बूंदी से बोले राहुल- दिनभर भाषण देने वाले प्रधानमंत्री को भारत की समझ ही नहीं, जानें भाषण की 15 मुख्य बातें

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/26 05:40

बूंदी। श्रीगंगानगर के सूरतगढ़ में सभा के बाद राहुल गांधी ने बूंदी से भी मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने अपने संबोधन में एक बार फिर चौकीदार शब्द को लेकर नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है। राहुल गांधी ने कहा कि किसान और बेरोजगार युवाओं के घर चौकीदार नहीं होता है, चौकीदार की लाइन तो अनिल अंबानी जैसे लोगों के घर पर लगती है। राहुल ने इस दौरान राफेल, भष्ट्राचार, बेरोजगार, कालाधान, नोटबंदी और जीएसटी तक हर मुद्दें पर सत्ता पक्ष पर निशाना साधा। 

राहुल गांधी के संबोधन की मुख्य बातें-
- आगे आने वाले चुनावों में दो पार्टियों की नहीं दो विचारधाराओं की लड़ाई हैं। एक तरफ भाजपा, नरेंद्र मोदी और RSS की विचारधारा है,जो देश को बांटने नफरथ फैलाने की विचारधारा है तो दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी की भाईचारा और जोड़ने की विचारधारा है। 

- पिछले 5 साल से नरेंद्र मोदी दो हिंदुस्तान बनाने की कोशिश में है, एक अमीरों का हिंदुस्तान, प्राइवेट हवाई जहाज वाला हिंदुस्तान, अनिल अंबानी जैसे लोगों वाला हिंदुस्तान तो दूसरा किसानों का, छोटे दुकानदारों का, व्यापारियों का, मजदूरों का, माता और बहनों का, बेरोजगार युवाओं का हिंदुस्तान हैं। 

- इस देश के दो झंडे नहीं है केवल एक झंडा है, तो एक हिंदुस्तान भी होना चाहिए। उस हिंदुस्तान में सब लोगों के लिए जगह होनी चाहिए।

- मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले कहा था कि प्रधानमंत्री मत बनाओं मुझे चौकीदार बना दो, लेकिन यह नहीं कहा कि किसका चौकीदार बनाना है। इस पर राहुल ने लोगों से सवाल करते हुए पूंछा की क्या आपने किसान के घर पर चौकीदार देखा है ? बेरोजगार के घर पर चौकीदार देखा है? चौकीदार तो अनिल अंबानी के घर पर होता है।

- 15 लाख खाते में नहीं, कालाधन सामने नहीं आया, दो करोड़ लोगों को रोजगार नहीं मिला, जो आपकी मेहनत का पैसा था उसे छीन कर नीरव मोदी जैसे लोगों को दे दिया।

- मनरेगा जैसी योजना ने 14 करोड़ लोगों को गरीबी रेखा के नीचे से निकाला, लेकिन बीजेपी ने इस योजना को खत्म कर दिया। 

- नरेंद्र मोदी ने संसद में मनरेगा का मजाक उड़ाया था, लेकिन हिन्दुस्तान के पीएम को मनरेगा का मतलब ही समझ नहीं आया। मनरेगा तो हिन्दुस्तान की अर्थव्यवस्था का इंजन बनकर लोगों को रोजगार दे रहा था।

- छोटे दुकानदार व्यापार नहीं करके जीएसटी का फार्म भरने में लगे हुए है। नरेंद्र मोदी की नीतियों से 45 साल में सबसे ज्यादा गरीबी देखने को मिली है। दिनभर भाषण देने वाले प्रधानमंत्री को भारत की समझ नहीं है। 

- प्रधानमंत्री ने 15 अमीरों का साढ़े तीन लाख करोड़ का कर्जा माफ कर दिया जबकि किसानों का एक पैसा माफ नहीं किया। 

- केंद्र में कांग्रेस की सरकार आई तो न्यूनतम आय 12 हजार रुपए महिने होगी। इस रेखा से कम आय होने पर कांग्रेस सरकार सीधे उसके बैंक खाते में पैसा डालेगी। 

- 20 फीसदी गरीब लोगों के खाते में हर साल 72000 हजार रुपए डाले जाएंगे। 

- नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा 2014 के चुनाव से पहले देश में कुछ नहीं हुआ, जो भी हुआ है मोदी के आने के बाद हुआ है।

- काम सेना ने कियावायु सेना किया पर नरेंद्र मोदी जी ने कहा कि सब मैंने किया । 

- इस व्यक्ति को समझ नहीं आ रही , ये दिनभर भाषण देकर झूठे वादे करते है।  15 लाख देने का वादा किया, दो करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा किया, लेकिन हुआ कुछ नहीं। 

- मोदीजी के हिंदुस्तान में सिर्फ अमीर लोग सपना देख सकते हैं जबकि गरीब, बरोजगार, किसान सपना नहीं देख सकतें। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in