नई दिल्ली Delhi: सेक्स चैट के लिए महिला का नंबर सार्वजनिक करने वाला रेलवे कर्मचारी गिरफ्तार

Delhi: सेक्स चैट के लिए महिला का नंबर सार्वजनिक करने वाला रेलवे कर्मचारी गिरफ्तार

Delhi: सेक्स चैट के लिए महिला का नंबर सार्वजनिक करने वाला रेलवे कर्मचारी गिरफ्तार

नई दिल्ली: ‘सेक्स चैट’ (अश्लील बातचीत) के लिए एक महिला का मोबाइल नंबर कथित रूप से सार्वजनिक करने के आरोप में रेलवे के 22 वर्षीय कर्मचारी को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि आरोपी की पहचान पश्चिम करावल नगर निवासी अमित यादव के रूप में हुई है. पुलिस ने कहा कि यादव ने ऐसा महिला से बदला लेने के लिए किया था क्योंकि महिला ने अपने एक रिश्तेदार की बेटी से संबंध रखने को लेकर उसे डांटा था.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मामला 10 मई को तब सामने आया जब महिला ने शिकायत दर्ज कराई कि उसे कई नंबरों से ‘सेक्स चैट’ के लिए कई संदेश और फोन कॉल आ रहे हैं. पुलिस ने महिला के घर के आस-पास गहन पूछताछ की और अन्य इलेक्ट्रॉनिक विवरण- आईपी एड्रेस समेत- और कई नंबरों के कॉल डिटेल रिकॉर्ड एकत्र किए, जिनसे उसे फोन किया गया था. पुलिस उपायुक्त (बाहरी) समीर शर्मा ने कहा कि जांच में उन्होंने पाया कि अमित यादव ने महिला का फोन नंबर प्रसारित करने के लिए एक व्हाट्सऐप अकाउंट बनाया था. उन्होंने बताया कि करावल नगर इलाके में छापेमारी कर यादव को गिरफ्तार किया गया. पूछताछ के दौरान यादव ने खुलासा किया कि वह भारतीय रेल में कैटरिंग स्टाफ के रूप में काम करता है और जनवरी 2020 में वह एक लड़की के संपर्क में आया था जो शिकायतकर्ता की बहन थी और उसके साथ ट्रेन में यात्रा कर रही थी. पुलिस के अनुसार, वे दोस्त बन गए और अपने फोन नंबरों का आदान-प्रदान किया. 

डीसीपी ने कहा, हालांकि लड़की की जल्द ही शादी होने वाली थी और उसके परिवार को जब उसके रिश्ते के बारे में पता चला, तो उसने यादव को फोन किया और उसे फटकार लगाई. शर्मा ने कहा कि शिकायतकर्ता ने यादव को अपने फोन नंबर से भी फोन किया था और उसे डांटा था. इस कारण आरोपी अमित यादव उससे बदला लेना चाहता था और उसने यूट्यूब से वर्चुअल नंबर पर व्हाट्सऐप अकाउंट बनाना सीखना शुरू कर दिया. उन्होंने कहा कि उसने इस व्हाट्सऐप अकाउंट के जरिए शिकायतकर्ता के मोबाइल नंबर को अज्ञात लोगों को फॉरवर्ड करना शुरू कर दिया और जब कोई उसे कॉल करता तो वह कॉल नहीं उठाता था बल्कि उन्हें अश्लील तस्वीरें और वीडियो भेजता था. पुलिस ने कहा कि यादव ने 2016 में अपने गृहनगर उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से स्कूली शिक्षा पूरी की और 2020 में नौकरी के लिए दिल्ली आया. उसे आर के एसोसिएट्स के माध्यम से भारतीय रेल के हाउसकीपिंग विभाग में नौकरी मिली. उन्होंने बताया कि आरोपी के पास से अपराध में प्रयुक्त एक स्मार्ट फोन और एक सिम कार्ड बरामद किया गया है. सोर्स- भाषा

और पढ़ें