औरंगाबाद हादसे के बाद सतर्क हुआ रेलवे प्रशासन, लोको पायलटों को ट्रेन संचालन में अधिक सतर्क रहने के दिए निर्देश

औरंगाबाद हादसे के बाद सतर्क हुआ रेलवे प्रशासन, लोको पायलटों को ट्रेन संचालन में अधिक सतर्क रहने के दिए निर्देश

औरंगाबाद हादसे के बाद सतर्क हुआ रेलवे प्रशासन, लोको पायलटों को ट्रेन संचालन में अधिक सतर्क रहने के दिए निर्देश

जयपुर: औरंगाबाद में रेलवे ट्रैक पर मजदूरों के मालगाड़ी के चपेट में आने की घटना के बाद उत्तर-पश्चिम रेलवे प्रशासन ने अपने लोकोमोटिव पायलटों, गश्त करने वाले कर्मचारियों और रेलवे सुरक्षा बल को एडवाइजरी जारी की है. लोकोमोटिव पायलट, सिग्नलिंग स्टाफ और अन्य को विशेष रूप से सतर्क रहने के लिए कहा गया है और पटरियों को किसी भी मानवीय आवागमन से मुक्त रखे जाने के निर्देश दिए हैं. उत्तर-पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अभय शर्मा ने बताया कि लोकोमोटिव पायलटों को सावधान और सतर्क रहने के लिए कहा गया है.

COVID-19: कोरोना की चपेट में आये एयर इंडिया के कर्मचारी, 5​ पायलट समेत 7 पॉजिटिव

आरपीएफ भी बरत रहा है सतर्कता:
साथ ही गश्ती टीमों को अधिक सतर्क रहने और मानवीय आवागमन को रोकने के निर्देश दिए हैं. आरपीएफ भी सतर्कता बरत रहा है और यह सुनिश्चित कर रहा है कि पटरियों पर किसी भी तरह से लोगों को आने-जाने की अनुमति नहीं दी जाए. 

आवश्यक वस्तुओं का परिवहन:
रेलवे प्रशासन ने आमजन से अपील की है कि चूंकि NWR मालगाड़ियों और पार्सल ट्रेनों के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं का परिवहन कर रहा है, इसलिए लोगों को यह गलत धारणा नहीं रखनी चाहिए कि ट्रेनें पटरियों पर नहीं चल रही हैं. पार्सल ट्रेनों, मालगाड़ियों के अलावा राज्य सरकार की मांग पर प्रवासी श्रमिकों के परिवहन के लिए भी ट्रेनें चलाई जा रही हैं.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 3753 कोरोना संक्रमित, जयपुर में एक की मौत, 11 नए पॉजिटिव आये सामने   

और पढ़ें