Rajasthan ACB Trap: बीकानेर में मेडिकल कॉलेज का चीफ अकाउंटेंट और बाड़मेर में ग्राम पंचायत का LDC गिरफ्तार

Rajasthan ACB Trap: बीकानेर में मेडिकल कॉलेज का चीफ अकाउंटेंट और बाड़मेर में ग्राम पंचायत का LDC गिरफ्तार

Rajasthan ACB Trap: बीकानेर में मेडिकल कॉलेज का चीफ अकाउंटेंट और बाड़मेर में ग्राम पंचायत का LDC गिरफ्तार

जयपुर: राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है. हर रोज प्रदेश में एसीबी घूसखोर अधिकारी और कर्मचारियों को दबोच रही है. ताजा मामला प्रदेश के बीकानेर और बाड़मेर जिले का है, जहां पर एसीबी ने दोनों जगहों पर अलग अलग कार्रवाई करते हुए घूसखोरों को ट्रैप किया है. 

बीकानेर में मेडिकल कॉलेज का चीफ अकाउंटेंट गिरफ्तार:

बीकानेर ACB ने आज एक बार फिर बड़ी कार्रवाई करते हुए स्वास्थ्य विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार को उजागर किया. बीकानेर मेडिकल कॉलेज के मुख्य लेखा अधिकारी के के गोयल को 50 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया. गोयल एक ऑक्सीजन सिलेण्डर की सप्लाई करने वाली फर्म से 50 हजार की रिश्वत मांग रहा था. आज Adsp रजनीश पूनिया की अगुवाई वाली टीम ने इसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. साथ ही घर पर ACB टीम सर्च कर रही है. 


 

बाड़मेर में ग्राम पंचायत का LDC ट्रैप:

बाड़मेर में ACB ने बड़ी कार्रवाई करते हुए घूसखोर कनिष्ठ लिपिक को गिरफ्तार किया हैं. जोधपुर एसीबी उमहानिरीक्षक विष्णुकांत के निर्देशन में बाड़मेर ACB अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामनिवास सुंडा ने ट्रेप की कार्रवाई करते हुए चौहटन पंचायत समिति की डेलूओ का तला ग्राम पंचायत के कनिष्ठ सहायक को 2500 रुपये की घुस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. ACB ASP रामनिवास सुंडा ने बताया कि परिवादी पदमाराम पुत्र कालूराम भील ने परिवाद पेश कर बताया कि ग्राम पंचायत के LDC जगदीशनाथ उसके व उनके भतीजे के टांके की मनरेगा मजदूरी चढ़ाने की एवज में रिश्वत मांग रहा है. जिस पर सत्यापन करवाने के बाद मंगलवार को ट्रेप का आयोजन कर रिश्वतखोर कनिष्ठ सहायक जगदीश को 2500 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया. आरोपी से पूछताश जारी. ट्रेप के दौरान कानिस्टेबल चम्पालाल, मिश्रीमल, सुरान खान, बांकाराम, अनूपसिंह, सहदेव सिंह व स्वतंत्र गवाह लोकेश परिहार व युसुबखां, रघुवीरसिंह साथ रहे.  गौरतलब हैं कि राजस्थान में सोमवार को ACB ने तीन जिलों में सुपर ट्रैप किया था. आपको बता दें कि एसीबी ने प्रदेश की राजधानी जयपुर, उदयपुर और बांसवाड़ा में 4 कर्मचारी, पटवारी और कॉन्स्टेबल को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था. 

और पढ़ें