसके बाद जीएसटी. फिर से उसी कड़ी का आक्रमण. छोटे मझौले कारोबारियों को खत्म कर दिया. रास्ता साफ करना चाहते हैं  मोदी जी रास्ता साफ करना चाहते हैं अपने मित्रों के लिए. उन्होंने कहा कि अब चौथा कदम ये तीन नये कानून.  लक्ष्य... हिंदुस्तान के 40 प्रतिशत लोगों का धंधा उनसे छीनना. वह आपको दिख रहा है. इस देश में रोजगार किसान देता है, छोटे व्यापारी देते हैं. आपने उन्हें जान से मार दिया. खत्म कर दिया. आज पूरा देश देख रहा है. बेरोजगारी फैलती जा रही है और नरेंद्र मोदी हर दिन कोई नया बहाना बनाते हैं.

कानूनों को रद्द कीजिए किसान आपसे बात करने को तैयार:
उन्होंने कहा कि वह कहते हैं हम हम किसानों से बात करना चाहते हैं. क्या बात करना चाहते हैं. इन कानूनों को रद्द कीजिए किसान आपसे बात करने को तैयार हैं. पहले आप काननू वापस लीजिए. गांधी ने कहा कि यह सिर्फ किसानों का मुद्दा नहीं है, यह गरीबों का मुद्दा है. यह जो सिस्टम है कृषि का सिस्टम मंडी, एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य), आवश्यक वस्तु अधिनियम यह सब सिस्टम आपकी रक्षा करता है इस ढांचे को नरेन्द्र मोदी तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. जत्रलेकिन कांग्रेस ऐसा होने नहीं देगी. उन्होंने कहा कि मैं आपको यहां आश्वासन देने आया हूं कि कांग्रेस पार्टी किसानों, मजदूरो, गरीबों के साथ खड़ी रहेगी. इन कानून को हम आगे बढ़ने नहीं देंगे.. इन कानून को हम रद्द करके ही दिखाएंगे. पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ महीनों से जारी गतिरोध और अरुणाचल प्रदेश में कामकाजी सीमा पर चीन द्वारा निर्माण करने की खबरों के बीच कांग्रेस नेता ने कहा कि चीन की सेना ने हजारों किलोमीटर जमीन हिन्दुस्तान से छीनी ली है. हमारे जवान शहीद हुए हैं.

हिन्दुस्तान के किसान और मजदूर की शक्ति नहीं जानते:
कटाक्ष करते हुए गांधी ने कहा कि कल लोकसभा और राज्यसभा में रक्षा मंत्री (राजनाथ सिंह) ने कहा कि समझौता हो गया, लेकिन समझौता किस बात का हुआ.समझौता यह हुआ कि नरेंद्र मोदी की सरकार ने हिन्दुस्तान की पवित्र जमीन चीन को पकड़ा दी. हिन्दुस्तान का पोस्ट फिंगर 4 पर होता था चीन ने अपनी सेना भेजी. समझौता, नरेंद्र मोदी ने यह कहा कि हम अब फिंगर तीन पर अपना पोस्ट लगायेंगे मतलब फिंगर 4 और फिंगर 3 के बीच जो हमारी पवित्र जमीन है वो उन्होंने चीन को हमेशा के लिये दे दी है. कांग्रेस नेता ने कहा कि ये (प्रधानमंत्री मोदी) चीन के सामने खड़े नहीं होंगे. किसानों को धमकी देंगे.किसानों को मारेंगे-पीटेंगे…, दीवार लगायेंगे और चीन को हिन्दुस्तान की जमीन देंगे यह नरेंद्र मोदी की सच्चाई है. उन्होंने कहा कि बस एक गलतफहमी है नरेंद्र मोदी को. वह हिन्दुस्तान के किसान और मजदूर की शक्ति नहीं जानते, उसको नहीं पहचानते. समझ ही नहीं है. किसान, मजदूर , छोटा दुकानदार , छोटा व्यापारी अब उन्हें अपनी ताकत दिखाने जा रहा है.

 

 

जब से मोदी सरकार आई है, लोकतंत्र की कर रही हैं हत्या: 
पीलीबंगा किसान महापंचायत को संबो​धित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी ने कोरोना को लेकर पहले ही चेता दिया था. कोरोना काल में राजस्थान सरकार ने जो काम किया सब जानते है. मोदी जी राहुल जी की बात सुन लेते तो कोरोना इतना भयानक नहीं होता, लेकिन मोदी जी तो नमस्कार ट्रम्प में लगे थे. फिर मध्यप्रदेश की सरकार गिराने में लग गए. उसके बाद कोशिश की राजस्थान में भी उन्हें सफलता नहीं मिली.सीएम गहलोत ने कहा कि जब से मोदी सरकार आई है, लोकतंत्र की हत्या कर रहे है. फासिस्ट सोच है. आम आदमी और किसान दुखी है.भाषण अच्छे देते है बातें करते है, लेकिन 70 दिन से अधिक का समय किसानों को हो गए है. कई किसानों की मौत हो गई. इनको चिंता नहीं है.किसानों को कौन-कौन से शब्द कह रहे हैं , जाने कौनसे जीवी कह रहे है. ये प्रधानमंत्री के लिए अशोभनीय है.

मोदी सरकार ने लोगों के अरमानों पर फेर दिया पानी:
इस मौके पर राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के (पीसीसी) प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि किसानों की आवाज को बुलंद करने राहुल गांधी राजस्थान आए है. डोटासरा ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि साल 2014 में किसान की आमदनी दोगुनी करने का सपना दिखाकर सत्ता में आए, लेकिन मोदी सरकार ने लोगों के अरमानों पर पानी फेर दिया. किसानों और युवाओं की राहुल गांधी ने आवाज बुलंद की. मोदी सरकार गुपचुप काला कानून लेकर आई है. मोदी जी सड़क पर बैठे किसानों को आतंकवादी कह रहे है.

और पढ़ें