नई दिल्ली Covid-19 के इलाज के लिए दिल्ली को 800 बिस्तरों वाले कोच मुहैया करा रहा है रेलवे : गृह मंत्रालय

Covid-19 के इलाज के लिए दिल्ली को 800 बिस्तरों वाले कोच मुहैया करा रहा है रेलवे : गृह मंत्रालय

Covid-19 के इलाज के लिए दिल्ली को 800 बिस्तरों वाले कोच मुहैया करा रहा है रेलवे : गृह मंत्रालय

नई दिल्ली: केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि कोविड-19 ड्यूटी के लिए अर्द्धसैनिक बलों के 45 डॉक्टर और 160 चिकित्साकर्मी दिल्ली पहुंच चुके हैं, वहीं भारतीय रेल राष्ट्रीय राजधानी को 800 बिस्तरों वाले कोच उपलब्ध कराएगा. केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने बताया कि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) दिल्ली हवाईअड्डे के पास स्थित कोविड-19 अस्पताल में अगले तीन-चार दिनों में आईसीयू में मौजूदा 250 बिस्तरों में 250 अतिरिक्त बिस्तर जोड़ने जा रहा है. इसके अलावा 35 बीआईपीएपी बिस्तर भी उपल्बध कराए जाएंगे.

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में रविवार को हुई उच्चस्तरीय बैठक में लिए गए 12 फैसलों को लागू करने के क्रम में यह कदम उठाया गया है. दिल्ली में 28 अक्टूबर से कोविड-19 के नए मामलों में तेजी आयी है और उस दिन पहली बार शहर में 5,000 से ज्यादा नए मामले आए थे. शहर में पहली बार 11 नवंबर को कोविड-19 के 8,000 से ज्यादा नए मामले सामने आए. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि हवाईअड्डे के निकट स्थित डीआरडीओ के अस्पताल और छत्तरपुर स्थित कोविड-19 देखभाल केन्द्र में तैनाती के लिए अर्द्धसैनिक बलों के 45 डॉक्टर और 160 चिकित्साकर्मी दिल्ली आए हुए हैं.

अधिकारियों ने बताया कि बाकी डॉक्टर और चिकित्साकर्मी अगले कुछ दिनों में दिल्ली आ जाएंगे. उन्होंने बताया कि गृह मंत्रालय ने विशेषज्ञों की 10 टीमें बनाई हैं जो दिल्ली के 100 से ज्यादा निजी अस्पतालों में जाकर वहां बिस्तरों के उपयोग, जांच की क्षमता और आईसीयू के लिए अतिरिक्त बिस्तरों की पहचान करने का काम करेंगी. टीमें अस्पतालों का दौरा कर रही हैं.

भारतीय रेल शकूर बस्ती रेलवे स्टेशन पर 800 बिस्तरों वाले कोच मुहैया करा रहा है. अद्धैसैनिक बलों के डॉक्टर और चिकित्साकर्मी इन कोविड-19 सह पृथक-वास केन्द्रों में आने वाली मरीजों की देखभाल की जिम्मेदारी उठाएंगे. अधिकारियों ने बताया कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और दिल्ली सरकार साथ मिलकर नवंबर के अंत तक 60,000 आरटी-पीसीआर जांच प्रतिदिन की क्षमता विकसित करने पर काम कर रहे हैं. प्रवक्ता ने बताया कि 17 नवंबर को दिल्ली में रोजाना 10,000 जांच की क्षमता है.

अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में घर-घर जाकर सर्वे करने की योजना अंतिम चरण में हैं और उसके इसी सप्ताह शुरू होने की संभावना है. सर्वे 25 नवंबर तक पूरा होने की आशा है. प्रवक्ता के अनुसार, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) ने बेंगलुरु से 250 वेंटिलेटर भेजे हैं जो सप्ताह के अंत तक दिल्ली पहुंचेंगे.(भाषा) 

और पढ़ें