ऑक्सीजन ट्रेन से अब तक 12 राज्यों को 7,900 टन ऑक्सीजन पहुंचाई गई : रेलवे

 ऑक्सीजन ट्रेन से अब तक 12 राज्यों को 7,900 टन ऑक्सीजन पहुंचाई गई : रेलवे

नई दिल्ली: रेलवे ने 19 अप्रैल से अब तक करीब 500 टैंकरों में 7,900 टन ऑक्सीजन 12 राज्यों तक पहुंचाई है. राष्ट्रीय परिवहक ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. रेलवे ने बताया कि गत कुछ दिनों से ऑक्सीजन एक्सप्रेस के माध्यम से रोजाना 800 टन तरल चिकित्सकीय ऑक्सीजन (एलएमओ) देश के विभिन्न हिस्सों में पहुंचाई जा रही है. ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने एलएमओ की आपूर्ति 19 अप्रैल को तब से शुरू की जब मुंबई से खाली टैंकर विजयवाड़ा 126 टन एलएमओ भरने के लिए पहुंचाया गया.

रेलवे ने एक बयान में कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में भारतीय रेलवे अपनी सेवा दे रहा है. वह पश्चिम में हापा और मुंद्रा से और पूर्व में राउरकेला, दुर्गापुर, टाटानगर, अंगुल से ऑक्सीजन लेकर उत्तरखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु,हरियाणा, तेलंगाना, पंजाब, केरल, दिल्ली और उत्तर प्रदेश जटिल परिचालन मार्ग योजना के साथ पहुंचा रहा है. बयान में बताया गया कि इन अहम रेलगाड़ियों की औसत गति 55 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक है.

रेलवे ने बताया कि उच्च प्राथमिकता वाले हरित गलियारा पर चलाने के लिए विभिन्न जोन की परिचालन टीम दिनरात सबसे अधिक चुनौतिपूर्ण परिस्थितियों में काम कर रही है ताकि यथाशीघ्र और समय सीमा में ऑक्सीजन को पहुंचाया जा सके. चालक दल को बदलने के लिए तकनीकी ठहराव को घटाकर एक मिनट कर दिया गया है. रेलवे ने बताया कि आंध्र प्रदेश और केरल के लिए पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस रास्ते में है जिनमें इन राज्यों के लिए क्रमश: 40 टन और 118 टन ऑक्सीजन है.

बयान के मुताबिक तमिलनाडु के लिए पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस 80 टन ऑक्सीजन लेकर शुक्रवार सुबह पहुंची और दूसरी रेलगाड़ी रास्ते में है. रेलवे ने बताया कि अब तक 130 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने अपनी यात्रा पूरी कर ली है और विभिन्न राज्यों को राहत पहुंचाई है. बयान के मुताबिक शुक्रवार तक महाराष्ट्र को 462 टन, उत्तर प्रदेश को करीब 2210 टन, मध्यप्रदेश को 408 टन, हरियाणा को 1,228 टन, तेलगाना को 308 टन, राजस्थान को 72 टन, कर्नाटक को 120 टन, उत्तराखंड को 80 टन, तमिलनाडु को 80 टन और दिल्ली को 2,934 टन से अधिक ऑक्सीजन पहुंचाई जा चुकी है. (भाषा) 

और पढ़ें