Rajasthan ACB HatTrick: रिश्वत लेते धरे गए कर्मचारी, पटवारी और कान्स्टेबल, जानिए पूरी खबर...

Rajasthan ACB HatTrick: रिश्वत लेते धरे गए कर्मचारी, पटवारी और कान्स्टेबल, जानिए पूरी खबर...

Rajasthan ACB HatTrick:  रिश्वत लेते धरे गए कर्मचारी, पटवारी और  कान्स्टेबल, जानिए पूरी खबर...

जयपुर: राजस्थान में सोमवार को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने तीन जिलों में सुपर ट्रैप किया हैं. आपको बता दें कि एसीबी ने प्रदेश की राजधानी जयपुर, उदयपुर और बांसवाड़ा में कर्मचारी, पटवारी और कॉन्स्टेबल को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया हैं. इन सभी आरोपियों को एसीबी ने गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही हैं. 

1. जयपुर में 4 घूसखोरों को एसीबी ने किया ट्रेप
चलिए आपको बताते है कि राजधानी जयपुर के ग्रेटर नगर निगम और हैरिटेज नगर निगम में कार्रवाई की हैं. एसीबी ने रिश्वत लेते 4 घूसखोरों को गिरफ्तार किया हैं. जानकारी के मुताबिक 3 आरोपी जयपुर ग्रेटर नगर निगम के हैं, जबकि एक आरोपी हैरिटेज निगम का भी बताया जा रहा है. 4500 रुपए की रिश्वत लेते कर्मचारियों को ट्रैप किया गया है. एसीबी ने  ग्रेटर नगर निगम के पशु प्रबंधन शाखा में यह कार्रवाई की हैं. पशु प्रबंधन शाखा के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को ACB ने ट्रैप किया. ACB के अधिकारी ने मौके से रिश्वत की राशि भी बरामद की हैं. फिलहाल निगम मुख्यालय में ACB के अधिकारी रिश्वतखोर कर्मचारी से पूछताछ कर रहे हैं. एसीबी एएसपी बजरंग सिंह ने कार्रवाई को अंजाम  दिया. जानकारी के अनुसार एसीबी ने पशुधन सहायक जितेंद्र को ट्रेप किया है. साथ ही तीन घूसखोर भी एसीबी के हत्थे चढ़े. चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी राजकुमार, हैरिटेज नगर निगम का एलडीसी अनिल को भी ट्रैप किया गया. साथ ही एसीबी ने ठेकेदार कलिल को भी गिरफ्तार किया है. एसीबी ने आरोपियों से 4500 की रिश्वत और एक शराब की बोतल भी बरामद की गई.एसीबी की टीम पिछले एक माह से लगी हुई थी. आज सुबह 11 बजे ही नगर निगम एसीबी की टीम पहुंच गई थी. मीट की दुकान का लाइसेंस, बकरे काटने की रसीद को लेकर रिश्वत  मांगी थी. एसीबी एएसपी बजरंग सिंह शेखावत ने कार्रवाई को अंजाम दिया.

2. उदयपुर में पटवारी को रिश्वत लेते दबोचा:
अब बात करते है उदयपुर एसीबी ट्रैप की, ACB टीम ने गिर्वा तहसील के सीसारमा पटवार मंडल के पटवारी सौरभ गर्ग को 75 हजार रुपए  की रिश्वत राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. दरअसल आरोपी पटवारी ने एक परिवादी की सीसारमा इलाके में उसकी कृषि भूमि पर निर्माण कार्य रुकवा दिया था और फिर निर्माण कार्य को शुरू करने की एवज में 3 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी.इसमें से ₹225000 आरोपी पटवारी पूर्व में ही ले चुका था और आज 75 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों ट्रैप हो गया. फिलहाल एसीबी की टीम इस पूरे मामले में अन्य अधिकारियों की मिलीभगत और आरोपी पटवारी  के पुराने ट्रैक रिकॉर्ड को भी खंगाल रही है.

3. बांसवाड़ा में कॉन्स्टेबल ट्रैप:
अब बात हो रही है बांसवाड़ा ट्रैप की, यहां पर एसीबी ने पाटन थाने में कार्रवाई की. एसीबी ने कान्स्टेबल लाल शंकर को रिश्वत लेते दबोचा है. वहीं थानाधिकारी सुभाष परमार मौके से फरार हो गया. एसीबी ने कान्स्टेबल को 5 हज़ार रुपए की रिश्वत लेते ट्रैप किया है. एसीबी एएसपी माधो सिंह सोढा ने कार्रवाई को अंजाम दिया है.

और पढ़ें